Love Jihad: अशोक बनकर अफजल ने की शादी, 2 साल बाद पत्नी का कराया जबरन धर्म परिवर्तन

यूपी के शख्स ने शादी के 2 साल बाद पत्नी का जबरन धर्म परिवर्तन कराया. अपना नाम अशोक राजपूत बताकर की थी शादी, बाद में सच सामने आया.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Apr 11, 2021, 09:01 PM IST
  • उत्तर प्रदेश में लव जिहाद का संगीन मामला
  • 'जबरन धर्म परिवर्तन' कराने का आरोप
Love Jihad: अशोक बनकर अफजल ने की शादी, 2 साल बाद पत्नी का कराया जबरन धर्म परिवर्तन

नई दिल्ली: शादी के दो साल बाद एक महिला ने अपने पति और उसकी दो बहनों पर 'जबरन धर्म परिवर्तन' कराने का आरोप लगाया है. महिला ने कहा, उसे कभी इस बात का अहसास नहीं हुआ कि उसका पति मुस्लिम था और वह अपने ससुराल वालों से कभी नहीं मिली थी.

धर्मांतरण विरोधी कानून के तहत केस दर्ज

25 वर्षीय मुस्लिम व्यक्ति और उसकी बहनों पर अब धर्मांतरण विरोधी कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है. खबरों के मुताबिक, महिला 23 वर्षीय पूजा सोनी छत्तीसगढ़ की रहने वाली है. उसने कहा कि उसने मार्च 2019 में अशोक राजपूत नाम के व्यक्ति से दिल्ली में शादी की थी, जहां वह एक अस्पताल में काम करती है.

महिला के मुताबिक, 'हमने एक मंदिर में शादी कर ली, और नोएडा में रहने लगे.' पुलिस को दी गई शिकायत में उसने कहा, '22 मार्च को वह मुझे अलीगढ़ के रीत गांव में अपने घर ले गया. वहां मुझे पता चला कि उसका नाम अफजल खान था. मुझे 'नमाज' पढ़ने के लिए मजबूर किया गया और मेरी प्रार्थना करने से रोका गया.'

उसने आगे कहा, '8 अप्रैल को, वे मेरी बेटी को मुझसे दूर ले गए. फिर, उन्होंने मेरा नाम बदल दिया.' उसने आरोप लगाया कि उसके ससुराल वालों ने उसे घर से निकाल दिया और उसे मथुरा में उतार दिया.

SHO अभय कुमार शर्मा ने दी जानकारी

लोढ़ा पुलिस स्टेशन के एसएचओ अभय कुमार शर्मा ने कहा, 'अशोक राजपूत उर्फ अफजल खान को उत्तर प्रदेश निषेध धर्म परिवर्तन अध्यादेश और आईपीसी की धारा 323 (स्वैच्छिक रूप से आहत) के तहत मामला दर्ज किया गया है.'

इसे भी पढ़ें- अब हर प्रवासी मजदूर का डेटा होगा सरकार के पास, जल्द पूरे होंगे ये पांच सर्वे

अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. महिला का बयान सोमवार को सीआरपीसी की धारा 164 के तहत अदालत में दर्ज किया जाएगा. पिछले साल नवंबर में लागू होने के बाद से राज्य के धर्मांतरण विरोधी कानून के तहत अब तक 32 एफआईआर दर्ज की गई हैं.

इसे भी पढ़ें- अप्रैल में टीकाकरण के लिए गए 18 प्रतिशत लोगों को नहीं मिली वैक्सीन : सर्वे

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़