दिल्ली की हवा में घुल गया है जानलेवा जहर

स्मॉग की मोटी परत से दिल्ली-NCR बेहाल हो गई है. दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स 349 के खराब स्तर पर पहुंचा. नोएडा और गुरुग्राम में भी प्रदूषण का स्तर बेहत खऱाब..

दिल्ली की हवा में घुल गया है जानलेवा जहर

नई दिल्ली: दिल्ली में विजयादशमी के मौके पर जलाए गए पटाखों ने हवा का स्तर खराब स्थिति में पहुंचा दिया है. दिल्ली की हालत ऐसी हो गई है कि लोगों को सांस लेना मुश्किल हो गया है दिल्ली में वायु प्रदूषण का स्तर 300 के पार चला गया है. दिल्ली की हवा की गुणवत्ता का स्तर दोगुना हो गया है. मतलब सोमवार की सुबह दिल्ली की हवा 'गंभीर' श्रेणी में पहुंच गई.

राजधानी में प्रदूषण का दमघोंटू रूप

इस सीजन में पहली बार दिल्ली की हवा इतनी जहरीली हो गई है. वहीं नोएडा में दिल्ली से भी बदतर हालात है. नोएडा मे AQI 381 दर्ज किया गया, जबकि गुरुग्राम की हवा दिल्ली के मुकाबले बेहतर है. गुरुग्राम में एयर क्वालिटी इंडेक्स 283 मापा गया.

विजयादशमी के बाद दिल्ली धुंध की चादर में लिपटा हुआ है. राजधानी दिल्ली की हवा में जहर घुला हुआ है. खुली हवा में अब लोगों का दम घुटने लगा है. सुबह-सुबह अच्छी और ताजा हवा नहीं, बल्कि जहरीली हवा लेने पर लोग मजबूर हैं. लगातार दिल्ली की आबोहवा बिगड़ती जा रही है. दिल्ली के आसमान में सुबह धुंध की सफेद चादर छाई हुई है. दिल्ली की  वायु प्रदूषण का स्तर सुबह ही 'खतरनाक' स्थिति में जा पहुंचा है. दिल्ली में AQI 349 दर्ज किया गया.

प्रदूषण ने दिल्ली को जीने लायक नहीं छोड़ा!

कहने को तो दिल्ली देश की राजधानी है, प्रदूषण ने दिल्ली को जीने लायक नहीं छोड़ा है. हालात ये है कि सांस लेने में लोगों को परेशानी हो रही है और लोग दिल्ली में जहर का घुंट पीने को मजबूर है. सर्दियों की शुरुआत होते ही दिल्ली की हवा में जानलेवा जहर घुलता जा रहा है दिल्ली के कई इलाकों में वायु प्रदूषण का स्तर 400 के पार चला गया है. दिल्ली में आनंद विहार के हाल सबसे खराब हैं, सर्दी बढ़ने और पराली जलाने की वजह से दिल्ली और उसके आसपास की हवा में घुला 'ज़हर' दिनों दिन बढ़ता जा रहा है.

जहरीली हवा से फेफड़े देने लगेंगे जवाब!

सोमवार सुबह दिल्ली और उसके आसपास के ज्यादातर इलाकों में घुंघ स्मॉग छाया रहा. दिल्ली के कुछ इलाकों में तो प्रदूषण का स्तर 'गंभीर' श्रेणी में पहुंच गया है. सुबह आनंद विहार में प्रदूषण का स्तर 405 AQI दर्ज किया गया. जो प्रदूषण स्तर के हिसाब सीवियर कैटेगरी में आता है. वहीं रोहिणी में एयर क्वालिटी इंडेक्स 363 मापा गया है, जबकि विवेक विहार में AQI 397 दर्ज किया गया. दिल्ली यूनिवर्सिटी में भी हालात खराब है, दिल्ली यूनिवर्सिटी में AQI 366 मापा गया.

दिल्ली के अलावा नोएडा भी प्रदूषण से अछूता नहीं है. नोएडा हालात ऐसी है कि सांस लेना मुश्किल हो गया है. हालांकि गुरुग्राम की हवा दिल्ली और नोएडा के मुकाबले बेहतर है.

"2019 में वायु प्रदूषण ने भारत के 1 लाख 16 हजार नवजात बच्चों को मार डाला"

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप, जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें-

Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=en_IN

iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234