close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हिन्दुस्तान की 'ROBOT सेना' तैयार! इस 'मोदी प्लान' से पाक के जिहादियों का खात्मा तय

भारत देश की ताकत में बहुत बड़ा इजाफा होने वाला है. क्योंकि जिस जिसके पास भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ज्यादा होती है. उसकी ताकत का अंदाजा लगा पाना भी मुश्किल हो जाता है. हिंदुस्तान ने भी ऐसा ही प्लान बनाया है

हिन्दुस्तान की 'ROBOT सेना' तैयार! इस 'मोदी प्लान' से पाक के जिहादियों का खात्मा तय

नई दिल्ली: पाकिस्तान की तबाही का अलार्म बज चुका है. अब एक रिमोट दबेगा और पाकिस्तान तबाह हो जाएगा. क्योंकि मुजाहिदीनों को ढेर करनेवाला महाकाल आ गया है. हिन्दुस्तान अब नेक्स्ट जेनरेशन की जंग के हथियारों से लैस होने को तैयार है. अब पाकिस्तान अगर मुजाहिदीन भेजेगा, तो हिन्दुस्तान ने रोबोट भेजने का प्लान बना लिया है.

सेना प्रमुख ने दिखाई भविष्य की जंग की तस्वीर

दरअसल भारतीय सेना प्रमुख ने एक ऐसी जानकारी दी है, जिसे सुनकर इमरान खान के होश फाख्ता हो जाएंगे. इस सूचना से पाकिस्तान बिलबिला उठेगा और उसे ये भी समझ नहीं आएगा कि अगर युद्ध के हालात बने तो उसे क्या करना होगा. धर्म के नाम पर इंसानों के कत्लेआम की धमकी देनेवाले इमरान खान को सहमा देने वाली खबर सामने आई है. भारत ने भविष्य की जंग की वो तैयारी की है. जिससे युद्ध का नया इतिहास लिखा जाएगा. हिन्दुस्तान के आर्मी चीफ ने जो बात कही है, वो पाकिस्तानी पीएम के लिए किसी चेतावनी से कम नहीं है.

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने कहा है, 'हम भविष्य की लड़ाई में काम आने वाले सिस्टम की तरफ देख रहे हैं. हम ऐसे सिस्टम के विकास पर नजरें जमाए हैं जिससे भविष्य की जंग जीती जा सके. हमें जिन तकनीक के और विकास पर ध्यान देना होगा. वो सायबर, स्पेस, लेजर, इलेक्ट्रॉनिक हथियार और आखिर में रोबोटिक हथियारों से लैस होने पर फोकस करने का होगा. जिसके जरिए भविष्य की लड़ाई लड़ी जानी है.'

फटेहाल पाकिस्तान में घरेलू बवाल

जब पाकिस्तान में रोटी के लिए युद्ध के हालत हैं, तब हिन्दुस्तान अगली पीढ़ी के युद्ध की तैयारी में जुट चुका है. अगर पाकिस्तान ने अपनी फौज को भारत पर हमले का आदेश भी दिया. तो वो एक कदम आगे नहीं बढ़ पाएगी. भविष्य में दो देशों के सैनिकों के बीच सीधी जंग नहीं होगी. कोई देश बिना दूसरे देश की सीमा पार किए, उस पर हमला कर सकेगा. ऐसे हालत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की बड़ी भूमिका होगी. जानकारी के अनुसार ये एक तरह के रोबोट होंगे. जिसे इंसान कंट्रोल करेंगे. आज के वक्त में यूएवी यानी मानवरहित ड्रोन विमान इसका सबसे बड़ा उदाहरण हैं.

एनएसए अजित डोवल ने भी ये साफ कर दिया है कि भारत कितना ज्यादा मजबूत है. उन्होंने कहा, 'आज आप जानते हैं कि हम अंतरिक्ष के बारे में बात करते हैं, उपग्रह की बात करते हैं, हम इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेयर और दूसरी चीज़ों की बात करते हैं, इन सबमें एक बात सामान्य है, वो सामान्य बात ये है कि जो सेना ज्यादा शक्तिशाली हथियारों से लैस रही है. हमेशा उसने जीत हासिल की है और मानवता का भाग्य तय किया है. वही सेना बेहतर साबित हुई है जो अत्याधुनिक हथियारों से लैस रही है.'

आतंकियों का पनाहगार पाक

आतंक को खुला समर्थन देना पाकिस्तान की इमरान खान की नीति बन गई है. दुनिया चांद पर पहुंच चुकी है. लेकिन आतंकवाद के मसले पर पाकिस्तान सुधरने को तैयार है. पाकिस्तान पर एफएटीएफ की तरफ से ब्लैकलिस्टेड होने की तैयार लटकी है. लेकिन उसे सिर्फ हिन्दुस्तान को तबाह करने की चिंता है.

इसी साल मार्च में भारत ने साइबर वॉर से भी ज्यादा घातक स्पेस वॉर के क्षेत्र में बड़ी कामयाबी हासिल की थी. धरती से 2000 किलोमीटर ऊपर भारत ने सबसे बड़ा युद्धभ्यास किया था. इसी साल 27 मार्च को भारत ने अंतरिक्ष में सैटेलाइट को ध्वस्त करने वाली मिसाइल यानी एसैट का सफल परीक्षण किया था. सिर्फ 3 मिनट के मिशन शक्ति से भारत ने वो करिश्मा कर दिखाया था. जो इससे पहले सिर्फ 3 देश ही कर पाए थे.

भारत की एंटी सैटेलाइट मिसाइल ने एक लाइव सैटेलाइट को निशाना बनाया था. ये भारत का एक पुराना उपग्रह था. जिसे सेवा से हटा दिया गया था.

बदलते वक्त के साथ युद्ध का तरीका भी बदल चुका है और इसके हथियार भी बदल चुके हैं. अब लड़ाई का मैदान में जल, थल और आसमान के साथ अंतरिक्ष भी बन चुका है. तकनीक युग में हर देश सैटेलाइट्स पर निर्भर है. यही वजह है कि जंग के हालात में भविष्य में कोई भी ताकतवर देश सबसे पहले दुश्मन देशों की सैटेलाइट्स को निशाना बनाएगा.

हिन्दुस्तान अब हर चुनौती से निपटने को तैयार है. हर खतरे के खात्मे के लिए कमर कस चुका है. अब पाकिस्तान ने अगर भारत की तरफ आंख उठाने की हिमाकत की, तो उसे करारे तमाचे का वार झेलना पड़ेगा.