गौतम गंभीर ने साधा केजरीवाल पर निशाना, बताया- राजनीतिक गिरगिट

दिल्ली में कोरोना से मचे हाहाकार के लिए विपक्ष अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहा है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 16, 2021, 11:17 PM IST
  • केजरीवाल का राजनीतिक गिरगिट की तरह व्यवहार- गौतम गंभीर
  • केजरीवाल ने ऑक्सीजन पर की थी जमकर राजनीति
गौतम गंभीर ने साधा केजरीवाल पर निशाना, बताया- राजनीतिक गिरगिट

नई दिल्ली: पूर्व क्रिकेटर और भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर करारा वार किया है. ऑक्सीजन की कमी को लेकर लगातार सियासी बयानबाजी कर रहे अरविंद केजरीवाल पर भाजपा के नेता पहले से ही आक्रामक हैं. दिल्ली में कोरोना से मचे हाहाकार के लिए विपक्ष अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहा है.

केजरीवाल का राजनीतिक गिरगिट की तरह व्यवहार- गौतम गंभीर

 

केजरीवाल पर हमला बोलते हुए गौतम गंभीर ने कहा कि जब कोरोना की पहली वेव आई थी तब इन्होंने लॉकडाउन का विरोध किया क्योंकि उस समय सभी निर्णय प्रधानमंत्री मोदी कर रहे थे. उसके बाद दूसरी लहर के समय खुद केजरीवाल ने लॉकडाउन का ऐलान किया और तब वे इसके समर्थन में थे. अरविंद केजरीवाल सच में भारतीय राजनीति के गिरगिट हैं.

केजरीवाल ने ऑक्सीजन पर की थी जमकर राजनीति

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने ऑक्सीजन के मुद्दे पर हाई कोर्ट से लेकर मीडिया तक मे दो तरह की बातें की. उन्होंने कोर्ट में कहा कि केंद्र सरकार उन्हें पर्याप्त ऑक्सिजन नहीं दे रही है लेकिन उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कई बार केंद्र सरकार का धन्यवाद किया था कि दिल्ली को पर्याप्त ऑक्सीजन मिल रही है.

ये भी पढ़ें- मुश्किल में ऑस्ट्रेलियाई टीम, फिक्सिंग मामले पर बेनक्रॉफ्ट के बाद कोच ने भी लगाया सनसनीखेज आरोप

दिल्ली में 24 मई तक लॉकडाउन

राजधानी में लॉकडाउन की अवधि 17 मई को सुबह पांच बजे खत्म हो रही थी. अब 24 मई की सुबह पांच बजे तक लॉकडाउन रहेगा. इसे लेकर सीएम ने कहा कि हमने जो रिकवरी हासिल की है उसे जल्दीबाजी में लोगों के लिए खोलकर नहीं खो सकते है.

दिल्ली में संक्रमण दर 30 प्रतिशत से ज्यादा पर पहुंच गई थी. ऐसे में 19 अप्रैल से मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन की घोषणा की.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़