close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जनरल रावत बोले- पीओके में मारे गए 6 से 10 आतंकवादी

भारतीय सेना ने पाक अधिकृत कश्मीर में जबरदस्त कार्रवाई  कर पाक घुसपैठियों को मुंह तोड़ जवाब दिया है. इस सैन्य अभियान में 6 से 10 आतंकवादी मारे गए हैं व उनके कई ठिकाने ध्वस्त किए गए हैं. सैन्य प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने इस बारे में कहा है कि सीमा पार से घुसपैठ कराने की कोशिश कर रहे पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देंगे.

 जनरल रावत बोले- पीओके में मारे गए 6 से 10 आतंकवादी

नई दिल्लीः पाक अधिकृत कश्मीर में भारतीय सेना की ओर से की गई कार्रवाई में छह से दस आतंकी मारे गए हैं. सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने इस बारे में बयान देकर इसकी पुष्टि की है. उनकी ओर दिए दिए गए बयान में कहा गया है कि सेना की कार्रवाई से आतंकी ठिकानों को भारी नुकसान हुआ है. सेना प्रमुख ने पहली बार किसी सैन्य कार्रवाई पर प्रतिक्रिया दी है.  उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान सीमा पार से घुसपैठ कराने की कोशिशि कर रहा है और हम उसकी हर हिमाकत का जवाब देंगे.

सेना प्रमुख ने कहा, 'जो सूचनाएं हमें मिली है उसके अनुसार पाकिस्तान की सेना और आतंकी कैंपों को बड़ा नुकसान हुआ है. भारतीय जवानों की जवाबी कार्रवाई में 6 से 10 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए हैं. और तकरीबन इतने ही आतंकी भी मारे गए हैं। उन्होंने कहा कि आतंकियों के मारे जाने की कुछ और भी सूचनाएं मिली हैं, जिसकी जानकारी बाद में दी जाएगी. उन्होंने कहा कि यह यकीन के साथ कह सकते हैं कि कम से कम तीन आतंकी ठिकाने तबाह किए गए हैं और चौथे कैंप में भी कुछ नुकसान पहुंचा है.

सेना प्रमुख ने दो टूक कहा कि अगर पाकिस्तान लगातार इस तरह की कार्रवाई करता रहा तो हम जवाबी कार्रवाई करने में नहीं हिचकेंगे. उन्होंने आगे जोड़ा कि जब से आर्टिकल 370 में बदलाव किया गया है, तब से हमें राज्य में शांति बिगाड़ने के लिए जारी हलचलों की खबरें मिल रही थीं. सीमा पार से आतंकवादियों की घुसपैठ के बार-बार इनपुट मिल रहे थे. बीते कुछ महीनों में घुसपैठ के प्रयास की कई घटनाएं सामने आई हैं. हमारे पास पुख्ता सूचना थी कि कुछ आतंकी घुसपैठ की कोशिश में हैं जिसके बाद यह ऐक्शन लिया गया है. दूसरी ओर बॉर्डर पर हुए इस घटनाक्रम को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना प्रमुख बिपिन रावत से बात की है. राजनाथ व्यक्तिगत तौर पर पूरे घटनाक्रम पर नजर बनाए हैं. रक्षा मंत्री ने सेना प्रमुख से लगातार इस मामले पर अपडेट देते रहने को कहा है.