• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,83,407 और अबतक कुल केस- 8,20,916: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 5,15,386 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 22,123 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 62.42% से बेहतर होकर 62.78% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 19,873 मरीज ठीक हुए
  • आईसीएमआर: पिछले 24 घंटों में 2.83+ लाख नमूनों की जांच की गई, कुल परीक्षणों की संख्या 1.10 करोड़ के पार हुई
  • कोविड-19 के बाद अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार की रणनीति हेतु MoHFW ने TIFAC द्वारा तैयार श्वेत पत्र जारी किया
  • आईआईटी दिल्ली के स्टार्टअप "चक्र इनोवेशन" ने N95 मास्क को संक्रमण मुक्त करने वाले ‘Chakr DeCoV’ को लॉन्च किया
  • एएसआई के स्मारकों में फ़िल्म शूटिंग करने के लिए 15 दिन के अंदर मिलेगी इजाजत
  • विशेष तरलता योजना (एसएलएस) ट्रस्ट की निवेश समिति ने वाणिज्यिक पत्र में 200 करोड़ रुपये तक के निवेश को मंजूरी दी
  • MSDE ने सभी क्षेत्रों में कुशल कार्यबल की मांग-आपूर्ति के अंतर को पाटने के लिए एआई-आधारित ASEEM डिजिटल मंच की शुरूआत की
  • मछली उत्पादन और उत्पादकता से जुड़ी महत्वपूर्ण कमियों को दूर करने के लिए 20,050 करोड़ रुपये के निवेश के साथ PMMSY की शुरुआत

भारत चीन के बीच तनातनी, सीमा विवाद पर दोनों देशों में होगी वार्ता

भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद पर आज फिर से कोर कमांडर स्तर की बातचीत होने जा रही है. इससे पहले भी तीन बार दोनों देशों में वार्ता हो चुकी है.

भारत चीन के बीच तनातनी, सीमा विवाद पर दोनों देशों में होगी वार्ता

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख और गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से तनातनी बरकरार है. इस बीच भारत और चीन के बीच आज तीसरी बार वार्ता होने जा रहा है. इस बार ये बातचीत भारत की सीमा में होगी क्योंकि पहले ये वार्ता चीन के माल्डो में हुई थी.

भारतीय क्षेत्र के चुशुल में होगी बातचीत

आपको बता दें कि इस बार दोनों देशों में बातचीत भारतीय साइड में चुशुल के पास होगी. इससे पहले दो बैठकें चीन की तरफ मोल्डो में हुई थीं. बैठक का एजेंडा दोनों देशों के बीच सेनाओं को पीछे हटाने के मुद्दे को आगे बढ़ाना है.

ये भी पढ़ें- चीन पर भारत का कूटनीतिक वार, अमेरिकी रक्षामंत्री से बात करेंगे राजनाथ सिंह

पुरानी स्थिति बहाल करने पर जोर

आपको बता दें कि दोनों देशों के बीच कोर कमांडर स्तर की वार्ता में पुरानी स्थिति बहाल करने पर जोर दिया जाएगा. सूत्रों से जानकारी मिली है कि तनाव की स्थिति को कम करने के लिए सभी विवादास्‍पद मुद्दों पर बातचीत होगी. इससे पहले कोर कमांडर स्तर की दो बैठक 6 जून और 22 जून को हुई थी. 22 जून को दोनो देशों के प्रतिनिधिमंडल के बीच करीब 11 घंटे तक बातचीत हुई थी.

उल्लेखनीय है कि गलवान घाटी में 15 जून को दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प में 20 भारतीय सैनिक को वीरगति मिली थी. इसके अलावा भारत के बहादुर सैनिकों ने चीन के भी 45-50 सैनिक मार गिराए थे.