• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 97,581 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,98,706: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 95,527 जबकि अबतक 5,598 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • पीएम ने एमएसएमई को सशक्त बनाने के लिए चैंपियन नामक प्रौद्योगिकी मंच लॉन्च किया
  • कोविड-19 के बीच सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने घरेलू यात्रियों के लिए दिशानिर्देश जारी किए
  • कैबिनेट ने कृषि और संबद्ध गतिविधियों के लिए अल्पावधि ऋण को चुकाए जाने की समय सीमा बढ़ाने को मंजूरी दी
  • कैबिनेट ने संकटग्रस्त MSME के लिए 20,000 करोड़ रुपये के प्रावधान को मंजूरी दी, इससे संकट में फंसे 2 लाख एमएसएमई को मदद मिलेगी
  • कैबिनेट ने एमएसएमई ने परिभाषा के संशोधन को मंजूरी दी, मध्यम उद्यमों के लिए टर्नओवर की सीमा को संशोधित कर 250 करोड़ किया गया
  • ECLGS/MSME से संबंधित प्रश्नों और अन्य उपायों के लिए DFS ने ट्विटर हैंडल @DFSforMSMEs का शुभारंभ किया
  • वन नेशन वन कार्ड योजना में 3 और राज्य शामिल किए गए: खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री
  • डीआरडीओ ने पीपीई और अन्य सामग्रियों के कीटाणुशोधन के लिए अल्ट्रा स्वच्छ विकसित किया

कोरोना संक्रमण पर अच्छी खबर, गुजरात के आदिवासियों तक नहीं पहुंचा वायरस

कोरोना वायरस पर जब पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है तो भारत दूसरे देशों में मदद पहुँचा रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि भारत में कोरोना संक्रमण के फैलाव की गति में कमी आई है जो अच्छा संकेत है.

कोरोना संक्रमण पर अच्छी खबर, गुजरात के आदिवासियों तक नहीं पहुंचा वायरस

गांधीनगर: कोरोना संक्रमण पर गुजरात के गांधीनगर से अच्छी खबर मिली है. बताया जा रहा है कि जब गुजरात में भी कोरोना वायरस से लोग संक्रमित हो रहे हैं तब वहां के आदिवासियों तक इसका संक्रमण नहीं पहुंचा है. अच्छी बात ये है कि इन बस्तियों में लोग सतर्कता से कोरोना से बचने के उपाय कर रहे हैं.

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण पूरे गुजरात को सबसे पहले लॉक डाउन किया गया था.

भीलवाड़ा मॉडल पर काम कर रही गुजरात सरकार

गांधी नगर में भीलवाडा मॉडल का अमल करते हुए कोरोना प्रभावित इलाकों को क्‍लस्‍टर के रूप में कवर कर कोरोना की जांच व टेस्‍ट किया जा रहा है. वहीं गांवों को सैनेटाइज करने को अब ड्रोन की भी मदद ली जा रही है. जिले के शैला व गोकलपुर गांव में विशेष ड्रोन से एरियल स्‍प्रे कर गांवों को सैनेटाइज किया गया. इनके अलावा बोपल, शांतिपुरा, सनाथल व शीलज तहसील के कई गांवों को भी ड्रॉन से सैनेटाइज किया जाएगा.

इन जिलों में स्थिति गंभीर

आपको बता दें कि गुजरात में कोरोना काफी हद तक नियंत्रित है.  अहमदाबाद, गांधीनगर, सूरत, राजकोट, वडोदरा, पोरबंदर, भावनगर, पाटण,मेहसाणा,कच्‍छ, जामनगर, पंचमहाल, गीर सोमनाथ, छोटा उदेपुर, साबरकांठा, आणंद, मोरबी आदि शहरों में क्‍लस्‍टर बनाकर कोरोना की सघन जांच व टेस्टिंग किए जा रहे हैं.

उल्लेखनीय है कि अहमदाबाद में बीते चौबीस घंटे में 55 नए केस सामने आने के बाद गुजरात में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या बढ़कर 241 हो गई जबकि मृतकों का आंकडा 17 हुआ है. अहमदाबाद में सबसे अधिक 133 कोरोना पॉजिटिव हैं. नए 55 केस में करीब 50 केस तब्‍लीगी जमात या उनके संपर्क में आए लोगों के हैं.

केंद्र सरकार ने की पुणे मॉडल की तारीफ, जल्द कोरोना मुक्त होगा भारत ?

पुलिस की सख्ती के चलते लॉक डाउन हुआ सफल

गुजरात में पुलिस ने लॉक डाउन को सफल बनाने के लिए काफी सख्ती बरती. सूरत और अहमदाबाद में बड़ी मात्रा में चालान काटे गए. धारा 144 का उल्लंघन करने वाले 1333 लोगों के वाहन जब्त किए गए.

 उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के दौरान सूरत शहर पुलिस द्वारा कुल 3536 लोगों को हिरासत में लिया गया है. इन लोगों की निगरानी के लिए 154 ड्रोन कैमरे, 8 सीसीटीवी कैमरे, 20 साइबर क्राइम के तहत आरोपियों की धरपकड़ की गई है.

देश ने कोरोना की बाढ़ को थामा, जल्द ही जीतेगा इंडिया