close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

घाटी में आतंकियों ने किया ग्रेनेड हमला, सेना ने संभाला मोर्चा

जम्मू कश्मीर में आतंकी हमले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं. सोमवार को श्रीनगर में एक और दिल दहला देने वाला हमला हुआ जिसके बाद घाटी हाई अलर्ट पर है.  

घाटी में आतंकियों ने किया ग्रेनेड हमला, सेना ने संभाला मोर्चा

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में हालात काबू में किए जाने के भरसक प्रयासों के बीच श्रीनगर के मौलाना आजाद रोड में उग्रवादियों ने ग्रेनेड अटैक किया. इस अटैक से कम से कम 15 लोगों के हताहत होने की सूचना मिली है. इसके अलावा एक की मौत भी हो गई है.  हमले के बाद भारतीय सेना ने तुरंत कारवाई करते हुए मोर्चा संभाला और घायलों को नजदीकी अस्पतल में भर्ती कराया. 

 

मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों से घाटी में हालात हिंसापूर्ण रहे हैं. आतंकियों और सेना में लगातार मुठभेड़ देखने को मिला है. रिहायशी इलाकों में हमला हुआ और आतंकियों को गोलीबारी का जवाब गोलीबारी से ही दिया जा रहा है. हालांकि, ये हमला 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से अब तक का सबसे बड़ा हमला है. पिछले महीने भी जैश-ए- मोहम्मद के आतंकियों को मार गिराया गया था. सेना को इसके बाद क्षेत्र में आतंकियों के होने की सूचना भी मिली थी. 

अभी कुछ दिनों से घाटी के हालात सुधरते हुए नजर आ रहें थे कि फिर एक हादसे ने घाटी में रहने वाले लोगों को दहला दिया है. पिछले महीने भी दिवाली के ठीक एक दिन पहले ही ग्रेनेट अटैक किया  गया था. इसके बाद जम्मू-कश्मीर के अवंतीपोरा इलाके का घेराव कर हमले किए गए थे, जिसमें पुलिस ने जैश के तीन आतंकियों को मार गिराया था. लगातार चल रहे सर्च ऑपरेशन में सुरक्षा बलों की मुठभेड़ घाटी में सक्रिय आतंकियों से हो रही है. पुलिस को कई मौकों पर गोला-बारूद भी बरामद हुए हैं. 

इससे पहले भी आर्टिकल 370 हटाने के बाद से  घाटी में कई बार ग्रेनेड अटैक किया जा चुका है. 28 सितंबर को श्रीनगर के नवा इलाके में, 5 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग, 12 अक्टूबर को श्रीनगर के लाल चौक से दूर हाई स्ट्रीट बाजार में और यूरोपीय सांसद के कश्मीर दौरेे से टीक पहले 28 अक्टूबर को कश्मीर के सोपोर बस स्डेंड के सामने ग्रैेनेड अटैक कर चुके हैं.
 
पिछले दिनों सरगना जाकिर मूसा को भी मार गिराया गया है. इसके बाद से ही घाटी में बौखलाए आतंकियों ने हिंसक घटनाओं को अंजाम देना शुरू कर दिया है. इस हमले के पीछे हामिद लोन उर्फ हमीद लम्हारी का हाथ बताया जा रहा है जो हिजबुल मुजाहिदीन का खास है.