• भारत में कोरोना के अब तक 918 मामले सामने आए, अब तक 19 लोगों की मौत हो चुकी है, 79 लोगों का सफल इलाज हुआ
  • कोरोना के सबसे ज्यादा मामले केरल और महाराष्ट्र में सामने आ रहे हैं, केरल में 167 और महाराष्ट्र में 186 लोग कोरोना प्रभावित
  • पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के 6,61,367 मामले सामने आ चुके हैं
  • कोरोना वायरस के कारण विश्व में अब तक 30,671 लोगों की मौत हो चुकी है, जबिक 1,41,464 लोग बचाए जा चुके हैं
  • कर्नाटक में कोरोना से प्रभावित लोगों की संख्या 76 पहुंच गई है. पिछले 22 घंटे में 12 नए मामले सामने आए हैं
  • उत्तर प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल 61 मामले, शनिवार को 11 मामले सामने आए जिसमें सबसे ज्यादा 9 मामले नोएडा में दिखे
  • महाराष्ट्र में कोराना वायरस के 9 नए मामले, मुंबई में 8 और नागपुर में 1 नया मरीज, कुल मामले 167 हुए
  • कोरोना वायरस से अबतक महाराष्ट्र में 5, गुजरात में 3, कर्नाटक में 2, मध्य प्रदेश में 2 लोगों की मौत हो चुकी है
  • तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, कश्मीर और हिमाचल में एक-एक मौतें हो चुकी हैं.

रॉयल कोर्ट में गिड़गिड़ाया माल्या, मुझसे मूल कर्ज वापस ले लें भारतीय बैंक

शराब कारोबारी विजय माल्या ने एक बार फिर कहा है कि वह भारतीय बैंकों को मूल कर्ज की धनराशि वापस करने को तैयार है. सुनवाई के अंतिम दिन गुरुवार को माल्या ने कहा कि सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय उसके साथ जो कर रहे हैं, वह अनुचित है. 

रॉयल कोर्ट में गिड़गिड़ाया माल्या, मुझसे मूल कर्ज वापस ले लें भारतीय बैंक

नई दिल्लीः विजय माल्या पर शिकंजा इस कदर कसा हुआ है कि वह अदालत में हाथ जोड़कर लगभग गिड़गिड़ाता हुआ देखा गया. शराब कारोबारी ने कहा कि मैं हाथ जोड़कर भारतीय बैंकों से निवेदन करता हूं कि वे अपने कर्ज की 100% मूल राशि तुरंत वापस ले लें. विजय माल्या भारत प्रत्यर्पित करने के खिलाफ अपनी अपील पर सुनवाई के अंतिम दिन गुरुवार को रॉयल कोर्ट ऑफ जस्टिस पहुंचा था.

इस दौरान अभियोजन पक्ष ने किंगफिशर एयरलाइन के पूर्व प्रमुख के खिलाफ बेईमानी के ढेरों सबूत होने की बात स्थापित करने के लिए दलीलें दीं.

शराब कारोबारी विजय माल्या ने एक बार फिर कहा है कि वह भारतीय बैंकों को मूल कर्ज की धनराशि वापस करने को तैयार है. सुनवाई के अंतिम दिन गुरुवार को माल्या ने कहा कि सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय उसके साथ जो कर रहे हैं, वह अनुचित है. अपील पर सुनवाई के दौरान प्रवर्तन निदेशालय, सीबीआई और लंदन में भारतीय उच्चायोग के अधिकारी मौजूद रहे।

सुनवाई में शामिल होने कोर्ट पहुंचा माल्या
सीपीएस के वकील मार्क समर्स ने बहस शुरू की. उन्होंने कहा कि किंगफिशर एयरलाइन ने बैंकों को जानबूझकर लाभ की गलत जानकारी दी थी. लॉर्ड जस्टिस स्टेफन ईरविन और जस्टिस एलिजाबेथ लाइंग ने कहा कि वे इस बेहद जटिल मामले पर विचार करने के बाद किसी और तारीख को फैसला देंगे. दो न्यायाधीशों की यह पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है.

माल्या प्रत्यर्पण वॉरंट को लेकर जमानत पर है. उसके लिए यह जरूरी नहीं है कि वह सुनवाई में हिस्सा ले, लेकिन वह अदालत आया. वह मंगलवार से ही सुनवाई में हिस्सा लेने के लिए आ रहा है, जब अपील पर सुनवाई शुरू हुई थी.

बचाव पक्ष ने दिया अन्य भारतीय एयरलाइनों का उदाहरण
बचाव पक्ष ने इस बात को खारिज किया है कि माल्या पर धोखाधड़ी और धन शोधन का पहली नजर में कोई मामला बनता है. बचाव पक्ष ने  किंगरफिशर एयरलाइन को अन्य भारतीय एयरलाइन के हश्र के साथ जोड़ कर देखने की अपील की. उन्होंने दलील दी कि किंगरफिशर एयरलाइन आर्थिक दुर्भाग्य का शिकार हुई है, जैसे अन्य भारतीय एयरलाइनें हुई हैं.

समर्स ने दलील दी कि 32000 पन्नों में प्रत्यर्पण के दायित्वों को पूरा करने के लिए सबूत हैं. उन्होंने कहा कि न केवल प्रथम दृष्टया मामला बनता है, बल्कि बेईमानी के अत्यधिक सबूत हैं. 

राजस्थानः विधानसभा अध्यक्ष ने फटकारा, कहा-मंत्रियों के चैंबरों में ताले लगवा दूंगा