बारामुला में पकड़े गए पांच संदिग्ध, धमकी भरे पोस्टर बरामद

 सुरक्षाबलों को बारामुला के सोपोर इलाके में पांच लोगों के आतंकी साजिश में शामिल होने की सूचना मिली थी. खुफिया इनपुट्स के आधार पर मिली जानकारी के बाद सेना ने सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के साथ मिलकर यहां एक सर्च ऑपरेशन चलाया. इन सभी के पास से लश्कर के विवादास्पद पोस्टर और कई संदिग्ध सामान बरामद हुए हैं

बारामुला में पकड़े गए पांच संदिग्ध, धमकी भरे पोस्टर बरामद

श्रीनगरः घाटी में सामान्य हो रहे हालात के बीच में आतंकी साजिश का खुलासा हुआ है. जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने 5 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है. ये पांचों संदिग्ध शनिवार को बारामुला जिले से गिऱफ्तार किए गए हैं. बारामुला में पुलिस, सीआरपीएफ और सेना की संयुक्त टीम ने पांचों संदिग्धों को आतंकी कनेक्शन की जानकारी के बाद गिरफ्तार किया है. इन सभी से सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारी कड़ी पूछताछ कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि गिरफ्तार संदिग्धों में तीन लोग इस इलाके में लश्कर के धमकी भरे पोस्टर लगाकर लोगों के बीच भय पैदा कर रहे थे. 

लश्कर के धमकी भरे पोस्टर भी बरामद
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सुरक्षाबलों को बारामुला के सोपोर इलाके में पांच लोगों के आतंकी साजिश में शामिल होने की सूचना मिली थी. खुफिया इनपुट्स के आधार पर मिली जानकारी के बाद सेना ने सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के साथ मिलकर यहां एक सर्च ऑपरेशन चलाया. इसके बाद अलग-अलग ठिकानों से पांच लोग गिरफ्तार किए गए.  इन सभी के पास से लश्कर के विवादास्पद पोस्टर और कई संदिग्ध सामान बरामद हुए हैं. इसे देखते हुए सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों ने पूछताछ शुरू की है. 

घाटी में जारी है धर-पकड़
सेना व सुरक्षा बल के अधिकारी लगातार आतंकियों गतिविधियों में लिप्त लोगों को गिरफ्तार कर रहे हैं. उनकी मुस्तैदी का आलम है कि बीते 2 नवंबर को भी जम्मू-कश्मीर में सेना ने एक लश्कर आतंकी को गिरफ्तार किया था. सीआरपीएफ और पुलिस के साथ बारामुला के सोपोर से ही लश्कर आतंकी दानिश चन्ना पकड़ा गया था. इसके अलावा भी आतंकी माड्यूल से जुड़े कुछ लोगो पहले भी गिरफ्तार हो चुके हैं. दानिश के पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद किए गए थे. इसके अलावा कुछ लोगों से सेना पोस्टर व बैनर भी बरामद किए थे. 

करतारपुर कॉरिडोर खुलने के समय जताई थी आशंका
पड़ोसी मुल्क से भारत के संबंध में सुधार की कोई गुंजाइश नहीं दिख रही है. पाकिस्तान के करतारपुर मामले में जल्दबाजी दिखाने के दौरान यह आशंका जताई गई थी कि पाकिस्तानी आतंकियों को भारत में घुसपैठ का आसान रास्ता मिल सकता है. दिवाली के आसपास भी कड़े अलर्ट के बीच सेना ने कुछ आतंकियों को गिरफ्तार किया था.

करतारपुर के उद्घाटन के दौरान जारी हुए विडियो में खलिस्तानी आतंकी दिखाए गए थे. इससे भी पाकिस्ताना की नापाक मंशा सामने आ गई थी. आर्टिकल 370 और राम मंदिर मामले के फैसले के बाद घाटी में इस तरह की उथल-पुथल जारी है. आतंकी साजिश कर रहे हैं, जिसे नाकाम किया जा रहा है.

Tags: