महाराष्ट्र में फडणवीस सरकार को अगले 22 घंटे का सुप्रीम 'जीवनदान'

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र के चुनावी घमासान पर सुनवाई कल तक के लिए टाल दी है. कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना की तरफ से पेश हुए कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी ने तत्काल फ्लोर टेस्ट करवाने की मांग की. लेकिन भाजपा की तरफ से पेश हुए वकील मुकुल रोहतगी ने कागजात तैयार करने के लिए थोड़ा समय मांगा. जिसे अदालत ने स्वीकार किया. 

अंतिम अपडेट: रविवार नवम्बर 24, 2019 - 01:39 PM IST

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र के चुनावी घमासान पर सुनवाई कल तक के लिए टाल दी है. कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना की तरफ से पेश हुए कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी ने तत्काल फ्लोर टेस्ट करवाने की मांग की. लेकिन भाजपा की तरफ से पेश हुए वकील मुकुल रोहतगी ने कागजात तैयार करने के लिए थोड़ा समय मांगा. जिसे अदालत ने स्वीकार किया. 

24 नवम्बर 2019, 13:40 बजे

आज शाम 4 बजे बीजेपी वसंत स्मृति आफिस में सभी बीजेपी विधायको की मीटिंग बुलाई गई है. इस बैठक में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी शामिल रह सकते हैं. 

24 नवम्बर 2019, 12:44 बजे

सुप्रीम कोर्ट में सुबह 10.30 बजे फिर होगी महाराष्ट्र में सरकार बनाने पर हो रहे घमासान पर सुनवाई

अदालत ने केन्द्र, राज्य, देवेन्द्र फडणवीस और अजित पवार को नोटिस जारी करके उनका पक्ष दाखिल करने के लिए कहा है

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट कल विचार करेगा. 

सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल के आदेश की कॉपी मांगी है. 

सुप्रीम कोर्ट ने देवेन्द्र फडणवीस सरकार को दिया गया विधायकों का समर्थन पत्र भी मांगा है. 

24 नवम्बर 2019, 12:37 बजे

देवेन्द्र फडणवीस सरकार को 22 घंटे की राहत मिली

मुकुल रोहतगी का प्रयास सफल हुआ. भाजपा दो दिनों का समय चाहती थी. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने कल तक ही समय दिया

कांग्रेस की तत्काल बहुमत साबित किए जाने की मांग खारिज की गई

कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना को अपने विधायकों में टूट का डर सता रहा है. इसलिए वह तुरंत फ्लोर टेस्ट की मांग कर रहे थे

24 नवम्बर 2019, 12:33 बजे

महाराष्ट्र के शपथ ग्रहण विवाद का मामला सुप्रीम कोर्ट ने कल तक के लिए टाल दिया है. अदालत में कल केन्द्र सरकार भी अपना जवाब दाखिल करेगी. कांग्रेस एनसीपी पक्ष की तरफ से आज ही बहुमत साबित किए जाने की मांग टाली गई 

 

 

 

 

 

24 नवम्बर 2019, 12:31 बजे

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र के अटॉर्नी जनरल तुषार मेहता को कहा कि राज्यपाल को विधायकों के समर्थन की जो चिट्ठी सौंपी है उसे कल अदालत के पटल पर रखें...

24 नवम्बर 2019, 12:30 बजे

अदालत ने केन्द्र सरकार, राज्य, देवेन्द्र फडणवीस और अजित पवार के लिए नोटिस जारी किया. उनसे जवाब दाखिल करने के लिए कहा गया है. 

24 नवम्बर 2019, 12:28 बजे

महाराष्ट्र के शपथ ग्रहण विवाद पर सुनवाई कल तक के लिए टाल दी गई. अदालत ने अटॉर्नी जनरल तुषार मेहता को कल सुबह जवाब दाखिल करने का आदेश दिया है. 

24 नवम्बर 2019, 12:26 बजे

सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों को नोटिस जारी किया..

भाजपा के वकील मुकुल रोहतगी ने अपना जवाब दाखिल करने के लिए दो से तीन दिनों का समय मांगा है

भाजपा समय लेना चाहती है लेकिन कांग्रेस,एनसीपी, शिवसेना के वकील सुप्रीम कोर्ट से जल्दी से जल्दी समय लेने के पक्ष में हैं

24 नवम्बर 2019, 12:24 बजे

भाजपा के वकील मुकुल रोहतगी ने प्रतिवादी पक्ष के लिए नोटिस जारी करने के लिए कहा

उन्होंने कहा कि केस बेहद अहम है इसके लिए समय दिया जाना चाहिए. बाकी लोगों को रविवार की छुट्टी का मजा लेने का समय दिया जाना चाहिए

रोहतगी ने अदालत से जवाब देने के लिए नोटिस जारी करने की अपील की है. 

अदालत ने इस मामले में कल सुनवाई का संकेत दिया है. फिलहाल जिरह जारी है. 

24 नवम्बर 2019, 12:21 बजे

जस्टिस रमन्ना ने अदालत में कहा

मांग की कोई सीमा नहीं होती

हमलोग कुछ भी मांग लेते हैं

राज्यपाल किसी को अचानक नियुक्त नहीं कर सकते, सदन में बहुमत साबित करना ही पड़ेगा. 

हर प्रक्रिया के लिए नियम तय हैं

24 नवम्बर 2019, 12:15 बजे

महाराष्ट्र भाजपा के वकील मुकुल रोहतगी ने कहा- 

राज्यपाल का फैसला बदला नहीं जा सकता

राज्यपाल अदालत के प्रति उत्तरदायी नहीं हैं

राज्यपाल के आदेश की न्यायिक समीक्षा नहीं की जा सकती है. 

राज्यपाल अपने विवेक से फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं...

24 नवम्बर 2019, 12:13 बजे

सिंघवी-सिब्बल ने अदालत में 6वीं बार फ्लोर टेस्ट की मांग की 

आज या फिर ज्यादा से ज्यादा कल तक विधानसभा में फ्लोर टेस्ट करवा लिया जाए- अभिषेक मनु सिंघवी, कांग्रेस शिवसेना एनसीपी के वकील 

कर्नाटक की तरह तुरंत मामले पर फैसला दे सुप्रीम कोर्ट- कपिल सिब्बल, शिवसेना एनसीपी के वकील 

बिना दूसरे पक्ष को सुने फैसला नहीं दिया जाए- मुकुल रोहतगी, बीजेपी के वकील

24 नवम्बर 2019, 12:07 बजे

सिंघवी ने कहा कि अजित पवार एनसीपी विधायक दल के नेता नहीं रहे

सभी पक्षों की बात सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट के तीनों जज आपस में मामले पर विचार कर रहे हैं. 

24 नवम्बर 2019, 12:06 बजे

केन्द्र सरकार के सॉलिसीटर जनरल ने दलील दी है कि

नए गठबंधन को सरकार बनाने का अधिकार ही नहीं है, इसलिए अदालत को याचिका सुनवाई के लिए स्वीकार ही नहीं करनी चाहिए

उन्होंने अदालत से इस मामले पर विचार नहीं करने की अपील की है. 

24 नवम्बर 2019, 12:04 बजे

कांग्रेस नेता और अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट के सामने राज्यपाल की भूमिका पर संदेह जताया

उन्होंने कहा कि रातों रात राज्यपाल कैसे फैसला ले सकते हैं.

क्या राज्यपाल ने बहुमत की चिट्ठी की जांच कराई. 

सिंघवी ने गोवा और कर्नाटक के मामलों का जिक्र किया

सदन में बहुमत साबित करना ही उचित कदम होगा- अभिषेक मनु सिंघवी

24 नवम्बर 2019, 12:02 बजे

बीजेपी के वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि-

महाराष्ट्र के राजनीतिक विवाद पर सुनवाई आज किए जाने की जरुरत ही नहीं थी. 

सिब्बल सिंघवी जोरदार तरीके से फ्लोर टेस्ट की मांग उठा रहे हैं. उन्होंने कुल आधे घंटे की सुनवाई में 5 बार फ्लोर टेस्ट की मांग उठाई. 

सिंघवी सिब्बल ने आज ही फ्लोर टेस्ट की मांग कई बार दोहराई. 

24 नवम्बर 2019, 11:58 बजे

अभिषेक मनु सिंघवी ने अदालत में अपना पक्ष रखना शुरु किया...

राज्यपाल रातों रात सरकार बनाने का फैसला कैसे ले सकते हैं

सिंघवी ने कहा कि सीएम की शपथ का आधार क्या है...

24 नवम्बर 2019, 11:54 बजे

सिब्बल ने दो बार मांग की है कि आज ही बहुमत साबित करने के लिए विश्वास मत लाया जाए. 

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राज्यपाल किसी पक्ष के प्रति आश्वस्त हों कि वह बहुमत ला सकता है तो वह अपनी तरफ से सरकार बनाने का निमंत्रण देने के लिए स्वतंत्र हैं. 

राष्ट्रपति शासन हटाकर अचानक शपथ ग्रहण कराया गया--कपिल सिब्बल का आरोप

स्टेट अटॉर्नी जनरल ने कहा कि महाराष्ट्र में राजनीतिक मुश्किल आई थी तो यह मामला बॉम्बे हाईकोर्ट में उठाया जाना चाहिए था.

24 नवम्बर 2019, 11:51 बजे

कपिल सिब्बल की तरफ से 18 मिनट तक पक्ष रखने के बाद जस्टिस रमन्ना ने महाराष्ट्र के अटॉर्नी जनरल से राज्यपाल का पक्ष रखने के लिए कहा है

24 नवम्बर 2019, 11:48 बजे

सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना की तरफ से पक्ष रख रहे कपिल सिब्बल से पूछा-

क्या राज्यपाल को विधायकों के समर्थन की चिट्ठी सौंपी गई...

सिब्बल ने जवाब दिया- इस बारे में कोई जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई है...

सिब्बल ने अदालत के सामने कर्नाटक का हवाला दिया कि कैसे येदियुरप्पा को शपथ ग्रहण करने के बाद इस्तीफा देना पड़ा था. 

24 नवम्बर 2019, 11:45 बजे

सुप्रीम कोर्ट में लगातार चल रही है महाराष्ट्र के राजनीतिक विवाद की सुनवाई..ज़ी हिंदुस्तान आपको लगातार अदालत के अंदर हो रही सुनवाई का लाइव अपडेट दे रहा है. 

जस्टिस भूषण ने कपिल सिब्बल को जवाब देते हुए कहा है कि 

'अगर राज्यपाल आश्वस्त हों तो वह किसी को भी सरकार बनाने का न्यौता दे सकते हैं'

सिब्बल ने फ्लोर टेस्ट जल्दी कराने की अपनी मांग दोहराई 

24 नवम्बर 2019, 11:43 बजे

सुप्रीम कोर्ट के सामने कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल अपना पक्ष रख रहे  हैं. 

कपिल सिब्बल ने अदालत के सामने कहा कि राष्ट्रपति शासन हटाने का फैसला मनमाना था...

सिब्बल ने कहा कि अगर भाजपा के पास बहुमत है तो उसे आज ही साबित करें...

उन्होंने शिवसेना एनसीपी के पास कुल 145 विधायकों के समर्थन का दावा किया...

 

 

 

24 नवम्बर 2019, 11:40 बजे

कपिल सिब्बल ने कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के पास 145 विधायक होने का दावा किया

सिब्बल ने कहा कि महाराष्ट्र में बहुमत साबित करने के लिए 145 विधायकों की जरुरत है और उतने विधायक इस गठबंधन के पास हैं. 

सिब्बल अदालत को पूरा घटनाक्रम सिलसिलेवार तरीके से अपने नजरिए से बताने की कोशिश कर रहे हैं...

24 नवम्बर 2019, 11:37 बजे

तीनो मुख्य न्यायाधीश महाराष्ट्र के राजनीतिक ड्रामे पर सुनवाई करने के लिए सु्प्रीम कोर्ट में पहुंच गए हैं. 

जस्टिस रमन्ना, जस्टिस खन्ना और जस्टिस भूषण सुप्रीम कोर्ट पहुंचे

कपिल सिब्बल ने रविवार के दिन न्यायाधीशों को तकलीफ देने के लिए उनसे माफी मांगी. 

सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट के सामने बहुमत का दावा किया.

24 नवम्बर 2019, 11:36 बजे

तीनो मुख्य न्यायाधीश महाराष्ट्र के राजनीतिक ड्रामे पर सुनवाई करने के लिए सु्प्रीम कोर्ट में पहुंच गए हैं. 

जस्टिस रमन्ना, जस्टिस खन्ना और जस्टिस भूषण सुप्रीम कोर्ट पहुंचे

कपिल सिब्बल ने रविवार के दिन उन्हें अदालत में बुलाने के लिए माफी मांगी. 

सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट के सामने बहुमत का दावा किया.

24 नवम्बर 2019, 11:34 बजे

मुंबई के जे डब्ल्यू मेरियट होटल में चल रही शिवसेना कांग्रेस की बैठक खत्म हो गई है. 

कांग्रेस ने तय किया है कि उसके विधायक कहीं नहीं जाएंगे. वह होटल में ही टिके रहेंगे. 

24 नवम्बर 2019, 11:32 बजे

महाराष्ट्र बीजेपी की तरफ से मुकुल रोहतगी पार्टी का पक्ष रखेंगे.

महाराष्ट्र के राज्यपाल का पक्ष राज्य के अटॉर्नी जनरल के.के वेणुगोपाल रखेंगे

केन्द्र सरकार के अटॉर्नी जनरल तुषार मेहता केन्द्र का पक्ष रखेंगे.

शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस का पक्ष रखने के लिए अभिषेक मनु सिंघवी और कपिल सिब्बल सुप्रीम कोर्ट के  अंदर मौजूद हैं. 

24 नवम्बर 2019, 11:29 बजे

शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी महाराष्ट्र में 24 घंटे के अंदर  बहुमत साबित करने की मांग कर रही हैं.

इस मांग को सुप्रीम कोर्ट के सामने रखने के लिए कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी सुप्रीम कोर्ट के अंदर पहुंच गए हैं. 

अगले दो मिनट में महाराष्ट्र के राजनीतिक ड्रामे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होने वाली है. 

24 नवम्बर 2019, 11:26 बजे

वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण और एनसीपी प्रमुख शरद पवार की मुलाकात खत्म हो गई है. बैठक के बाद चव्हाण ने बताया कि शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के पास बहुमत साबित करने की पर्याप्त संख्या है. पवार साहब से मुलाकात में यह बात तय हो गई है. कांग्रेस के सभी 44 विधायकों को सुरक्षित स्थान पर रखा गया है. 

 

 

24 नवम्बर 2019, 11:24 बजे

जो राजनीतिक दल 10 दिनों में कॉमन मिनिमम प्रोग्राम तय नहीं कर पाए. उनके विधायक 10 मिनट में कैसे राज्यपाल के सामने परेड के लिए तैयार हो जाएंगे. बीजेपी विधायक आशीष शेऴार...

 

24 नवम्बर 2019, 11:22 बजे

सभी दलों के अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुके हैं. अब से 8 मिनट के बाद सुप्रीम कोर्ट में महाराष्ट्र के राजनीतिक ड्रामे पर सुनवाई शुरु हो जाएगी. 

24 नवम्बर 2019, 11:21 बजे

शिवसेना सांसद गनानन कीर्तिकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे

कांग्रेस नेता और वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी भी सुप्रीम कोर्ट पहुंचे 

तीन जजों की बेंच करेगी सुप्रीम कोर्ट में करेगी महाराष्ट्र के राजनीतिक घटनाक्रम पर सुनवाई

जस्टिस रमन्ना, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस संजीव खन्ना करेंगे महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा बहुमत साबित करने के लिए दिए गए समय पर सुनवाई

कांग्रेस शिवसेना और एनसीपी 24 घंटे में बहुमत साबित करवाना चाहते हैं. लेकिन राज्यपाल ने 30 नवंबर तक का समय फडणवीस को दिया है. इन दलों को अपने विधायकों के टूटने का खतरा सता रहा है.  

24 नवम्बर 2019, 11:17 बजे

कांग्रेस एनसीपी शिवसेना की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी और कपिल सिब्बल सुप्रीम कोर्ट में विपक्ष की तरफ से प्रतिनिधित्व करेंगे. 

24 नवम्बर 2019, 11:11 बजे

महाराष्ट्र सरकार की तरफ से अटॉर्नी जनरल वेणुगोपाल सुप्रीम कोर्ट में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के फैसले का बचाव करेंगे. 

24 नवम्बर 2019, 11:08 बजे

अजित पवार की घर वापसी की कोशिश में जुटे एनसीपी नेता. बहन सुप्रिया सुले ने अजित पवार के भाई श्रीनिवास पवार से बात करके उनसे मामला सुलझाने की अपील की है. सुप्रिया सुले पहले भी अपने भाई से परिवार नहीं छोड़ने की भावुक अपील कर चुकी हैं. 

24 नवम्बर 2019, 11:01 बजे

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात करने के लिए उनके आवास पर पहुंचे, दोनों नेताओं के बीच बैठक जारी है...

 

 

24 नवम्बर 2019, 10:54 बजे

कांग्रेस विधायकों को मुंबई में अंधेरी स्थित जे डब्ल्यू मेरियट होटल में रखा गया है. हर पार्टी को अपने विधायकों के टूटने की चिंता सता रही है. 

 

 

24 नवम्बर 2019, 10:50 बजे

वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी सुप्रीम कोर्ट में भाजपा की तरफ से महाराष्ट्र के राजनीतिक ड्रामे पर सुनवाई करेंगे. अब से लगभग 40 मिनट बाद यानी 11.30 बजे सुप्रीम कोर्ट में महाराष्ट्र की राजनीति पर सुनवाई शुरु हो जाएगी. 

 

 

24 नवम्बर 2019, 10:48 बजे

एनसीपी विधायक दिलीप वालसे पाटिल महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार से मुलाकात करने के लिए उनके आवास पर पहुंचे

 

 

24 नवम्बर 2019, 10:41 बजे

एनसीपी ने किया 49 से 50 विधायकों के समर्थन का दावा