Cyclone Gulab: ओडिशा और आंध्र में तूफान का कहर, तेज किया गया राहत अभियान

आधिकारिक बयान के मुताबिक विशाखापत्तनम में नौसेना की पूर्वी कमान और ओडिशा में नौसेना के प्रभारी अधिकारी तूफान के प्रभावों का सामना करने की तैयारियां की हैं. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Sep 26, 2021, 07:14 PM IST
  • नौसेना ने शुरू किया बचाव अभियान
  • ओडिशा और आंध्र में तूफान का कहर
Cyclone Gulab: ओडिशा और आंध्र में तूफान का कहर, तेज किया गया राहत अभियान

नई दिल्ली: चक्रवाती तूफान गुलाब तेज गति से ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तट की ओर बढ़ रहा है और अब लैंडफॉल भी शुरू हो गया. रेलवे से लेकर सेना तक से अलर्ट जारी कर दिया है और इससे निपटने के लिये तैयारियां तेज कर दी हैं.

भारतीय नौसेना ने रविवार को कहा कि वह चक्रवाती तूफान गुलाब से उत्पन्न स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए हैं और उसके पोतों और विमानों को बचाव एवं राहत कार्य के लिए तैयार रखा गया है.

भारत के मौसम विभाग (आईएमडी) ने बताया कि गुलाब तूफान के रविवार की मध्य रात्रि ओडिशा के गंजम जिले के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश के कलिंगपट्नम तट के बीच से गुजरने की संभावना है. तूफान गुलाब से पश्चिम बंगाल का तटीय इलाका भी प्रभावित होगा और 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी. 

नौसेना ने शुरू की बचाव अभियान की तैयारी

यहां जारी आधिकारिक बयान के मुताबिक विशाखापत्तनम में नौसेना का पूर्वी कमान और ओडिशा में नौसेना के प्रभारी अधिकारी तूफान के प्रभावों का सामना करने की तैयारियां की हैं. बयान में कहा गया कि नौसेना जरूरत पड़ने पर मदद के लिए लगातार राज्य प्रशासन के संपर्क में है और तूफान की गति पर करीब से नजर रखे हुए है.

उन्होंने बताया कि तैयारियों के तहत बाढ़ सहायता टीम और गोताखोरों की टीम ओडिशा में तैनात है और विशाखापत्तनम में तत्काल मदद के लिए टीम तैयार है.
बयान के मुताबिक नौसेना के दो पोत समुद्र में मानवीय सहायता और आपदा राहत सामग्री के साथ-साथ चिकित्सा दलों के साथ तैनात हैं जो सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में मदद पहुचांएगे. 

रविवार रात ओडिशा से टकरा सकता है तूफान

इसके साथ ही विशाखापत्तनम में नौसेना के हवाई ठिकाने आईएनएस देगा और चेन्नई के नजदीक आईएनएस रंजली पर विमान सबसे अधिक प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने, घायलों को बचाने और राहत सामग्री गिराने के लिए तैयार रखे गए हैं.

इस बीच, पूर्व तटीय रेलवे ने गुलाब तूफान के चलते 34 जोड़ी रेलगाड़ियों को रद्द कर दिया है. इसके साथ ही पूर्व तटीय रेलवे ने 13 रेलगाड़ियों का समय पुनर्निधारित किया है जबकि 17 रेलगाड़ियों का रास्ता बदला गया है.

बचाव कार्य के लिए नौसेना के पोत और विमान तैयार

रेलवे ने बताया कि चक्रवाती हवाओं के साथ भारी बारिश होने के पूर्वानुमान के चलते सभी एहतियाती उपाय पूर्व तटीय रेलवे द्वारा किए गए हैं. रेलवे इसके साथ ही संभावित प्रभावित क्षेत्रों में गहन गश्त भी कर रहा है.

ये भी पढ़ें- Yogi Cabinet Expansion: योगी मंत्रिमंडल में 7 नए मंत्री शामिल, इन नेताओं ने की शपथ ग्रहण

रेलवे ने बताया कि पुलों पर नजर रखी जा रही है और बिजली और सिग्लन परिचालन को प्रभावित होने से बचाने के लिए उचित कदम उठाए जा रहे हैं.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़