close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सेमीफाइनल में हारी मैरी कॉम, कांस्य पदक से किया समझौता

महिलाओं की विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप 2019: मैरी कॉम ने अपना 51 किग्रा की प्रतिस्पर्धा में तुर्की की बुसेनाज काकीरोग्लू से सेमीफाइनल में हारीं

सेमीफाइनल में हारी मैरी कॉम, कांस्य पदक से किया समझौता

उलान-उडे (रूस): छह बार की विश्व चैंपियन एम सी मैरीकॉम (51 किग्रा) को शनिवार को महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप के अति रोमांचक सेमीफाइनल में तुर्की की बुसेनाज काकीरोग्लू से हारकर कांस्य पदक से समझौता करना पड़ा.

शुरुआती बढ़त का फायदा नहीं उठा सकीं

तीसरी वरीयता प्राप्त मैरी कॉम को काकीरोग्लू से 1-4 से हार का सामना करना पड़ा, जो यूरोपीय चैंपियनशिप और यूरोपीय खेलों की स्वर्ण पदक विजेता हैं. दोनों मुक्केबाज शुरुआती दौर में पहला कदम रखने में हिचकिचाहट महसूस
कर रहे थे, लेकिन मैरी कॉम को जवाबी हमलों में बढ़त हासिल की, वहीं काकीरोग्लू ने अपनी ऊंचाई का फायदा उठाने के लिए संघर्ष करती नजर आईं. दूसरे दौर में भी मैरी कॉम ने इसी तरह के पैटर्न का पालन किया गया, लेकिन काकरोग्लू मैरी कॉम पर भारी पड़ीं. अंतिम तीन मिनट में, दोनों मुक्केबाजों ने बाजी मारी, लेकिन काक्रीग्लू ने अंत में बाजी मारी.

51 किग्रा में पहला कांस्य पदक

इस नुकसान के बावजूद, 36 वर्षीय मैरी कॉम के लिए यह एक शानदार अभियान रहा और अपनी उपलब्धियों की लंबी सूची में एक पदक और शामिल कर लिया. 51 किग्रा वर्ग में उनका यह पहला कांस्य पदक है.

खिताबों की लंबी फेहरिस्त

छह विश्व खिताबों के अलावा, मैरी कॉम के अविश्वसनीय करियर में ओलंपिक कांस्य पदक (2012), पांच एशियाई खिताब, एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलो में स्वर्ण पदक शामिल हैं.