कोरोना से कांपा यूपी, 2 लोगों की मौत से मचा हड़कंप

कोरोना वायरस के संक्रमण से उत्तर प्रदेश में मौत का सिलसिला शुरू हो गया है. उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से निपटने के लिए योगी सरकार के शानदार प्रयासों के बीच 2 लोगों की मौत हो गई है.

कोरोना से कांपा यूपी, 2 लोगों की मौत से मचा हड़कंप

लखनऊ: कोरोना वायरस के कहर से अब उत्तर प्रदेश भी कांप रहा है. आज ही 2 मौत होने से पूरे राज्य में हड़कंप मचा हुआ है. देश की सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से बुधवार को दो लोगों की मौत हो गई. बस्ती निवासी युवक ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में दम तोड़ा तो मेरठ में बुजुर्ग ने अंतिम सांस ली.

उत्तरप्रदेश में 105 लोग कोरोना से संक्रमित

उत्तर प्रदेश में अभी भी 105 लोग कोरोना वायरस पॉजिटिव हैं और करीब चार सौ लोग संदिग्ध हैं. इस जानलेवा वायरस के गहराते संक्रमण ने आज दो लोगों को अपना शिकार बना लिया. बस्ती निवासी 25 वर्षीय युवक ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में दम तोड़ दिया.

किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी से आज ही इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. इतनी कम उम्र में कोरोना की वजह से मौत का यह देश में पहला मामला है. इससे पहले बिहार में एक 38 साल के व्यक्ति की कोरोना ने जान ली थी.

कोरोना से संक्रमित 72 वर्षीय बुजुर्ग की मौत

मेरठ मेडिकल कालेज में भर्ती  72 वर्षीय कोरोना वायरस संक्रमित बुजुर्ग की मौत हो गई. जिस संक्रमित  की मौत हुई है वह महाराष्ट्र के अमरावती से आए कोरोना संक्रमित युवक के ससुर थे. ससुराल आए इस युवक की 27 मार्च को रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी इसके अगले ही दिन उनकी पत्नी तथा पत्नी के दो भाई भी पॉजिटिव हो गए.

इसके बाद ससुर भी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए. सभी को मेरठ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. जहां पर आज 73 वर्षीय बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया.

29 मार्च को ही एडमिट हुआ था 72 वर्षीय बुजुर्ग

मेरठ मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल प्रोफेसर आर सी गुप्ता ने बताया कि मृतक मेरठ के पहले संक्रमित के ससुर थे. मृतक की उम्र 72 साल थी. वह 29 मार्च को एडमिट हुए थे. उसके बाद से उन्हें ऑक्सीजन पर रखा गया था. मंगलवार देर रात उनकी तबियत बिगड़ने लगी, जिसकी सूचना डॉक्टरों ने दी. उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया. प्रो गुप्ता ने बताया कि इस मरीज के साथ कुछ रिस्क फैक्टर भी था. उन्हें शुगर भी था और उम्र भी ज्यादा थी.

इलाज करने वाले डॉक्टरों को भी किया गया क्वारंटाइन

युवक को रविवार को बीआरडी मेडिकल कॉलेज में एडमिट करवाया गया था. पहले उसे कोरोना वार्ड में नहीं रखा गया था. लक्षण दिखने पर उसे कोरोना वार्ड में शिफ्ट किया गया था. जिन 12 डॉक्टरों ने उसका इलाज किया था उन्हें भी क्वारंटाइन किया गया है.