• पूरी दुनिया में कोरोना से 1201964 लोग प्रभावित, अब तक 64727 लोगों की मौत हुई,246638 लोग रोगमुक्त हुए
  • भारत में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 3374, इसमें से 79 लोगों की मौत हुई, 267 इलाज के बाद ठीक हुए
  • महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा 490 मरीज, 24 लोगों की मौत हुई, 42 लोग ठीक हुए
  • तमिलनाडु में कोरोना से 411 लोग प्रभावित, 2 की मौत, 6 लोग ठीक हुए
  • केरल में अब तक 295 लोगों को हुआ कोरोना, 2 की मौत हो चुकी है, 41 इलाज के बाद ठीक हुए
  • दिल्ली में कोरोना के 445 मरीज, 6 की मौत, 15 लोग ठीक हुए, मध्य प्रदेश में कोरोना से 155 लोग संक्रमित, 9 लोगों की मौत
  • यूपी में कोरोना के 174 मरीज, 19 लोग ठीक हुए, 2 लोगों की मौत
  • राजस्थान में कोरोना के 200 मरीज, 21 लोग इलाज के बाद ठीक हुए, अभी तक एक भी मौत नहीं
  • तेलंगाना में कोरोना के 158 मरीज, 7 लोगों की मौत, मात्र 1 ही इलाज के बाद ठीक हुआ
  • कर्नाटक में कोरोना के 128 मरीज और आंध्र प्रदेश में 161 लोगों में कोरोना वायरस का असर

निर्भया के दोषियों की फांसी से बचने की कोशिश नाकाम, 1 फरवरी को फांसी तय

निर्भया के दोषियों की फांसी से बचने की एक और कोशिश नाकाम हो गयी है. दोषी आरोप लगा रहे थे कि उन्हें जेल प्रशासन दस्तावेज मुहैया नहीं करा रहा है. इस पर अदालत ने कोई भी आदेश देने से मना कर दिया है.  

निर्भया के दोषियों की फांसी से बचने की कोशिश नाकाम, 1 फरवरी को फांसी तय

दिल्ली: निर्भया के दोषी फांसी से बचने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं और हर बार निर्भया के दोषियों को हार का मुंह देखना पड़ रहा है. इस कड़ी में शुक्रवार को निर्भयाकांड के चार में से तीन दोषियों विनय, पवन और अक्षय ठाकुर ने कोर्ट का रुख किया और कहा कि अब तक तिहाड़ जेल प्रशासन ने उनको दस्तावजे नहीं मुहैया कराए हैं. हालांकि इस बार भी उनको निराशा हाथ लगी है और अदालत ने कोई भी आदेश देने से इनकार कर दिया है. 

बचे हुए कानूनी विकल्प के लिए मांगे थे दस्तावेज

वकील ने शुक्रवार को अदालत में कहा कि जेल प्रशासन को आदेश दिए जाएं कि वह उचित कागज दें और प्रदान करें. उनका कहना है कि ताकि वह फांसी की सजा पाए दोषियों को बाकी के कानूनी विकल्प उपलब्ध करा सके. मतलब साफ है कि वह अभी भी बचने की ही योजना बना रहे हैं.  पटियाला हाउस कोर्ट के समक्ष दायर की गई अपनी याचिका में वकील ने विनय शर्मा की दया याचिका दायर करने और विनय शर्मा, पवन कुमार गुप्ता व अक्षय कुमार सिंह के लिए दस्तावेजों के अनुरोध के संबंध में अदालत के तत्काल आदेशों की मांग की थी.

अब किसी तरह के निर्देश की जरूरत नहीं- अदालत

निर्भया मामले में दोषी अक्षय, विनय और पवन की अर्जी का पटियाला हाउस कोर्ट ने निपटारा कर दिया. कोर्ट ने कहा कि अब इस मामले में कोई निर्देश की जरूरत नहीं है. दोषयों की मांग पर तिहाड़ जेल प्रशासन ने वो सभी दस्तावेज मुहैया करा दिए हैं, जो दोषियों ने मांगे थे. जेल प्रशासन ने कोर्ट को बताया कि उनके पास दोषयों से संबंधित अब कोई दस्तावेज मौजूद नहीं है.

खारिज हो चुकी हैं कई याचिकाएं

आपको बता दें कि निर्भया मामले में दोषी एक-एक करके अपनी याचिकाएं दायर कर रहे हैं. इससे उनकी फांसी की तारीख आगे बढ़ रही है. निर्भया की मां ने भी इस पर आपत्ति जताई थी. उन्होंने कहा था कि जो दोषी चाहते हैं वही हो रहा है. तारीख पर तारीख मिल रही है. इसके पहले अदालत से दोषी की क्यूरेटिव याचिका, पुनर्विचार याचिका और राष्ट्रपति से दया याचिका खारिज हो चुकी है. पहले जारी डेथ वॉरंट के अनुसार चारों को इसी माह फांसी होने वाली थी, लेकिन कानूनी पेंच के कारण दूसरा डेथ वॉ़रंट 1 फऱवरी के लिए जारी किया गया है. 

ये भी पढ़ें- निर्भया के दरिंदों को सजा-ए-मौत देने आ रहा है 'पवन जल्लाद'