मोदी सरकार ने दी बड़ी राहत, घरेलू गैस सिलेंडरों पर दी दोगुनी सब्सिडी

पेट्रोलियम मंत्रालय की ओर से बताया गया कि दिल्ली में अभी तक 14.2 किलो के सिलेंडर पर 153.86 रुपये की सब्सिडी मिलती थी, इसे बढ़ाकर 291.48 रुपये कर दिया गया है. जनवरी 2020 के दौरान एलपीजी का इंटरनेशनल कीमत 448 डॉलर प्रति एमटी से काफी बढ़कर 567 डॉलर प्रति एमटी हो जाने के कारण घरेलू गैस के दामों में इजाफा किया गया है

मोदी सरकार ने दी बड़ी राहत, घरेलू गैस सिलेंडरों पर दी दोगुनी सब्सिडी

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने घरेलू गैस उपभोक्ताओं को बड़ी राहत दी है. सरकार ने घरेलू गैस सिलेंडर पर दी जा रही सब्सिडी को करीब दोगुना कर दिया है. दरअसल केंद्र की मोदी सरकार रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में इजाफे के कारण विरोध झेल रही थी. पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने गुरुवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी.

साथ ही गैस की कीमतें बढ़ने की वजह भी बताई. मंत्रालय की ओर से सिलेंडर के दाम बढ़ने के पीछे अंतरराष्ट्रीय कीमतों के बढ़ने को वजह बताया गया है. 

इतने बढ़े थे रेट
पेट्रोलियम मंत्रालय की ओर से बताया गया कि दिल्ली में अभी तक 14.2 किलो के सिलेंडर पर 153.86 रुपये की सब्सिडी मिलती थी, इसे बढ़ाकर 291.48 रुपये कर दिया गया है. इसी तरह से प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत बांटे गए कनेक्शन पर अभी तक जो 174.86 रुपये प्रति सिलेंडर की सब्सिडी मिलती थी, उसे बढ़ाकर 312.48 रुपये प्रति सिलेंडर कर दिया गया है.

दिल्‍ली में बिना सब्सिडी वाली घरेलू एलपीजी 14.2 किलो के एलपीजी सिलेंडर की कीमत में 144.50 रुपये की वृद्धि की गई है. वहीं, बिना सब्सिडी वाले घरेलू एलपीजी सिलेंडर की कीमत 714 रुपये से बढ़ाकर 858.50 रुपये कर दी गई है.

इसलिए बढ़े दाम
जनवरी 2020 के दौरान एलपीजी का इंटरनेशनल कीमत 448 डॉलर प्रति एमटी से काफी बढ़कर 567 डॉलर प्रति एमटी हो जाने के कारण घरेलू गैस के दामों में इजाफा किया गया है. सरकार ने बताया कि मौजूदा समय में 27.76 करोड़ से भी अधिक कनेक्‍शनों के साथ राष्‍ट्रीय एलपीजी कवरेज लगभग 97 फीसदी है. करीब 27.76 करोड़ में से तकरीबन 26.12 करोड़ उपभोक्‍ताओं के मामले में वृद्धि को  सरकार वहन करती है.

इन पर निर्भर होते हैं रेट
भारत में एलपीजी सिलेंडर की कीमत दो बातों पर निर्भर करती है. इसमें पहला है एलपीजी का इंटरनेशनल बेंचमार्क रेट और दूसरा है यूएस डॉलर और रुपये का एक्सचेंज रेट. फ्यूल रिटेलर्स एलपीजी सिलेंडर को बाजार कीमत पर बेचते हैं, लेकिन सरकार प्रत्येक परिवार को हर साल 12 सिलेंडर में सीधे सब्सिडी प्रदान करती है.

अपने नेताओं की ही बात सुन ले कांग्रेस तो शायद उबर जाएगी