कोरोना महामारी से होटल उद्योग को पिछले साल 1.30 लाख करोड़ का नुकसान, सरकार से मदद की गुहार

होटल उद्योग को बचाए रखने के लिए सरकार से एक विशेष नीति की अपील की गई है. कहा कि हमें तुरंत मदद दी जानी चाहिए.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 16, 2021, 06:21 PM IST
  • पीएम मोदी से की गुजारिश
    देश में तेजी से बढ़ रहे हैं केस
कोरोना महामारी से होटल उद्योग को पिछले साल 1.30 लाख करोड़ का नुकसान, सरकार से मदद की गुहार

नई दिल्लीः कोरोना ने हर क्षेत्र में बुरा प्रभाव डाला है. दुनिया में लाखों लोगों की नौकरियां इस महामारी ने तबाह कर दी हैं. भारत में भी रोजी रोटी पर बहुत बुरा असर पड़ा है. इसका एक उदाहरण होटल उद्योग है जिसे पिछले साल 1.30 लाख करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा है. कोविड-19 महामारी के कारण भारतीय होटल उद्योग को वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान आय में करीब 1.30 लाख करोड़ का नुकसान हुआ है और इससे उबरने के लिए फेडरेशन ऑफ होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एफएचआरएआई) ने सरकार ने मदद की अपील की है.

सरकार से मदद की अपील

एफएचआरएआई ने रविवार को कहा की उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत अन्य केंद्रीय मंत्रियों को सौपे एक विवरण में हॉस्पिटेलिटी उद्योग को बचाने के लिए तत्काल मदद की अपील की है और सरकार से इसके लिए कई वित्तीय उपायों उठाने का अनुरोध भी किया है. एफएचआरएआई ने एक बयान में कहा कि वित्त वर्ष 2019-20 में भारतीय होटल उद्योग की आय 1.82 करोड़ थी. हमारे आंकलन के अनुसार वित्त वर्ष में 2020-21 में आय में करीब 75 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई जो उद्योग को 1.30 लाख करोड़ से अधिक का झटका हैं.’

ये भी पढ़ेंः राहुल ने पीएम मोदी की आलोचना करते हुए किया ट्वीट, विरोध में बदली डीपी

एफएचकआरएआई के उपाध्यक्ष गुरबख्शीश सिंह कोहली ने कहा कि मार्च 2020 के बाद से उद्योग अपने वैधानिक और पूंजीगत व्यय दायित्वों के प्रबंधन को लेकर संघर्ष कर रहा हैं. वर्तमान स्थिति में ब्याज के साथ ऋणों का पुनर्भुगतान करना केवल कठिन ही नहीं बल्कि असंभव है .हम सरकार से उद्योग के लिये एक विशेष नीति लाने का अनुरोध करते हैं. जो बैंकों, वित्तीय संस्थानों या किसी अन्य संस्थाओं के प्रति अर्जित या अर्जित होने वाले ऋण सहित सभी वित्तीय प्रभावों को कम करने में सहायता करे.

ये भी पढ़ेंः यूपी के बाद दिल्ली-हरियाणा में बढ़ी पाबंदियां, 24 तक लगा Lockdown

कोहली ने कहा, ‘‘सरकार को बिना किसी देरी के होटल उद्योग के वैधानिक शुल्क माफ करने के लिए आवश्यक विशेष प्रावधान करना चाहिए. उद्योग को लॉकडाउन की अवधि के दौरान संपत्ति कर, पानी शुल्क, बिजली शुल्क और उत्पाद शुल्क समेत लाइसेंस शुल्क में छूट दी जानी चाहिए.’’

देश में बेकाबू है कोरोना
स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे में 3,62,437 मरीजों ने कोरोना को मात दी है लेकिन पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,11,170 मामले आए. इनमें सबसे ज्यादा 41,664 मामले कर्नाटक से आए हैं, वहीं महाराष्ट्र से 34,848 और तमिलनाडु से 33,658 मामले आए हैं.24 घंटे में 4 हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप. 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़