कोरोना मरीज कैसे डाल पाएंगे वोट? चुनाव आयोग ने दी ये सुविधा

5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग कोरोना मरीजों को बड़ी राहत देने जा रहा है. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Feb 26, 2021, 10:37 PM IST
  • कोरोना मरीजों के लिये खास इंतजाम करेगा आयोग
  • कोरोना के संदिग्ध मरीज भी डाल सकते हैं वोट
कोरोना मरीज कैसे डाल पाएंगे वोट? चुनाव आयोग ने दी ये सुविधा

नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान शुक्रवार को कर दिया. पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में चुनाव होने हैं. बिहार के बाद दूसरी बार कोरोना काल में चुनाव होने जा रहे हैं. कोरोना संकट में एक साथ 5 राज्यों में चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न कराने की बहुत बड़ी चुनौती चुनाव आयोग के सामने है. 

उल्लेखनीय है कि 27 मार्च से 29 अप्रैल तक 8 चरणों में मतदान होगा और 2 मई नतीजे आएंगे. 

कोरोना मरीजों के लिये खास इंतजाम करेगा इलेक्शन कमीशन

5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग कोरोना मरीजों को बड़ी राहत देने जा रहा है. यदि कोई मरीज कोरोना संक्रमित है तो वो भी वोट डाल सकता है लेकिन इसके लिये पहले सूचना देनी होगी. 

मतदान के पांच दिन पहले कोरोना पॉजिटिव मरीज को स्थानीय BLO को इस बात की जानकारी दोनी होगी कि वो कोरोना संक्रमित है. ऐसे में स्थानीय बीएलओ उसके पास जाकर एक फॉर्म फिल करवाएगा और उन्हें पोस्टल बैलेट के जरिये वोट डालने का मैका मिलेगा. आपको बता दें कि पोस्टल बैलेट के माध्यम से पहले सेना के जवान वोट डालते थे लेकिन अब ये सुविधा कोरोना पॉजिटिव मरीजों को भी मिलेगी.

कोरोना के संदिग्ध मरीज भी डाल सकते हैं वोट

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के लक्षण यदि किसी मतदाता में हैं तो भी उसे वोट डालने से वंचित नहीं रहना पड़ेगा. चुनाव आयोग ने इस पर भी विशेष ध्यान दिया है. यदि किसी को कोरोना के लक्षण हैं तो उसे मतदान के आखिरी घंटे में वोट डालने का मौका मिलेगा. ताकि अन्य मतदाता उसके संपर्क में न आएं.

ये भी पढ़ें- Bengal Election: 'चुनावी खेला' की तारीखों का हुआ ऐलान, जानिए कब कहां होगा मतदान?

मतदान स्थल पर सभी वोटर्स की की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी और तापमान चेक करके मतदान करने का मौका मिलेगा. अगर कोई पोलिंग बूथ पर कोरोना संदिग्ध मिलता है तो उसे भी वोटिंग के आखिरी घंटे में वोट डलने के लिये बुलाया जाएगा. 

बुजुर्ग भी डाल सकते हैं पोस्टल बैलेट से वोट

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने मतदान नियमों में कुछ बदलाव किया है. अब 80 साल से ऊपर के लोग भी पोस्टल बैलेट के माध्यम से अपना वोट डाल सकते हैं, अगर वे मतदान स्थल तक आने में असमर्थ हैं. बिहार विधानसभा चुनाव के समय देखा गया था कि कई बुजुर्ग और दिव्यांग वोटर कोरोना के डर के चलते वोट डालने नहीं गये थे. इस बार इलेक्शन कमीशन ने ऐसे लोगों को पोस्टल बैलेट का प्रयोग करने की छूट दी है. हालांकि इन लोगों को पहले से इसकी सूचना चुनाव अधिकारी को देनी होगी. 

उल्लेखनीय है कि हर पोलिंग बूथ पर सेनिटाइजर और सामाजिक दूरी का पर्याप्त इंतजाम किया जाएगा. चुनाव में जिन अधिकारियों की ड्यूटी लगेगी, उन्हें कोरोना का टीका लगाया जाएगा. भीड़भाड़ से बचने के लिये चुनाव आयोग ने फैसला किया है कि इस बार प्रत्याशी के साथ केवल 5 लोग घर घर जाकर वोट मांग सकते हैं. वोट डालने के लिये मास्क लगाना अनिवार्य है. 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़