यूपी के गांव गांव में पैर पसार रहा कोरोना, डरावनी तस्वीर पेश करते हैं आंकड़े

पंचायत चुनाव के बाद संक्रमण का असर गांवों तक पहुंच गया है और महामारी से मौतें भी हो रही है. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 7, 2021, 10:26 PM IST
  • राज्य में 24 घंटे में 372 लोगों की मौत
  • मुजफ्फरनगर के ग्रामीण इलाकों में डरावने हालात
यूपी के गांव गांव में पैर पसार रहा कोरोना, डरावनी तस्वीर पेश करते हैं आंकड़े

लखनऊ: देश भर में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ रहा है. अब तो सरकार ने इससे भी हाहाकारी तीसरी लहर की भविष्यवाणी कर दी है. उत्तरप्रदेश के गांवों में भी कोरोना पैर पसार चुका है. अगर लोग नहीं संभले तो हालात बहुत भयावह हो सकते हैं.

पंचायत चुनाव के बाद हालत हुई खराब

पंचायत चुनाव के बाद संक्रमण का असर गांवों तक पहुंच गया है और महामारी से मौतें भी हो रही है. लोग दूसरे दूसरे राज्यों से यात्रा करके वोट डालने आये हैं जिससे उनके संपर्क में और लोग भी आये. राज्य के सीतापुर जिले में केवल एक ही गांव में 40 से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव गए. 

 

यहां पर ज्यादातर मामले तेज बुखार के सामने आ रहे हैं. इसके अलावा कुछ क्षेत्रों में सांस लेने में भी लोगों को परेशानियां हो रही हैं. ज्यादातर ग्रामीण इलाकों में मरीजों का अभी तक टेस्ट नहीं हो पाया है.  टेस्ट के बाद सही हालत का पता चल सकेगा.

पश्चिमी यूपी बेकाबू हुआ कोरोना

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों में पिछले दो-तीन दिनों में नए संक्रमित रोगी अधिक मिल रहे हैं. इनकी तुलना में अस्पतालों से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या कम है. मेरठ में गुरुवार को 1167 रोगी मिले जबकि 750 ही डिस्चार्ज हुए. गौतमबुद्ध नगर में 1227 नए रोगी मिले जबकि 1027 डिस्चार्ज हुए.

 गाजियाबाद में 953 नए मरीजों की तुलना में 715 ही डिस्चार्ज हुए. मुरादाबाद में 1303 नए रोगी मिले जबकि 907 ही डिस्चार्ज हुए. मुजफ्फरनगर में 704 नए मरीज मिले और 356 ही डिस्चार्ज हुए. इसी प्रकार सहारनपुर में 687 की तुलना में 611 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी मिली. इस कारण इन जिलों में कुल संक्रमित रोगियों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ रही है. गुरुवार को मुजफ्फरनगर में 21, गाजियाबाद में 15, मेरठ में 12, व गौतमबुद्धनगर में 13 मरीजों की मौत हो गई.

मुजफ्फरनगर के ग्रामीण इलाकों में डरावने हालात

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में इन इलाकों के अलावा मुजफ्फरनगर के हालात कुछ ज्यादा ही खराब नजर आ रहे है. पिछली लहर में जहां केसों की संख्या सीमित थी. वहीं इस बार संक्रमण का फैलाव तहसीलों और ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से हुआ है.

ये भी पढ़ें- विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए भारतीय टीम का ऐलान, जानिये किसे मिली जगह

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार 6 मई को तहसील बुढ़ाना में 63, मोराना, 94, मुजफ्फरनगर ग्रामीण में 175, अर्बन में 264, खतौली में 59, जानसठ 57 मामले आए और जिसमें 21 मौते हुई है.

योगी सरकार की ओर हर गांवों को एंटीजन के माध्यम से टेस्ट कराने की बात कही गयी है. शायद उसी में कुछ मरीजों की संख्या के आंकड़े सामने आ सके.

राज्य में 24 घंटे में 372 लोगों की मौत

उत्तरप्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना की रफ्तार फिर तेज हक गयी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक शुक्रवार को पूरे राज्य में 28076 नये कोरोना मरीजों का पता चला है जबकि 33 हजार 117 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हुए हैं. मरने वालों की संख्या 372 है और एक्टिव केस अब 2 लाख 54 हजार 118 हो गए हैं.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़