close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जुर्म की दुनिया पर कहर बनकर टूटेगी हाईटेक दिल्ली पुलिस

जुर्म की दुनिया के हर एक छोटे से बड़े नुमाइंदों पर दिल्ली पुलिस कहर बनकर टूटने वाली है. अपराधियों को कभी भी, कहीं से भी दबोचने के लिए दिल्ली पुलिस अपने नए मुख्यालय में न्यूयॉर्क पुलिस की इमारत की छत पर एक हेलीपैड बनाया जाएगा.

जुर्म की दुनिया पर कहर बनकर टूटेगी हाईटेक दिल्ली पुलिस

नई दिल्ली: अब दिल्ली पुलिस की क्षमता अमेरिकन पुलिस फोर्स जैसी होगी. 17 फ्लोर वाली दिल्ली पुलिस की नई डिजिटल इमारत मॉर्डन कंट्रोल रूम और एडवांस सर्वर रूम से लैस है. इसके साथ ही दिल्ली पुलिस का नया हेडक्वार्टर लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से तैयार की गई है. दिल्ली में अपराध का ग्राफ छोटा करने में अपने अंदाज में खास भूमिका निभाने जा रही है.

अब अपराधी से पहले पहुंचेगी पुलिस

अब पुलिसवालों के हाथ को तकनीक की बदौलत लंबे किए जाने का समय आ गया है. अब अपराधी से पहले पुलिस के पहुंचने का नया दौर शुरू होने वाला है. और अगर अपराध हो भी गया तो अंतरिक्ष से या फिर पाताल से अपराधी को पुलिस फोर्स जरूर पकड़ लाएगी. ऐसी ही अद्भुत ताकत से खुद को लैस करने के लिए सबसे पहले दिल्ली पुलिस ने कदम बढ़ा दिया है.

दिल्ली पुलिस का अब नया पता जय सिंह मार्ग पर होगा. नए हेडक्वार्टर की पहली मंजिल पर एक स्पेशल कमीशनर और ज्यादातर ज्वायंट लेवल के ऑफिसर्स बैठेंगे. दूसरी मंजिल पर पुलिस कमीशनर का दफ़्तर होगा. तीसरी मंजिल पर ट्रैफिक पुलिस के ऑफिसर्स बैठेंगे. चौथी मंजिल पर पुलिस कंट्रोल रूम, सी4 आई और डाटा सेंटर होगा.

इमारत की छत पर हेलीपैड

एक ही इमारत में सारी व्यवस्थाओं और ऑफिसर्स को लाने के पीछे दिल्ली पुलिस का लक्ष्य है कि दिल्ली की सुरक्षा को और भी हाईटेक बनाया जाए. कमांड और कंट्रोल एक जगह होने से दिल्ली पुलिस को जाहिर तौर पर अपने लक्ष्य में कामयाबी मिलेगी. दिल्ली पुलिस ने प्लानिंग की है कि इस इमारत की छत पर एक हेलीपैड बनाया जाएगा. जहां भविष्य में दिल्ली पुलिस के हेलीकॉप्टर उड़ान भरेंगे और उतर सकेंगे. दिल्ली पुलिस हेलीकॉप्टर से लैस होगी तो ट्रैफिक जाम को मात देते हुए पुलिस के कमांडो झट से क्राइम सीन तक पहुंच सकेंगे. और जब ऊपर से गोलियां बरसेंगी तो अपराधी जमीन पर लेट जाएंगे. जाहिर है, दिल्ली पुलिस वो तकनीक और ताकत हासिल करने की राह पर है. जैसी ताकत के दम पर विदेशों में पुलिस फोर्स अपराधियों के दांत आए दिन खट्टे करती हैं.

चमत्कार करने की राह पर दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस को पहली दफा अपनी बिल्डिंग नसीब हुई है और अभी हेलीकॉप्टर खरीदने और हेलीपैड बनाने के लिए प्लानिंग ही चल रही है. लेकिन सालों से अमेरिकी शहर न्यूयॉर्क की पुलिस फोर्स अपने हेलीकॉप्टरों से चमत्कार करती आ रही है. न्यूयॉर्क पुलिस डिपार्टमेंट के पास अपराधियों को पकड़ने के लिए, आग बुझाने के लिए, इमरेंजसी में घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए, अलग अलग हेलीकॉप्टर्स हैं. यानी जमीन पर गुनाह को अंजाम देने वाले हर गुनहगार पर न्यूयॉर्क पुलिस की पैनी नजर होती है.

एनवाईपीडी का इतिहास

अमेरिका की सबसे बेहतरीन और हाइली ट्रेंड पुलिस फोर्स एनवाईपीडी का वजूद 1845 से ही बना हुआ है. इस पुलिस फोर्स की मुख्य जिम्मेदारी है न्यूयॉर्क में कानून का राज कायम रखना. इस बेहद ही उच्च प्रशिक्षित पुलिस फोर्स पर न्यूयॉर्क में रहने वाले लाखों अमेरिकियों और विदेशियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी है. माना जाता है कि एनवाईपीडी की क्षमता की वजह से ही न्यूयार्क में अपराध का ग्राफ कभी बढ़ नहीं पाया. एनवाईपीडी की सबसे बड़ी खासियत है पुलिस अधिकारियों के लिए खास ट्रेनिंग डिवीजन बनाया गया है. जिनमें रिक्रूट ट्रेनिंग, फिजीकल और टैक्टिकल ट्रेनिंग, कंप्यूटर ट्रेनिंग, डिजिटल फॉरेन्सिक, सिविलियन ट्रेनिंग, क्रिमिनल इंवेस्टीगेशन यानी पुलिसिंग के हर मॉर्डन आयाम को शामिल किया गया है. एनवाईपीडी के हर नए पुलिसकर्मी को इमर्जेंसी सर्विसेज यूनिट्स, के9, हार्बर पैट्रोल, बम स्क्वॉयड के बारे में भी ट्रेनिंग दी जाती है और ये सुनिश्चित किया जाता है कि पुलिस फोर्स के हर जवान और हर अधिकारी को इनमें विशेषज्ञता हासिल हो. यही वजह है कि न्यूयॉर्क की गलियां और बाजार महफूज रहते हैं. और क्राइम करने के बाद अपराधी फरार नहीं हो पाते हैं. 

दशकों के इंतजार के बाद दिल्ली पुलिस को आखिरकार अपना मुख्यालय मिल ही गया. इस मुख्यालय में दिल्ली पुलिस नई और सबसे आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करके पूरे सिस्टम को अपग्रेड करने के प्लान पर काम कर रही है. अब वो दिन दूर नहीं है जब दिल्ली पुलिस विदेशों की पुलिस फोर्सेज की तरह हाईटेक हो जाएगी. और अपराधियों के भीतर खौफ इस कदर फैल जाएगा कि वह क्राइम करने से पहले हजार दफा उसके परिणाम को सोचने पर मजबूर हो जाएंगे.