झारखंड में पुलिस की छापेमारी में लगातार गिरफ्तार किए जा रहे नक्सली

झारखंड में पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ एक कोवर्ट ऑपरेशन चला रखा है. उन्हें पकड़ा जा रहा है और उनकी हरकतों पर शिकंजा कसा जा रहा है.

झारखंड में पुलिस की छापेमारी में लगातार गिरफ्तार किए जा रहे नक्सली

रांची: पलामू पुलिस की एक विशेष टीम को एक गुप्त सूचना मिली. उस सूचना पर कार्रवाई करते हुए छत्तरपुर थाना क्षेत्र के दो गावों से टीपीसी नक्सली संगठन के दो नक्सलियों को धर दबोचा गया. फिलहाल गिरफ्तार उग्रवादियों की पहचान की गई तो मालूम हुआ कि उनका नाम जितेंद्र यादव और साबीर अंसारी है. उन नक्सलियों के पास से एक देशी हथियार, दो बिना प्रयोग की हुई गोली, नक्सली पर्चा और एक बाइक को बरामद किया गया है.

मजदूरों से लेवी मांगते हैं नक्सली

झारखंड के पलामू के एसपी अजय लिंडा ने कहा कि दोनों ही नक्सली 16 दिसंबर की रात करमाचराई के क्रेशर संचालक के साथ मारपीट कर भागे थे. इतना ही नहीं 20 दिसम्बर को बाघमारा में पुल निर्माण कार्य में मजदूरों के साथ मारपीट करने और उनसे लेवी मांगने की शिकायत भी दर्ज की गई. 

कुछ अब भी चकमा दे कर भाग निकले हैं

पूछताछ में उन्होंने आगे बताया कि दोनों नक्सली पहले भी हवालात की हवा खा चुके हैं. अभी कुछ ही दिन पहले ही बेल पर उन्हें छुड़ाया गया था. एसपी ने यह भी बताया कि छापेमारी के दौरान दोनों नक्सलियों को तो पकड़ लिया गया लेकिन उनकी टीम के ही पांच अन्य सदस्य चकमा देकर भाग निकलने में सफल हो गए. जल्द ही उनकी भी गिरफ्तारी की जाएगी. पुलिस उनकी छानबीन में लग गई है. 

पकड़ा गया नक्सली जितेन्द्र यादव डाला गांव का निवासी बता रहा है. वहीं साबीर पटखाही का निवासी है. विशेष छापेमारी दल का अभियान एसपी अरुण कुमार सिंह के नेतृत्व में चल रहा है, जबकि छत्तरपुर के डीएसपी शम्भू प्रसाद सिंह भी इस टीम में शामिल थे. मालूम हो कि झारखंड में नक्सलियों का खतरा ज्यादा ही बढ़ गया है. चुनाव के दौरान इन पर नकेल कसने के लिए सुरक्षाबलों की बड़ी टोली बुलाई गई थी.