Eartquake: फिर कांपा मेघालय, 3.6 तीव्रता के हल्के झटके लगे

मेघालय (Meghalaya) में शनिवार शाम 8 बजकर 18 मिनट पर 3.8 तीव्रता के भूकंप (Earthquake) के झटके महसूस किए गए. भूकंप का केंद्र नॉर्थ तुरा से 80 किलोमीटर दूर था. भूकंप की तीव्रता काफी कम रही.

Eartquake: फिर कांपा मेघालय, 3.6 तीव्रता के हल्के झटके लगे

शिलांगः कोरोना काल में भूकंप आने का सिलसिला जारी है. देश भर में एक-एक करके हर प्रदेश में भूकंप आ रहे हैं, इससे लोगों में दहशत बनी हुई है. इधर भू वैज्ञानिक आगे किसी बड़े भूकंप की आशंका जता रहा हैं. दिल्ली-एनसीआर के बाद भूकंप से सबसे अधिक प्रभावित पूर्वोत्तर के इलाके रहे हैं. शनिवार को मेघालय में हल्की तीव्रका का भूकंप महसूस किया गया है. 

शनिवार शाम 8 बजे के बाद आया भूकंप
जानकारी के मुताबिक, मेघालय (Meghalaya) में शनिवार शाम 8 बजकर 18 मिनट पर 3.8 तीव्रता के भूकंप (Earthquake) के झटके महसूस किए गए. भूकंप का केंद्र नॉर्थ तुरा से 80 किलोमीटर दूर था. भूकंप की तीव्रता काफी कम रही, इसके कारण किसी भी तरह के जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ है. 

3.6 तीव्रता के लगे झटके
नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (NSS) ने भूकंप की जानकारी दी है. बताया गया कि इससे पहले लद्दाख में कारगिल (Kargil Ladakj) के पास भी 3.6 तीव्रता का भूकंप आया था. एजेंसी ने कहा कि भूकंप का केंद्र भारत के लद्दाख के कारगिल से 413 किलोमीटर उत्तर-उत्तर-पश्चिम था. सतह से 10 किमी की गहराई पर 12:07 बजे शुक्रवार-शनिवार की दरम्यानी रात भूकंप आया. भूकंप महसूस करने के बाद लोग घरों के बाहर आ गए और कुछ देर तक घर के बाहर ही रहे. 

16 सितंबर को नेपाल भी कांपा
इसी तरह 16 सितंबर को नेपाल में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए. यहां मध्यम तीव्रता के झटके महसूस होने से लोग घबरा गए. 

भूकंप की तीव्रता 5.3 मैग्नीट्ड रही. नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (NSS) के मुताबिक भूकंप का केंद्र काठमांडू से 48 किमी पूर्व 10 किमी की गहराई में था. हालांकि यहां भी भूकंप से जान माल की हानि नहीं हुई है. 

यह भी पढ़िएः 34 थर्मल Power Units होंगी बंद, प्रदूषण फैलाने के कारण सरकार ने उठाया सख्त कदम