• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 86,422 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,73,763: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 82,370 जबकि अबतक 4,971 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • रेलवे ने अपील की है कि रोगग्रस्त व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं, दस वर्ष से छोटे बच्चे, 65 वर्ष से अधिक आयु के लोग रेल यात्रा से बचें
  • 31 मई, 2020 की सुबह 8:00 बजे से रेलगाड़ियों के अग्रिम आरक्षण की अवधि को 30 दिन से बढ़ा कर 120 दिन किया जाएगा
  • कोविड -19 से लड़ने और घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए चिकित्सा उपकरणों और इनपुट पर सीमा शुल्क से छूट
  • लॉकडाउन के बीच 3530 रेकों के जरिए 98+ LMT खाद्यान्न की ढ़ुलाई हुई: FCI
  • 584 लाइफलाइन उड़ानों ने ने 5,40,985 किलोमीटर की दूरी तय कर 935 टन मेडिकल और आवश्यक कार्गो का परिवहन किया
  • PMJAY से संबंधित प्रश्नों के उत्तर पाने हेतु आयुष्मान भारत व्हाट्सएप नंबर 9868914555 पर मास्टर आयुष्मान से पूछें
  • आईआईटी मद्रास ने कोविड-19 के लक्षणों का शीघ्र पता लगाने के लिए कलाई ट्रैकर का विकास किया
  • सूरत स्मार्ट सिटी कोविड-19 के प्रबंधन और कंटेनमेंट के लिए प्रमुख आईटी पहल की

दिल्ली सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को दूसरा देश बता दिया, एक निलंबित

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की ओर से सिविल डिफेंस के सदस्यों की भर्ती के लिए अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कराया गया था. इस विज्ञापन में आवेदन के लिए पात्रता के कॉलम में लिखा गया 'भारत का नागरिक हो या नेपाल, भूटान या सिक्किम की प्रजा हो.' 

दिल्ली सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को दूसरा देश बता दिया, एक निलंबित

नई दिल्लीः भारत के प्रदेशों को अपना क्षेत्र बताने की चीन, नेपाल और पाकिस्तान की साजिश थमी भी नहीं थी, देश की राजधानी में बैठे-बैठे एक महत्पूर्ण राज्य को बाहरी बता दिया गया. न सिर्फ ऐसा कहा गया बल्कि अखबारों में विज्ञापन भी छाप दिए गए हैं. मामला तूल पकड़ने पर सीएम केजरीवाल बैकफुट हैं और राजधानी में कार्रवाई आदि का मामला चल रहा है. 

यह है मामला
दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की ओर से सिविल डिफेंस के सदस्यों की भर्ती के लिए अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कराया गया था. इस विज्ञापन में आवेदन के लिए पात्रता के कॉलम में लिखा गया 'भारत का नागरिक हो या नेपाल, भूटान या सिक्किम की प्रजा हो.'

यहीं मामला गलत बैठ गया. दरअसल नेपाल-भूटान तो अलग देश हैं ही, सिक्किम को भी इन दोनों के बाद अलग देश में गिना दिया गया. नेपाल और भूटान के साथ सिक्किम को भी भारत से अलग दिखाया गया है. इस विज्ञापन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की फोटो भी छपी है.

केजरीवाल सरकार ने विज्ञापन वापस लिया
जब बवाल भारी मच गया तो इसको लेकर सिक्किम के मुख्यमंत्री ने दिल्ली सरकार से इस मुद्दे को सुधारने का अनुरोध किया है. केजरीवाल सरकार ने किरकिरी होते देख विज्ञापन वापस ले लिया है. वहीं इस मामले में एक अफसर को सस्पेंड कर दिया गया है.

दिल्ली सरकार के इस विज्ञापन को लेकर सवाल उठने लगे हैं. इसको लेकर सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने ट्वीट कर कहा, 'सिक्किम भारत का एक हिस्सा है. दिल्ली सरकार से इस मुद्दे को सुधारने का अनुरोध करता हूं.'

सिक्किम के सीएम प्रेम सिंह ने कहा, 'दिल्ली सरकार के जरिए विभिन्न प्रिंट मीडिया में प्रकाशित इस विज्ञापन में सिक्किम के साथ-साथ भूटान और नेपाल जैसे देशों का उल्लेख है. सिक्किम 1975 से भारत का हिस्सा रहा है और एक सप्ताह पहले ही राज्य दिवस मनाया गया है.'

वाह राजनीति! मजदूर पीड़ा से तड़प रहे हैं, 'नेताजी' सियासी उठापटक कर झड़प रहे हैं

सीएम केजरीवाल ने भी दी सफाई
वहीं अब इस मुद्दे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी सफाई दी है. सीएम केजरीवाल ने कहा, 'सिक्किम भारत का अभिन्न अंग है. ऐसी त्रुटियों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है. विज्ञापन वापस ले लिया गया है और संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की गई है.'

LG भी बरसे
इस तरह की चूक पर उपराज्यपाल अनिल बैजल भी ने नाराजगी जताई है. बैजल ने अपने ट्वीट में कहा, 'विज्ञापन के जरिए सिक्किम को पड़ोसी देशों की श्रेणी में रखकर भारत की क्षेत्रीय अखंडता का अपमान करने के कारण सिविल डिफेंस डायरेक्टरेट हेडक्वॉर्टर के एक वरिष्ठ अधिकारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. उन्होंने आगे लिखा, 'इस तरह के गंभीर दुराचार के प्रति जीरो टॉलरेंस! विज्ञापन को वापस लेने का भी निर्देश दे दिया गया है. 

सुकमा में मुठभेड़, एक इनामी सहित दो नक्सली ढेर