कर्नाटक को आज मिलेगा नया सीएम? शाम को बैठक, कल हो सकता है शपथ ग्रहण

कर्नाटक को आज यानी मंगलवार को नया मुख्यमंत्री मिल सकता है. दिल्ली के पर्यवेक्षक शाम साढ़े 7 बजे विधायकों के साथ बैठक के बाद नाम का ऐलान कर सकते हैं. सूत्रों ने ऐसा दावा किया है कि 5 नेताओं का नाम इस रेस में है, अब देखना होगा कि किसके नाम पर फाइनल मुहर लगती है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 27, 2021, 06:14 PM IST
  • कर्नाटक के नए सीएम के नाम का ऐलान आज
  • आज शाम 7 बजे बीजेपी विधायक दल की बैठक
कर्नाटक को आज मिलेगा नया सीएम? शाम को बैठक, कल हो सकता है शपथ ग्रहण

नई दिल्ली: कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री के नाम पर आज ही मुहर लग सकती है. शाम करीब 7 बजे बेंगलुरु के कैपिटल होटल में भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई गई है. इसी बैठक में नए मुख्यमंत्री का नाम तय होगा. सूत्रों के मुताबिक, येदियुरप्पा ही नए मुख्यमंत्री के नाम का प्रस्ताव रख सकते हैं.

किसे मिलेगी कर्नाटक की कमान?

सोमवार को उनके इस्तीफे के बाद से ही राज्य के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई और खनन मंत्री एमआर निरानी को नया CM बनाए जाने की चर्चा है. मतलब ये कि आज का दिन कर्नाटक की सियासत के लिए काफी बड़ा है. क्योंकि आज कर्नाटक के नए सीएम के नाम का ऐलान हो सकता है. कर्नाटक में आज शाम बीजेपी विधायक दल की बैठक होनी है.

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और जी किशन रेड्डी कर्नाटक के लिए ऑब्जर्वर बनाये गए हैं. दोनों मंत्री बेंगलुरू के लिए रवाना हुए और पार्टी के कर्नाटक के प्रभारी अरुण सिंह के साथ बैठक में हिस्सा लेंगे.

रेस में किन 5 नेताओं का नाम

अब आपको बताते हैं कि किन 5 नेताओं का नाम मुख्यमंत्री की रेस के लिए आगे चल रहा है.

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी (Pralhad Joshi), कर्नाटक सरकार में गृह मंत्री बसवराज एस बोम्मई (Basavaraj Bommai) (61 वर्षीय) उत्तराधिकारी के रूप में येदियुरप्पा की पहली पसंद हैं. वहीं सीटी रवि (CT Ravi) और कर्नाटक की खान और भूविज्ञान मंत्री मुरुगेश आर निरानी (Murugesh Nirani) को मुख्यमंत्री पद का प्रबल दावेदार माना जा रहा हैं. अरविंद बेलाड (Aravind Bellad) का नाम इस रेस में सबसे आगे चल रहा है. इतना ही नहीं सूत्रों ने तो ये तक दावा कर दिया है कि इनका नाम लगभग तय है. इसके अलावा बीएल संतोष (BL Santosh) के नाम पर भी चर्चा हो रही है.

लिंगायत समुदाय से आने वाले नेताओं पर हर किसी की निगाहें टिकी हैं, क्योंकि यह समुदाय राज्य की राजनीति में एक बड़ा स्थान रखता है. वहीं, येदियुरप्पा खुद भी इसी समुदाय से आते हैं. ऐसे में वो खुद ये चाहते हैं कि उनकी कुर्सी पर बैठने वाला अगला नेता इसी समुदाय का हो.

शाम 7 बजे होने वाली बैठक का नतीजा क्या निकलता है, ये तो आने वाले कुछ मिनटों में पता चल जाएगा. लेकिन येदियुरप्पा के विरोधी विधायक को यदि बीजेपी ने कर्नाटक की कमान सौंपी तो क्या इसका बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ सकता है?

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़