जिसे कहते हैं क्रिकेट का 'दादा'! वो सौरव गांगुली बनेंगे BCCI के नए 'बॉस'

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली के नाम पर आम सहमित बनने के बाद उनका बीसीसीआई अध्यक्ष बनना तय हो गया है. वहीं अध्यक्ष पद के लिए प्रबल दावेदार माने जा रहे बृजेश पटेल आईपीएल के नए चेयरमैन होंगे.

जिसे कहते हैं क्रिकेट का 'दादा'! वो सौरव गांगुली बनेंगे BCCI के नए 'बॉस'
सौरभ गांगुली (फाइल फोटो)

मुंबई: पूर्व भारतीय कप्तान और बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन (CAB) के वर्तमान अध्यक्ष सौरव गांगुली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के नए अध्यक्ष होंगे. माना जा रहा था कि पूर्व क्रिकेटर और कर्नाटक क्रिकेट एसोसिएशन के पूर्व सचिव बृजेश पटेल बोर्ड के नए अध्यक्ष होंगे, लेकिन उनके नाम पर सहमति न बनने के बाद सौरव गांगुली का अध्यक्ष बनना लगभग तय हुआ है. मुंबई में 23 अक्टूबर को होने वाले चुनाव में नए अध्यक्ष का नाम तय किया जाएगा. 

जय शाह बनेंगे बीसीसीआी सचिव

वहीं बीसीसीआई की वार्षिक आम सभा (AGM) में गृहमंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह बोर्ड के नए सचिव चुने जाएंगे. वहीं बीसीसीआई के अध्यक्ष रह चुके और वर्तमान में केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर के छोटे भाई अरुण धूमल नए कोषाध्क्ष चुने जाएंगे. रविवार को मुंबई के एक होटल में हुई एक अनौपचारिक बैठक में इन नामों पर आम सहमति बनी.

आज है नामांकन का आखिरी दिन

गांगुली के अलावा बृजेश पटेल और जय शाह भी अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल थे, लेकिन अंत में गांगुली के नाम पर सहमति बनी. इसके अलावा जयेश जॉर्ज और प्रभतेज पटेल को भी बोर्ड में अहम पद दिए जा सकते हैं. 23 अक्टूबर को होने वाले चुनाव के लिए आज नामांकन का आखिरी दिन है. माना जा रहा कि आम सहमति के बाद किसी की ओर से नामांकन किए जाने की कम संभावना है.  

बृजेश पटेल बनेंगे आईपीएल (IPL) चेयरमैन 

वहीं बोर्ड के अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे पूर्व क्रिकेट बृजेश पटेल इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के नए चेयरमैन बन सकते हैं. बृजेश पटेल को तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन का करीबी माना जाता है. पटेल के लिए एन. श्रीनिवासन ने लॉबिंग भी की, लेकिन ब्रजेश के नाम पर आम सहमति न बन पाने के चलते वह अध्यक्ष पद की दौड़ से बाहर हो गए.  

बदलाव के दौर से गुजर रहा बीसीसीआई

बीसीसीआई इस समय बदलाव के दौर से गुजर रहा है. दुनिया की सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड में सालों से सत्ता पर काबिज दिग्गजों को लोढ़ा समिति की सिफारिशों के चलते अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था. यह पहला मौका होगा जब लोधा कमिटी (Lodha Committee) की सिफारिशों के बाद सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई प्रशासकों की समिति (CoA) 33 महीनों के लंबे समय के बाद BCCI की बागड़ोर नए प्रतिनिधियों को देगा. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन, हरियाणा क्रिकेट एसोसिएशन और महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएश ने अपने संविधान में बदलाव नहीं किए हैं. इन तीनों क्रिकेट संघों को 23 अक्टूबर को होने वाली एजीम में आने से सीएओ ने रोक दिया है. 

10 महीने ही रहेंगे अध्यक्ष 

हालांकि सौरव गांगुली का बतौर बीसीसीआई अध्यक्ष पद का कार्यकाल बहुत ज्यादा लंबा नहीं रहेगा. दअसल 47 वर्षीय पूर्व भारतीय कप्तान हाल ही में लगातार दूसरी बार ​निर्विरोध बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष चुने गए थे. सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने की स्थिति में उनका कार्यकाल सिर्फ 10 महीने के करीब का होगा. बीसीसीआई के नए संविधान के मुताबिक, गांगुली का अगले साल सितंबर को 3 साल के कूलिंग ऑफ पीरियड में खत्म हो जाएगा, जिसके तरत उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना होगा. इसके बाद गांगुली अगले तीन वर्षों तक बीसीसीआई के किसी भी पद पर नियुक्त नहीं हो सकेंगे.