Amazon-Flipkart के खिलाफ होगी जांच, कर्नाटक हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका

न्यायधीश पी एस दिनेश कुमार ने यह आदेश देते हुए दोनों कंपनियों की याचिका को खारिज कर दिया. हाईकोर्ट के आदेश में कहा गया है, ‘‘यह उम्मीद की जाती है कि जांच का निर्देश देने वाले आदेश के पीछे कोई वजह होनी चाहिये, जो कि आयोग पूरी करता है.’’

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jun 12, 2021, 10:17 AM IST
  • दोनों कंपनियों पर अनैतिक व्यापारिक गतिविधियों के आरोप
  • मौजूदा आदेश में किसी हस्तक्षेप की जरूरत नहीं: हाईकोर्ट

ट्रेंडिंग तस्वीरें

Amazon-Flipkart के खिलाफ होगी जांच, कर्नाटक हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका

बेंगलुरु: Amazon-Flipkart: कर्नाटक हाईकोर्ट ने शुक्रवार को प्रतिस्पर्धा कानूनों के प्रावधानों के कथित उल्लंघन के भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (Competition Commission of India) के जांच आदेश को रद्द करने की अमेजन और फ्लिपकार्ट की याचिका खारिज कर दी.

दोनों कंपनियों की याचिकाएं खारिज
भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने प्रतिस्पर्धा कानूनों के प्रावधानों के कथित उल्लंघन को लेकर दोनों प्रमुख ई-कॉमर्स कंपनियों के जांच के निर्देश दिए थे. 

न्यायधीश पी एस दिनेश कुमार ने यह आदेश देते हुए दोनों कंपनियों की याचिका को खारिज कर दिया. हाईकोर्ट के आदेश में कहा गया है, ‘‘यह उम्मीद की जाती है कि जांच का निर्देश देने वाले आदेश के पीछे कोई वजह होनी चाहिये, जो कि आयोग पूरी करता है.’’

जांच रोकना नसमझीः अदालत
अदालत की ओर से कहा गया,‘‘ऐसे में इन रिट याचिकाओं में याचिकाकर्ताओं द्वारा उठाए गए मुद्दों को बिना जांच परख के मान लिया जाना और इस स्तर पर जांच को रोकना नासमझी होगी. इसलिए मौजूदा आदेश में किसी हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं है.’’

यह भी पढ़िएः देश भर में कैसे फैला कोरोना? ICMR करेगा सीरो सर्वेक्षण

अनैतिक व्यापारिक गतिविधियों के आरोप
न्यायालय ने यह भी कहा कि सीसीआई द्वारा दिया गया आदेश किसी भी न्यायिक प्रक्रिया में प्रवेश किए बिना एक प्रशासनिक कार्रवाई की गई है. 

गौरतलब है कि सीसीआई ने जनवरी 2020 में भारी छूट देने और कुछ कंपनियों के साथ तरजीही गठजोड़ कर सामान बेचने समेत अन्य कथित अनैतिक व्यापारिक गतिविधियों को अपनाने के लिए फ्लिपकार्ट और अमेजन के खिलाफ जांच के आदेश दिए थे.

अदालत ने पहले दिया था स्टे
इस आदेश के बाद कंपनियां जांच आदेश को निरस्त कराने के लिये उच्च न्यायालय पहुंची थी. हालांकि कर्नाटक हाईकोर्ट ने 14 फरवरी 2020 को सीसीआई के जांच आदेश में अंतरिम स्थगन दे दिया था लेकिन उसके बाद सीसीआई उच्चतम न्यायालय पहुंचा जहां शीर्ष अदालत ने 26 अक्टूबर 2020 को उसे उच्च न्यायालय जाने को कहा.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़