• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,26,947 और अबतक कुल केस- 6,04,641: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 3,59,860 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 17,834 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 59.43% से बेहतर होकर 59.51% हुई; पिछले 24 घंटे में 11,881 मरीज ठीक हुए
  • भारत सरकार ने कोविड-19 परीक्षण से जुड़ी बाधाओं को दूर किया और महामारी की रोकथाम के लिए ' टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट ' की रणनीति पर जोर
  • विश्व स्तरीय यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए रेलवे ने यात्री ट्रेन सेवाओं के परिचालन में निजी भागीदारी के लिए RFQ आमंत्रित किया
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना नवंबर 2020 तक प्रभावी रहेगी
  • 80 करोड़ एनएफएसए लाभार्थियों के बीच 200 एलएमटी अनाज वितरित किए जाएंगे
  • 9.78 एलएमटी चना भी लगभग 20 करोड़ परिवारों के बीच वितरित किया जाएगा
  • एमएचआरडी: "स्पोकन ट्यूटोरियल" पर छात्रों के लिए विभिन्न तरह के पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं. ज्यादा जानकारी के लिए क्लिक करें
  • आत्मनिर्भर पैकेज के अंतर्गत 30.06.2020 तक 62,870 करोड़ रुपये की राशि के 70.32 लाख किसान क्रेडिट कार्ड स्वीकृत किए गए हैं

घाटी में आतंकियों ने किया ग्रेनेड हमला, सेना ने संभाला मोर्चा

जम्मू कश्मीर में आतंकी हमले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं. सोमवार को श्रीनगर में एक और दिल दहला देने वाला हमला हुआ जिसके बाद घाटी हाई अलर्ट पर है.  

घाटी में आतंकियों ने किया ग्रेनेड हमला, सेना ने संभाला मोर्चा

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में हालात काबू में किए जाने के भरसक प्रयासों के बीच श्रीनगर के मौलाना आजाद रोड में उग्रवादियों ने ग्रेनेड अटैक किया. इस अटैक से कम से कम 15 लोगों के हताहत होने की सूचना मिली है. इसके अलावा एक की मौत भी हो गई है.  हमले के बाद भारतीय सेना ने तुरंत कारवाई करते हुए मोर्चा संभाला और घायलों को नजदीकी अस्पतल में भर्ती कराया. 

 

मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों से घाटी में हालात हिंसापूर्ण रहे हैं. आतंकियों और सेना में लगातार मुठभेड़ देखने को मिला है. रिहायशी इलाकों में हमला हुआ और आतंकियों को गोलीबारी का जवाब गोलीबारी से ही दिया जा रहा है. हालांकि, ये हमला 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से अब तक का सबसे बड़ा हमला है. पिछले महीने भी जैश-ए- मोहम्मद के आतंकियों को मार गिराया गया था. सेना को इसके बाद क्षेत्र में आतंकियों के होने की सूचना भी मिली थी. 

अभी कुछ दिनों से घाटी के हालात सुधरते हुए नजर आ रहें थे कि फिर एक हादसे ने घाटी में रहने वाले लोगों को दहला दिया है. पिछले महीने भी दिवाली के ठीक एक दिन पहले ही ग्रेनेट अटैक किया  गया था. इसके बाद जम्मू-कश्मीर के अवंतीपोरा इलाके का घेराव कर हमले किए गए थे, जिसमें पुलिस ने जैश के तीन आतंकियों को मार गिराया था. लगातार चल रहे सर्च ऑपरेशन में सुरक्षा बलों की मुठभेड़ घाटी में सक्रिय आतंकियों से हो रही है. पुलिस को कई मौकों पर गोला-बारूद भी बरामद हुए हैं. 

इससे पहले भी आर्टिकल 370 हटाने के बाद से  घाटी में कई बार ग्रेनेड अटैक किया जा चुका है. 28 सितंबर को श्रीनगर के नवा इलाके में, 5 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग, 12 अक्टूबर को श्रीनगर के लाल चौक से दूर हाई स्ट्रीट बाजार में और यूरोपीय सांसद के कश्मीर दौरेे से टीक पहले 28 अक्टूबर को कश्मीर के सोपोर बस स्डेंड के सामने ग्रैेनेड अटैक कर चुके हैं.
 
पिछले दिनों सरगना जाकिर मूसा को भी मार गिराया गया है. इसके बाद से ही घाटी में बौखलाए आतंकियों ने हिंसक घटनाओं को अंजाम देना शुरू कर दिया है. इस हमले के पीछे हामिद लोन उर्फ हमीद लम्हारी का हाथ बताया जा रहा है जो हिजबुल मुजाहिदीन का खास है.