राजधानी में सुबह-सुबह बरसे मेघदूत, ठंड से निजात अभी नहीं

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र समेत उत्‍तर भारत के कई इलाकों में सोमवार को मौसम फिर बदल गया था. मंगलवार अल सुबह गरज-चमक के साथ हुई जोरदार बारिश से ठंड बढ़ गई है. मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि जनवरी के अंत तक कड़ाके की ठंड से निजात नहीं मिलेगी.

राजधानी में सुबह-सुबह बरसे मेघदूत, ठंड से निजात अभी नहीं

नई दिल्ली: उत्तर भारत को अभी कुछ और दिन ठंड में ठिठुरना पड़ सकता है. मंगलवार सुबह घिर आए बादलों और तेज बारिश से मौसम में ठंडक बरकरार है. मंगलवार अल सुबह 4ः30 बजे बादल घिर आए और गरज-चमक के साथ मौसम खराब होने लगा. इसके बाद तकरीबन 30 मिनट तक जोरदार बारिश हुई. राजधानी दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम और फरीदाबाद के दिल्ली से सटे इलाके खूब भीगे. मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में बारिश होने और ठंड बढ़ने की जानकारी दी थी. 

जनवरी के अंत तक कड़ाके की ठंड
राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र समेत उत्‍तर भारत के कई इलाकों में सोमवार को मौसम फिर बदल गया था. मौसम विज्ञान विभाग ने 28 और 29 जनवरी को पश्चिमी विक्षोभ के कारण जम्‍मू-कश्‍मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्‍तराखंड में ताजा बर्फबारी की चेतावनी जारी की थी. मौसम विभाग का कहना है कि जनवरी अंत तक कड़ाके की ठंड और शीतलहर से राहत मिलने की उम्‍मीद कम है. इसके साथ ही उत्‍तर भारत के मैदानी राज्‍यों में सोमवार को हल्‍की बारिश की संभावना जताई थी. हालांकि यह बारिश मंगलवार अलसुबह हुई. 

सोमवार को ही छाए थे बादल
राजधानी में सोमवार को बादल छाए दिखे थे. वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) 336 अंकों के साथ 'बहुत खराब' (Very Poor) श्रेणी में रहा. हालांकि दिन में बारिश की संभावना को देखते हुए मौसम विभाग ने AQI में सुधार की उम्मीद जताई थी. IMD के एक अधिकारी ने कहा कि हल्की बारिश या बूंदाबांदी के साथ दिन में आसमान सामान्य रूप से साफ रहेगा. सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के मुताबिक, दिल्ली का AQI 336 पॉइंट्स के साथ 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज किया गया.

सफर ने कहा कि हालिया पश्चिमी विक्षोभ से मंगलवार तक एक्यूआई 'बहुत खराब' और 'खराब' श्रेणी के बीच में आ सकता है. वहीं बारिश के बाद बुधवार तक AQI 'खराब' से 'मध्यम' श्रेणी में आ सकता है.

31 जनवरी को खत्म हो रहा चिल्लई कलां
कश्मीर में कड़ाके की ठंड और शीतलहर पड़ने के कारण पारे में गिरावट आई है. रविवार को श्रीनगर का रात का तापमान शून्य से 0.6 डिग्री नीचे दर्ज किया गया, जबकि पहलगाम में शून्य से 10.2 डिग्री सेल्सियस नीचे और गुलमर्ग में शून्य से 10.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. मौसम विभाग के अधिकारी ने अपने पूर्वानुमान में 28 जनवरी और 29 जनवरी को और बर्फबारी होने की बात कही है.

मौसम विभाग, कश्मीर के निदेशक सोनम लोटस ने बताया कि कश्मीर में सर्दियों का चरण जिसे 'चिल्लई कलां' कहते हैं, 31 जनवरी को खत्‍म हो जाएगा. 40 दिन तक  'चिल्लई कलां' कश्मीर में सर्दियों का सबसे कठोर हिस्सा है, जिसमें तापमान घटकर शून्‍य डिग्री के स्तर तक पहुंच जाता है.