भारत में पांव पसार रहा है बांग्लादेशी आतंकी संगठन! PAK का असल चेहरा बेनकाब

राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने देश में सक्रिय हो रहे आतंकियों से जुड़ा बहुत बड़ा खुलासा किया है. इस खुलासे में ये भी साफ हो गया है कि देश में फंडिंग करके पाकिस्तान आतंकवादियों को पाल-पोस रहा था.

भारत में पांव पसार रहा है बांग्लादेशी आतंकी संगठन! PAK का असल चेहरा बेनकाब

नई दिल्‍ली: हिंदुस्तान में बांग्लदेशी आतंकी संगठन काले बादल की तरह फैलता जा रहा है. जानकारी के मुताबिक जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्‍लादेश भारत में अपना दबदबा बनाने की फिराक में है. जिसका खुलासा राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने किया है. खबर है कि इस आतंकी संगठन जेएमबी ने अपनी गतिविधियां तेजी से बढ़ा दी है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने इस दौरान पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की करतूत का भी जिक्र किया.

एनआईए के डीजी योगेश चंद्र मोदी ने बताया कि बंग्लादेशियों की आड़ में ये आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्‍लादेश देश के कई राज्यों में अपना पांव पसार रहा है. जो बिहार, महाराष्ट्र, केरल और कर्नाटक में सक्रिय है.

उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी कि आतंकी संगठन जेएमबी के 125 संदिग्धों की लिस्ट इन राज्यों को दी ई है. 

एनआई के इस खुलासे के बाद इस बात की आशंका जताई जा रही है कि ये आतंकी संगठन किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के फिराक में हो सकती है. इसकी सच्चाई का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने पिछले दस साल में आईएसआईएस, जेहादी कार्रवाई, टेरर फंडिंग समेत कई मामलों की जांच की है उसमें 90 प्रतिशत दोषी करार दिए गए हैं. ऐसे में एनआईए का ये खुलासा बड़ी आतंकी गतिविधियों को उजागर करती है. इस दौरान डीजी वाईसी मोदी ने ने बताया कि नए एनआईए ऐक्ट से मौजूदा वक्‍त में काफी लाभ मिल रहा है.

NSA अजित डोवल ने पाक को लगाई लताड़

वहीं राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवल ने कहा है कि आतंकियों की मदद करना पाकिस्‍तान की स्‍टेट पॉलिसी है. अजित डोभाल ने कहा कि कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ NIA ने जबरदस्त काम किया है. जम्‍मू-कश्‍मीर में आतंकवाद के खिलाफ एनआइए की कार्रवाई बाकी एजेंसियों से प्रभावी रही है. अगर कोई देश आतंकियों की मदद करता है तो ये बड़ी चुनौती है. कुछ देशों को इस काम में मास्‍टरी हासिल है. पाकिस्‍तान की तो ये स्‍टेट पॉलिसी है.

आतंकी संगठन को लेकर दी गई जानकारी के वक्त राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने पाकिस्तान का नाम इसलिए लिया, क्योंकि टेरर फंडिंग के मसले पर पड़ोसी मुल्क एक बार फिर ब्लैकलिस्ट होने की कगार पर है. डोवल ने बताया कि पाक पर जो दबाव बन रहा है वो FATF की कार्रवाई के चलते बना है. 

कोलकाता में ब्लास्ट की धमकी

हाल ही में कोलकाता में सीरियल ब्लास्ट की धमकी भरा पत्र हाथ लगा था. इस पत्र के मिलने के बाद से हड़कंप मच गया था. आशंका जताई जा रही थी कि इसके पीछे कोई आतंकी संगठन सक्रिय हो सकता है. इस मसले पर हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल आर सामंत ने केंद्रीय गृह सचिव को पत्र भी लिखा था. अब ऐसे में बांग्लादेशी आतंकी संगठन के सक्रिय होने की खबर से इसके तार जुड़ने की संभावना बढ़ जाती है.

वहीं NIA के आईजी आलोक मित्‍तल ने बताया कि टेरर फंडिग के मुख्य मामले में जम्मू-कश्मीर के संगठनों के मुख्य और बड़े अलगाववादी नेताओं के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया गया है. जानकारी के अनुसार आरोपियों में से किसी को भी बेल नहीं मिली है. 

उन्होंने बताया कि एजेंसी ने अपनी जांच में पाया है कि सभी आरोपियों की फंडिंग के पीछे पाकिस्‍तान का हाथ है. पाकिस्तानी उच्चायोग हवाला के जरिए फंडिंग करता था. ऐसे में पाकिस्तान का असल चेहरा अब बेनकाब हो चुका है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने पाकिस्तान ते नापाक मंसूबों का भांडाफोड़ कर दिया है. पाकिस्तान को FATF ब्लैकलिस्ट करने वाला है, ऐसे में उसकी कोई भी चालाकी खुद उसके लिए ही परेशानी की वजह बन सकती है.