अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने में जुटी मोदी सरकार, कैबिनेट बैठक में दिखी झलक

कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच मोदी सरकार लगातार अहम कदम उठा कर आम लोगों को राहत देने में जुटी है. आज फिर से पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई.    

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jun 3, 2020, 06:09 PM IST
    • अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने में जुटी मोदी सरकार
    • APAC अधिनियम में संशोधन में मंजूरी
    • सोमवार को भी हुई थी कैबिनेट मीटिंग
अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने में जुटी मोदी सरकार, कैबिनेट बैठक में दिखी झलक

नई दिल्ली: देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मोदी कैबिनेट ने एक बार फिर देश की वर्तमान हालत पर मंथन किया. इसमें मोदी सरकार के सभी वरिष्ठ मंत्रियों ने शिरकत की. मोदी सरकार ने बैठक में दो महत्वपूर्ण अध्यादेशों को भी मंजूरी दी.

APAC अधिनियम में संशोधन में मंजूरी

आवश्यक वस्तु अधिनियम, APAC अधिनियम में संशोधन को मंजूरी दी गई है. अब किसान सीधे अपनी फसलें बेच सकेंगे, अब देश में किसानों के लिए एक देश एक बाजार होगा. कैबिनेट के फैसले में इसके अलावा कृषि उत्पादों के भंडारण की सीमा खत्म की गई है, सिर्फ अतिआवश्यक परिस्थिति में ऐसा किया जा सकेगा.

सोमवार को भी हुई थी कैबिनेट मीटिंग

आपको बता दें कि इसी हफ्ते की शुरुआत में सोमवार को हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए थे. इनमें केंद्र सरकार ने MSME सेक्टर की परिभाषा को बदला, साथ ही अब देश के किसान किसी भी मंडी और किसी भी राज्य में अपनी फसल बेच सकेंगे, ऐसा फैसला लिया गया है. देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और इस बीच अब अनलॉक 1 के तहत कई तरह की छूट भी दी जा रही हैं.

ये भी पढ़ें- संविधान से नहीं हटेगा 'इंडिया', सुप्रीम कोर्ट ने देश का नाम बदलने से किया इनकार

कारोबार को मजबूत करने पर फोकस

केंद्र सरकार इस समय अपनी पूरी ऊर्जा अर्थव्यवस्था को मजबूत करने और मजदूरों को राहत देने में लगा रही है. लॉकडाउन में छूट देकर केंद्र सरकार उद्योग धंधों को सम्बल प्रदान करने पर ध्यान दे रही है. कल CII के सम्मेलन में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यही संकल्प दोहराया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कारोबारियों को भरोसा दिया था कि वो उनके साथ हैं. उन्होंने कहा था कि आप एक कदम आगे बढ़ाइए, सरकार चार कदम आगे बढ़ाएगी. हमारी सरकार अर्थव्यवस्था को सशक्त करने के लिए और निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति करने के लिए हर वो कदम उठाएगी जिससे कारोबार को मजबूती मिले. प्रधानमंत्री ने कहा कि जब दुनिया में कोरोना वायरस का कहर था, तब भारत ने बड़े फैसले लिए ताकि देश को इस महामारी से बचाया जा सके.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़