close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जब नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी ने ये बोला, तो कोसने वालों के मुंह पर ताला

नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुलाकात के बाद देश की अर्थव्यवस्था के नाम पर अपनी छाती पीटने वालों की जुबान पर ताला लग गया है. इतना ही नहीं अभिजीत ने इस दौरान ये तक बोल दिया कि अब वो मीडिया के चक्कर में नहीं पड़ने वाले है.

जब नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी ने ये बोला, तो कोसने वालों के मुंह पर ताला
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी

नई दिल्ली: नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुलाकात हुई. जिसके बाद बातों के बाजार पर फुलस्टॉप लगता दिखाई दे रहा है. नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के मायने बेहद संजीदा हैं. मुलाकात की तस्वीरें अभिजीत बनर्जी के बहाने सोशल मीडिया पर बीजेपी सरकार को कोसने वालों के मुंह पर ताला लगाने के लिए काफी है.

मुलाकात हुई, क्या बात हुई?

मुलाकात के दौरान अभिजीत बनर्जी और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच अर्थव्यवस्था, रोजगार, जीडीपी जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई. मुलाकात के बाद अभिजीत बनर्जी ने मोदी के बारे में जो कहा उस पर गौर करना बेहद जरूरी है. क्योंकि पिछले कई दिनों से अभिजीत के एक बयान के बाद मोदी विरोधियों की चांदी हो गई थी. वो सोशल मीडिया के जरिए पीएम पर खूब निशाना साधते रहे हैं.

अभिजीत ने ऐसा क्या बोल दिया?

नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी ने देश के प्रधानमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि 'पीएम के साथ मुलाकात का सौभाग्य मिलने से मैं कृतार्त हूं. ये पीएम का बड़प्पन है कि उन्होंने मुझे इतना वक्त दिया. भारत के बारे में उनकी क्या सोच है इसपर उन्होंने मुझसे बातचीत की. पीएम की सोच बिल्कुल अद्वितीय है. देश के विकास को लेकर उनकी एक सोच है और उस सोच के पीछे उनकी नीति है.'

उनसे मीडिया ने जब एक बयान का जिक्र करके पूछा कि आपने भारतीय अर्थव्यवस्था पर ऐसी गंभीर टिप्पणी क्यों की थी? तो उन्होंने बड़ा ही दिलचस्प जवाब दिया. उन्होंने बोला कि मैं मीडिया के फेंके जाल में नहीं फंसूंगा क्योंकि मुझे पीएम ने पहले ही आगाह कर दिया है.

 अभिजीत यहीं नहीं रूके प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ में उन्होंने ये भी कह दिया कि वह देश के बारे में जो कुछ भी सोचते हैं वो बिल्कुल अलग है. इस मुलाकात के लिए उन्होंने पीएम का आभार भी जताया.

क्या है माजरा?

आपको याद दिला दें, कि अभिजीत बनर्जी ने नोबेल मिलने के बाद भारत की अर्थव्यवस्था पर चिंता जताई थी और कहा था कि बैंकिंग क्षेत्र का संकट बेहद गंभीर और भयावह है. उन्होंने इसमें बदलाव का भी सुझाव दिया था. जिसके बाद अर्थ का अनर्थ निकालते हुए कई ट्रोलर्स सोशल मीडिया पर पीएम को कोसने लगे. अभिजीत ने आज जो बयान दिया उसके बाद ऐसे लोगों की जुबान पर ताला लगना तय है.

पीएम ने ट्वीट कर की तारीफ

वहीं मोदी ने भी मुलाकात के बाद ट्वीट कर अभिजीत बनर्जी की जमकर तारीफ की. मोदी ने ट्वीट किया कि 'नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी के साथ अच्छी मुलाकात हुई. मानवीय विकास के प्रति उनका जुनून साफ दिखाई देता है. हमने तमाम विषयों पर स्वस्थ और व्यापक बातचीत की. भारत को उनकी उपलब्धियों पर गर्व है. उनके भविष्य के प्रयासों के लिए उन्हें शुभकामनाएं.'

इससे पहले अर्थशास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार मिलने पर पीएम नरेंद्र मोदी ने अभिजीत बनर्जी को ट्वीट कर बधाई दी थी. पीएम मोदी ने कहा था कि अभिजीत बनर्जी ने गरीबी को दूर करने की दिशा में अहम काम किया है. दिलचस्प ये है कि अर्थशास्त्र में नोबेल जीतने वाले अभिजीत बनर्जी और पीएम मोदी की मुलाकात ऐसे वक्त में हुई है जब देश की अर्थ व्यवस्था को लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर हमले कर रहा है. अर्थशास्त्रियों ने भी लगातार कम होती विकास दरों पर चिंता जताई है. लेकिन अभिजीत बनर्जी का साफ कहना है कि पीएम मोदी जमीनी हालात सुधारने के लिए प्रशासनिक रिफॉर्म कर रहे हैं.