close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नए शिखर पर भारत-जर्मनी संबंध, चांसलर एंजेला मर्केल दिल्ली में

जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल दिल्ली में हैं. वह दो दिनों की यात्रा पर आई हैं. इस दौरान वह पीएम मोदी से मुलाकात करेंगी. दोनों देशों के बीच कई अहम समझौतों पर दस्तखत भी किए जाएंगे. पढ़िए जर्मन प्रधानमंत्री के भारत दौरे से संबंधित कुछ बेहद जरुरी बातें-

नए शिखर पर भारत-जर्मनी संबंध, चांसलर एंजेला मर्केल दिल्ली में
12 मंत्रियों के साथ दिल्ली आईं एंजेला मर्केल

नई दिल्ली: एंजेला मर्केल दो दिनों के लिए दिल्ली में हैं. शुक्रवार सुबह राष्ट्रपति भवन में उनका औपचारिक स्वागत होगा. जिसके बाद राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने जाएंगी. वह गुरुवार की देर रात दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरीं, जहां उनका स्वागत करने के लिए केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह मौजूद थे. 

12 मंत्रियों के साथ पहुंची हैं एंजेला मर्केल
जर्मन चांसलर भारत दौरे पर कई विशेष एजेन्डों के साथ आई हैं. उनके साथ 12 मंत्री भी आए हैं. उनकी इस यात्रा का उद्देश्य आर्टिफिशियल इंटेलिजेन्स, शहरी गतिशीलता, खेती और फुटबॉल में सहयोग में वृद्धि, लगातार विकास जैसे कई अहम मामलों में दोनों देशों के बीच सहयोग और वार्ता को आगे बढ़ाना है. एंजेला मर्केल का यह चौथा भारत दौरा है. दोनों देशों के बीच साल 2001 से खास भागीदारी चली आ रही है. इस बार भारत और जर्मनी के बीच 20 समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाएंगे. 

एंजेला मर्केल अपने साथ व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल को भी लेकर आई हैं, जो कि भारतीय चैंबर ऑफ कॉमर्स के सदस्यों और उद्योगपतियों से मुलाकात करेगा. 

खराब स्वास्थ्य के बावजूद भारत पहुंची हैं एंजेला मर्केल
जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल का स्वास्थ्य बहुत बेहतर नहीं है. लेकिन इसके बावजूद वह भारत यात्रा पर आई हैं. खराब स्वास्थ्य की वजह से ही मर्केल को भारतीय राष्ट्रगान के दौरान खड़े होने से छूट दी गई है. राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को होने वाले भारत और जर्मनी के राष्ट्रगान के दौरान वह बैठी रहेंगी. एंजेला मर्केल ने दिल्ली मेट्रो की सवारी करने की ख्वाहिश जाहिर की है. 

भारत में बेहद व्यस्त रहेंगी मर्केल
भारत में जर्मन चांसलर का बेहद व्यस्त कार्यक्रम है. वह शुक्रवार की सुबह 10.05 बजे मर्केल का ओबरॉय होटल में भारत की महिला नेताओं से मुलाकात करेंगी. जिसके बाद 11.30 बजे एंजेला मर्केल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने पहुंचेंगी. दोनों नेताओं की मुलाकात हैदराबाद हाउस में होगी. यहीं पर दिन के ढाई बजे बिजनेस फोरम के साथ मीटिंग आयोजित की गई है. दोपहर बाद 3.50 बजे मर्केल गांधी स्मृति संस्थान पहुंचेंगी.
 
शाम 4.30 बजे एंजेला मर्केल का राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेंगी. इसके बाद 7 लोककल्याण मार्ग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनकी बैठक होगी. 

इसके बाद अगले दिन यानी 2 नवंबर को होटल ताज में व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल के साथ उनकी बैठक है. शनिवार को 10.05 बजे मर्केल आईएमटी मानेसर, गुरुग्राम में कॉन्टिनेंटल ऑटोमोटिव कंपोनेंट्स इंडिया प्रा. लि. का दौरा करेंगी. जिसके बाद 11.20 बजे चांसलर मर्केल द्वारका सेक्टर 21 मेट्रो स्टेशन का दौरा कर सकती हैं. इस व्यस्त दौरे के बाद शनिवार की दोपहर 12.15 बजे एंजेला मर्केल जर्मनी के लिए रवाना हो जाएंगी.

कश्मीर पर नहीं होगी चर्चा
भारत और जर्मनी के बीच आपसी सहयोग और समझ इस स्तर तक विकसित है कि चांसलर मर्केल भारतीय दौरे के बीच कश्मीर पर कोई चर्चा नहीं होगी. जर्मनी पहले भी कश्मीर को भारत का आंतरिक मुद्दा बताते हुए किसी तरह के हस्तक्षेप की बात से इनकार कर चुका है. अपने इसी स्टैण्ड पर कायम रहते हुए चांसलर मर्केल कश्मीर मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं करेंगी. 

भारत में जर्मनी के राजदूत जे लिंडनर ने चांसलर के दौरे से पहले ही यह स्पष्ट कर दिया था. 

भारत जर्मनी के बीच बढ़ रहा है सहयोग
जर्मनी और भारत के बीच संबंध लगातार विकसित हो रहे हैं. भारतीय पर्यटकों के लिए जर्मनी एक लोकप्रिय टूरिस्ट डेस्टिनेशन के तौर पर उभर रहा है. वर्ष 2021 तक सालाना 10 लाख से ज्यादा भारतीय पर्यटकों के जर्मनी पहुंचने की उम्मीद है. फिलहाल यह आंकड़ा 6.92 लाख का है. इस साल जनवरी से अगस्त के दौरान बीते साल की इसी अवधि के मुकाबले पर्यटकों की तादाद में 4.4 फीसदी वृद्धि दर्ज की गई.

वर्ष 2007 से 2015 के दौरान जर्मनी पहुंचने वाले भारतीय पर्यटकों की तादाद में 84 फीसदी इजाफा हुआ और यह आंकड़ा 6.92 लाख तक पहुंच गया है. जर्मन पर्यटन विभाग का लक्ष्य अब इसे बढ़ा कर दस लाख के पार पहुंचाने का है.