हैदराबाद से यूपी लौट रहे थे मजदूर, भीषण सड़क हादसे में 5 की मौत

कोरोना के कारण चल रहा लॉकडाउन मजदूरों के लिये जानलेवा साबित हो रहा है. घर जाने की इच्छा में मजदूर कोई भी साधन अपना रहे हैं.

हैदराबाद से यूपी लौट रहे थे मजदूर, भीषण सड़क हादसे में 5 की मौत

लखनऊ: हैदराबाद से उत्तरप्रदेश लौट रहे मजदूर रास्ते में ही सड़क हादसे में जान गवां बैठे. भीषण और दर्दनाक सड़क हादसे में पांच मजदूरों की जान चली गयी और लगभग 11 लोग घायल हो गए. बताया जा रहा है कि मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले की सीमा पर शनिवार देर रात मुंगवानी थाना क्षेत्र के पास आम से भरा एक ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया. सभी मजदूर इसी में यात्रा कर रहे थे.

आम के ट्रक में थे सवार

आपको बता दें कि मजदूर घर जाने को बहुत उत्सुक हैं और इसलिए वे, पैदल अथवा कोई भी साधन करके घर जाने का जुगाड़ कर रहे हैं. आय के स्रोत के बिना इनके पास रुकने का कोई प्रयोजन नहीं है. ऐसे में मजदूर ट्रक, बस ट्रेन आदि से सफर कर रहे हैं. हालांकि ट्रेन से मजदूरों को केंद्र सरकार ही घर भेज रही है लेकिन उसमें भी केवल सीमित लोग ही आ सकते हैं.

ये भी पढ़ें- नायकू के ख़ात्मे से घबराए सलाहुद्दीन का कबूलनामा "भारतीय सेना का पलड़ा बहुत भारी"

सड़क हादसे में दर्दनाक मौत के शिकार हुए बेचारे मजदूर भी एक आम के ट्रक में बैठकर गंतव्यों तक जा रहे थे लेकिन रास्ते में ही उन्हें मौत मिल गयी. पुलिस के मुताबिक आम के ट्रक में सवार 20 मजदूर में 11 मजदूर झांसी के रहने वाले हैं, जबकि 9 एटा के हैं. सभी मजदूर हैदराबाद से अपने घर जाने के लिए निकले थे. घटना की जानकारी लगते ही कलेक्टर दीपक सक्सेना और पुलिस अधीक्षक गुरकरन सिंह सहित पुलिस बल मौके पर पहुंचे. ये हादसा मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले में हुआ.

योगी सरकार घर लाने का कर चुकी है वादा

आपको बता दें कि उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कई बार कहा है कि देश भर में उत्तरप्रदेश के मजदूर जहां कहीं भी फंसे उन्हें सकुशल घर लाने की पूरी योजना सरकार बना रही है. कई राज्यों के मजदूर घर पहुंच चुके हैं. केंद्र सरकार ट्रेन से हजारों मजदूरों को घर तक भेज चुकी है. लेकिन ये सभी आश्वासन माने बिना ही मजदूर पैदल निकल रहे हैं. 

ये भी पढ़ें- 'पानी' पर पाकिस्तान ने झूठ बोला, तो हिन्दुस्तान ने ऐसे 'खोल दी पोल'

स्थानीय सरकारों का सबसे बड़ा दायित्व है कि मजदूर किसी भी राज्य का हो लेकिन उसे संरक्षण स्थानीय सरकारें ही देंगी. इसमें कई सरकारे फैल हो रही हैं जिनमे महाराष्ट्र और तेलंगाना सरकार भी शामिल हैं. महाराष्ट्र सरकार की लापरवाही की वजह से पैदल घर जा रहे मजदूर ट्रेन से कट कर मर गए थे. ऐसी खबरें पूरे देश को हिलाकर रख देती हैं.