जम्मू कश्मीर में जल्द बहाल होगा इंटरनेट, आज रात से SMS सेवा होगी शुरू

जम्मू कश्मीर में नए साल पर सरकार घाटी के लोगों के लिए मोबाइल एसएमएस सेवा शुरू करने जा रही है. जम्मू कश्मीर के प्रधान सचिव ने इसकी घोषणा की.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 31, 2019, 06:23 PM IST
    • जम्मू कश्मीर में जल्द बहाल होगा इंटरनेट
    • आज रात से SMS सेवा होगी शुरू
    • जम्मू कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने ऐलान किया
    • 4 अगस्त से बंद हैं इंटरनेट सेवाएं
जम्मू कश्मीर में जल्द बहाल होगा इंटरनेट, आज रात से SMS सेवा होगी शुरू

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने ऐलान किया कि आज रात से जम्मू कश्मीर में  SMS सेवा शुरू हो जाएगी. साथ ही जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा गया है कि कि जल्द ही राज्य में मोबाइल इंटरनेट सेवा भी शुरू हो सकती है. उन्होंने यह भी कहा कि बहुत जल्द ही लोगों को अच्छी खबर सुनने को मिलेगी. 

4 अगस्त से बंद हैं इंटरनेट सेवाएं

राज्य सरकार ने पांच अगस्त को केंद्र सरकार के अनुच्छेद 370 पर फैसला लेने से पूर्व चार अगस्त मध्यरात्रि को जम्मू कश्मीर में लैंडलाइन, मोबाइल फोन व इंटरनेट सेवाएं को बंद कर दी थीं. हालात बेहतर होने पर राज्य सरकार ने घाटी में अगस्त माह के दूसरे पखवाड़े में लैंडलाइन सेवा को बहाल करना शुरू किया था. इसके बाद विभिन्न संगठनों के आग्रह और वादी में सुधरते हालात को देखते हुए राज्य सरकार ने सोमवार को वादी में पोस्ट पेड मोबाइल सेवा को भी पूरी तरह बहाल कर दिया था.

राज्य की ताजा स्थिति पर बोले कश्मीर के डीजीपी

जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि 2019 काफी सफल साल रहा. इस साल कई सारे बदलावे आए. तीन बड़े चुनाव जो पेंडिंग थे, इस साल हुए. धारा 370 हटाए जाने के वक्त सुरक्षा इंतजाम बेहतर थे. पुलिस और जनता में कोर्डिनेशन काफी अच्छा रहा. 2018 में जम्मू-कश्मीर में 260 आतंकवादी मारे गए थे जबकि इस साल सिर्फ 160 आतंकी ही मारे गए. राज्य में अब सब कुछ सामान्य है.

कश्मीर के पांच नेताओं की हिरासत खत्म

आपको बता दें कि करीब पांच महीने बाद 5 और नेताओं को रिहा कर दिया गया है. रिहा किए गए नेताओं में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के दो पूर्व विधायक और नेशनल कॉन्फ्रेंस के दो पूर्व विधायक के अलावा एक निर्दलीय विधायक भी शामिल हैं. रिहा किए गए सभी पांचों नेताओं को राज्य से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही हिरासत में लिया गया था. इन पांच नेताओं में अब्दुल जब्बार, बशीर अहमद मीर, जहूर अहमद मीर, यासिर रेशी और गुलाम नबी शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- नये सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे बोले- आतंकवाद पड़ोसी देश की राज्य नीति

 

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़