डीएसपी देवेंद्र का आतंकी नवेद से पहले का था कनेक्शन

ये पहला अवसर नहीं है कि जब इस डीएसपी ने आतंकियों से मिली-भगत रखी, देवेंद्र पहले से आतंकी नवीद के लिए मददगार बना हुआ था   

डीएसपी देवेंद्र का आतंकी नवेद से पहले का था कनेक्शन

नई दिल्ली. हिज़्बुल आतंकी नवीद बाबू से जम्मू डीएसपी के गिरफ्तार डीएसपी देवेन्द्र सिंह से पुराने कनेक्शन का खुलासा हुआ है. डीएसपी देवेंद्र का नवीद के साथ पैसों का लेन-देन पहले से चल रहा है. जांच दल ने इस मामले में और भी कई खुलासे किये हैं.

नवीद का भाई पढ़ रहा था चंडीगढ़ में 

जांच दल की पूछताछ में जम्मू-कश्मीर के डीएसपी  देवेंद्र के आतंकी नवीद बाबू के साथ पुराना कनेक्शन सामने आया है. नवीद का छोटा भाई चंडीगढ़ में पढ़ाई कर रहा था और उसके माता-पिता दिल्ली में रहा करते थे. नवीद अपने माता-पिता से मिलने की कोशिश में था पर दिल्ली में पकडे जाने के डर से वह दिल्ली आने की हिम्मत नहीं जुटा सका. 

जम्मू आये थे आतंकी नवीद के घरवाले 

दोनों गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ में कई जानकारियां सामने आई हैं. अभियुक्त देवेंद्र सिंह और आतंकी नवीद बाबू ने जांच दल को बताया कि नवीद का पूरा परिवार बिखरा हुआ था. उसका भाई जहां चंडीगढ़ में पढ़ाई कर रहा था वहीं उसके मातापिता दिल्ली में रहा करते थे और नवीद खुद जम्मू में संदिग्ध आतंकी गतिविधियों में संलग्न था. वह अपने माता-पिता से मिलने दिल्ली नहीं जा पा रहा था इसलिए उसने उनको जम्मू ही बुला लिया. बीते साल उसके माता-पिता जब जम्मू उससे मिलने आये तब इस दौरान डीएसपी देवेंद्र सिंह ने उसकी हर-सम्भव मदद की थी. 

कर रहा था हथियारों की सप्लाई 

जांच दल के द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार आतंकी नवीद ने कश्मीरी आतंकवादियों के पैसे के स्रोतों से संबंधित कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी हैं. नवीद के अनुसार आतंकियों की फंडिंग ह पैसा स्थानीय स्तर पर चलती थी. आतंकी गतिविधियों के लिए स्थानीय लोगों से पैसा इकट्ठा किया जाता यही. नवीद ने जांच दल को अपने हथियार सप्लायर और कोरियर के नाम पते भी बताये हैं. 

जम्मू, पंजाब और चंडीगढ़ थे निशाना 

गिरफ्तार डीएसपी देवेंद्र सिंह और नवीद बाबू से मिली जानकारी से साफ़ हो गया कि दरअसल ये लोग दिल्ली में धमाका करने की साजिश तो कर ही रहे थे लेकिन इनके निशाने पर चंडीगढ़, पंजाब और जम्मू शहर भी थे. 

कई राज्यों में धमाके की साजिश

जांच में चौंकाने वाला खुलासा सामने आया. अगर इन दोनों अभियुक्तों - देवेंद्र सिंह और नवीद बाबू की गिरफ्तारी समय पर नहीं हो पाती तो ये लोग बड़ी आतंकी योजनाओं को अंजाम देने वाले थे. इनकी धमाकों वाली सूची में दिल्ली, पंजाब, जम्मू के अतिरिक्त और भी कई राज्य शामिल थे. रिपोर्ट के अनुसार  आतंकियों को दिल्ली सहित कई प्रदेशों में धमाके करने का काम दिया गया था. इतने बड़े स्तर पर आतंकी गतिविधियों को कार्यरूप देने के लिए कई और आतंकियों को शामिल किया जाना था. पर उसके पहले ही ये लोग पकड़ में आ गए और पूरी साजिश खुल कर सामने आ गई.

ये भी पढ़ें. आखिर कैसे देवेन्द्र सिंह जैसा देशद्रोही हमेशा से बचता रहा? जानिए यहां