• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,64,944 और अबतक कुल केस- 7,42,417: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 4,56,831 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 20,642 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 61.13% से बेहतर होकर 61.53% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 16,883 मरीज ठीक हुए
  • डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में प्रति दस लाख आबादी पर सबसे कम मामले हैं
  • स्वस्थ होने वालों की संख्या करीब 4.4 लाख, संक्रमितों और ठीक होने वालों की संख्या का अंतर 1.8 लाख से अधिक
  • आईसीएमआर: पिछले 24 घंटे में 2.41+ लाख नमूनों की जांच की गई, कुल परीक्षणों की संख्या 1.02 करोड़ के पार
  • फिल्म निर्माण शुरू करने को लेकर सरकार जल्द ही एसओपी की घोषणा करेगी, ताकि फिल्म निर्माण में फिर से तेजी लाई जा सके
  • सीबीएसई ने छात्रों को दी बड़ी राहत, कक्षा 9वीं से 12वीं का सिलेबस घटाया गया
  • एमएचआरडी: यूजीसी और स्वयं के द्वारा "इंटरनेशनल बिजनेस" में मुफ्त ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध है
  • विश्व बैंक ने गंगा के कायाकल्प हेतु ‘नमामि गंगे कार्यक्रम’ में आवश्यक सहयोग बढ़ाने के लिए 400 मिलियन डॉलर प्रदान किए

नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर को जदयू से किया निष्कासित

कई दिनों से पार्टी के खिलाफ बयानबाजी कर रहे प्रशांत किशोर को जदयू ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते बाहर का रास्ता दिखा दिया है.

 नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर को जदयू से किया निष्कासित

पटना: कई दिनों से जदयू पर आक्रामक बयानबाजी करने वाले प्रशांतकिशोर को जदयू से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है. खुद पार्टी अध्यक्ष नीतीश कुमार ने उन्हें पार्टी से निकालने का फैसला किया. आपको बता दें कि कल ही नीतीश कुमार ने कहा था कि अगर उन्हें कहीं और जाना है तो जा सकते हैं, यदि जदयू में रहना है तो इसकी विचारधारा और अनुशासन के हिसाब से चलना होगा. बता दें कि नागरिकता कानून पर समर्थन करने के कारण पीके कई दिनों से नीतीश आर जदयू पर हमलावर थे.

नीतीश पर निशाना साध रहे थे प्रशांतकिशोर

पीके ने ट्वीट में लिखा था कि पार्टी में शामिल होने को लेकर नीतीश कुमार ने इस तरह का झूठ बोला है. पीके ने लिखा कि मेरा रंग आपका जैसा नहीं है. अगर आप सच बोल रहे हैं तो कौन भरोसा करेगा कि आपके पास इतनी हिम्मत होगी कि आप अमित शाह की बात नहीं मानेंगे. बता दें कि नीतीश कुमार ने कहा था कि उन्होंने प्रशांत किशोर को अमित शाह के कहने पर जदयू में शामिल किया था.

प्रशांत किशोर और नीतीश कुमार के बीच पहले से विवाद

उल्लेखनीय है कि कि प्रशांत किशोर लगातार ट्विटर के जरिए नागरिकता संशोधन एक्ट के मसले पर पार्टी के फैसले पर सवाल खड़े कर रहे थे. इसके साथ ही दिल्ली में BJP और JDU के गठबंधन पर भी प्रशांत किशोर ने निशाना साधा था. इसी मसले पर जब नीतीश कुमार से सवाल हुआ था तो उन्होंने कहा था कि अगर कोई ट्वीट कर रहा तो करने दीजिए, किसी को पार्टी से जाना है तो वो जा सकता है. अगर उन्हें पार्टी में रहना है तो पार्टी क अनुशासन में रहना होगा.

अजय आलोक ने कहा कोरोना वायरस

जदयू नेता अजय आलोक ने कहा, 'यह (प्रशांत किशोर) आदमी भरोसेमंद नहीं है. वह मोदी जी और नीतीश जी का भरोसा नहीं जीत सका. वह AAP के लिए काम करते हैं, राहुल गांधी से बात करते हैं, ममता दीदी के साथ बैठते हैं. कौन उस पर भरोसा करेगा? हमें खुशी है कि यह कोरोना वायरस हमें छोड़ रहा है, वह जहां चाहे वहां जा सकते हैं.'

ये भी पढ़ें- जानिये बिहार की राजनीति में कैसे आ गया 'कोरोना वायरस' ?