• पूरी दुनिया में कोरोना से 1097810 लोग प्रभावित, अब तक 59140 लोगों की मौत हुई, 228405 लोग रोगमुक्त हुए
  • भारत में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 2902, इसमें से 68 लोगों की मौत हुई, 184 इलाज के बाद ठीक हुए
  • महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा 423 मरीज, 19 लोगों की मौत हुई, 42 लोग ठीक हुए
  • तमिलनाडु में कोरोना से 411 लोग प्रभावित, 1 की मौत, 6 लोग ठीक हुए
  • केरल में अब तक 295 लोगों को हुआ कोरोना, 2 की मौत हो चुकी है, 27 इलाज के बाद ठीक हुए
  • दिल्ली में कोरोना के 386 मरीज, 6 की मौत, 8 लोग ठीक हुए, मध्य प्रदेश में कोरोना से 155 लोग संक्रमित, 9 लोगों की मौत
  • यूपी में कोरोना के 188 मरीज, 14 लोग ठीक हुए, 2 लोगों की मौत
  • राजस्थान में कोरोना के 179 मरीज, 3 लोग इलाज के बाद ठीक हुए, अभी तक एक भी मौत नहीं
  • तेलंगाना में कोरोना के 158 मरीज, 7 लोगों की मौत, मात्र 1 ही इलाज के बाद ठीक हुआ
  • कर्नाटक में कोरोना के 128 मरीज और आंध्र प्रदेश में 161 लोगों में कोरोना वायरस का असर

कांग्रेसियों के सामने राहुल गांधी की दादी की हुई थू-थू

इन दिनों नागरिकता संशोधन कानून पर विपक्ष मोदी सरकार का विरोध करने के चक्कर में इतना बोल रहा है कि कई बार सहयोगी पार्टियों में आपसी तकरार हो जाती है. महाराष्ट्र में NCP और कांग्रेस के बीच भी ऐसा ही देखने को मिला है.

कांग्रेसियों के सामने राहुल गांधी की दादी की हुई थू-थू

मुंबई: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का विरोध करते-करते कांग्रेस और राकांपा नेता आपस में ही भिड़ गये. दोनों दलों में तकरार राहुल गांधी की दादी इंदिरा गांधी को लेकर हो रही है. राकांपा नेता जीतेंद्र आह्वाण ने एक जनसभा में मोदी सरकार की आलोचना करने के लिये इंदिरा गांधी का सहारा ले लिया और वे इंदिरा गांधी पर इतना बोल गये कि कांग्रेस के नेता नाराज हो गये. उद्धव सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण इससे बहुत खफा हैं और उन्होंने NCP के चेतावनी तक दे डाली है.

आपातकाल लगाने के लिये इंदिरा को घेरा

महाराष्ट्र की शिवसेनानीत महाराष्ट्रविकास अघाड़ी सरकार में जीतेंद्र आह्वाड एवं अशोक चह्वाण दोनों मंत्री हैं. CAA के विरोध में बोलते-बोलते राकांपा नेता जीतेंद्र आह्वाण इंदिरा गांधी की आलोचना कर बैठे. उन्होंने कहा कि 1975 में जब इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगाकर लोकतंत्र का गला घोंटने की कोशिश की तो कोई भी खुलकर उनके इस कदम का विरोध नहीं कर सका था. बाद में जनता ने इंदिरा को करारा सबक सिखाया था और उन्हें हार मिली थी. ये सब उन्होंने कांग्रेसियों के सामने कहा. एक ही मंच से ये सब सुनकर कांग्रेसियों को बहुत शर्मिंदा होना पड़ा.

कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने दी चेतावनी

कांग्रेस नेता और उद्धव सरकार में सार्वजनिक निर्माण मंत्री अशोक चह्वाण ने कहा कि उनकी पार्टी के नेताओं का अपमान करने वालों का उचित जवाब दिया जाएगा. इंदिरा गांधी का अपमान हम कभी भी बर्दाश्त नहीं कर सकते. उन्हें भविष्य में सोच समझ कर बोलना चाहिये.

उद्धव सरकार में आपस में लड़ रहे हैं तीनों दल

इससे पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने भी इंदिरा गांधी के संदर्भ में एक बयान दिया था कि वह अक्सर मुंबई के माफिया सरगना करीम लाला से मिलने आया करती थीं. वीर सावरकर पर शिवसेना और कांग्रेस में कई दिनों से मतभेद चल रहे हैं. कांग्रेस और NCP में  विभाग बंटवारे के लेकर इतने मतभेद हैं कि दोनों दलों को समझाने में शिवसेना को बहुत मशक्कत करनी पड़ी थी. CAA के मुद्दे पर शिवसेना और कांग्रेस में जुबानी जंग जारी है. अब कांग्रेस और NCP में इंदिरा गांधी को लेकर नई तकरार छिड़ गई है.

ये भी पढ़ें- देश विरोधियों की हरकतें देखकर आम लोगों का सब्र चूक रहा है? देखिए 6 अहम सबूत