close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Mi-17 हेलिकॉप्टर दुर्घटना में 2 अधिकारियों का कोर्ट मार्शल! जानिए कैसे हुआ था हादसा?

भारतीय वायुसेना ने Mi-17 क्रैश दुर्घटना मामले में बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए दो अधिकारियों का कोर्टमार्शल किया है. जबकि मामले में दोषी पाए गए शेष 4 अधिकारियों के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई की गई है.

Mi-17 हेलिकॉप्टर दुर्घटना में 2 अधिकारियों का कोर्ट मार्शल! जानिए कैसे हुआ था हादसा?

नई दिल्ली: 27 फरवरी को हुए Mi-17 दुर्घटना मामले में भारतीय वायुसेना ने 6 अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की है. जिसके तहत 2 अधिकारियों का कोर्ट मार्शल किया गया है. जबकि शेष 4 अधिकारियों को प्रशासनिक कार्रवाई का सामना करना पड़ा है. 

इसी साल 26 फरवरी को हुए बालाकोट एयरस्ट्राइक की अगली सुबह 27 फरवरी को करीब 10 बजे Mi-17 हेलिकॉप्टर अपने ही वायुसेना द्वारा निशाना लगाए जाने के चलते धू-धू करके जल गया था. इस गलती में दोषी पाए गए छह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का दौर पूरा हो चुका है. जिसमें दो अधिकारियों के खिलाफ कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई यानी कोर्ट मार्शल किया गया और 4 के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई हुई.

वायुसेना प्रमुख ने दी थी कार्रवाई की जानकारी

बीते 8 अक्टूबर को वायुसेना दिवस के मौके पर भारतीय वायुसेना प्रमुख ने इस कार्रवाई की जानकारी दी थी. उन्होंने बताया था कि इस घटना के तुरंत बाद एक जांच कमेटी का गठन किया गया था. एक एयर कोमोडोर रैंक के ऑफिसर की अध्यक्षता में की गई जांच कोर्ट ऑफ इंक्वारी (सीओआई) की रिपोर्ट आ चुकी है. इसके बाद आज ये खबर आई है कि इस कार्रवाई को अंजाम दे दिया गया है. 

6 वायुसैनिक समेत 7 लोगों की गई थी जान

इस दुर्घटना में कुल 7 निर्दोष लोगों की मौत हुई थी. जिसमें वायुसेना के 6 वीर वायुसैनिक और एक आम नागरिक शामिल था. 

कैसे हुई चूक?

दरअसल, 26 फरवरी को बालाकोट एक्शन के बाद पड़ोसी मुल्क पाक बुरी तरह से बौखलाया हुआ था. उसने भारत को जवाब देने की नापाक कोशिश की और अपने लड़ाकू विमान F-16 को हमले के लिए भेज दिया. ये विमान भारतीय वायुसीमा में घुसने की कोशिश कर रही थी. पाकिस्तान के F-16 विमानों के हमले का जवाब देते वक्त, एलओसी के दूसरी ओर से ये Mi-17 हेलिकॉप्टर अपनी नियमित गश्त को बीच में छोड़कर एयरबेस वापस लौट रहा था. इस बीच बड़गाम एयरबेस में बैठे अधिकारियों ने इस हेलिकॉप्टर को पहचानने में भूल कर दी. हेलिकॉप्टर अपना या दुश्मन का, इसकी पहचान करने से पहले ही नीचे बैठे वायुसेना के अधिकारियो ने हवा में मार करने वाली स्पाइडर मिसाइल दाग दी. मिसाइल को अपने ही हेलिकॉप्टर पर दाग दिया. जिससे हेलिकॉप्टर हवा में ही जलने लगा. और इस घटना में 6 वायुसैनिक समेत 7 लोगों की मौत हो गई