मौसम की दुहरी मार : कड़क सर्दी के बाद अब कड़क गर्मी

पड़ सकती है मौसम की दुहरी मार. मौसम विशेषज्ञों का यह पूर्वानुमान डरावना है कि इस बार की कड़क सर्दी झेलने के बाद अब हमें तैयार हो जाना चाहिए इतनी ही कड़क गर्मी के स्वागत के लिए !  

मौसम की दुहरी मार : कड़क सर्दी के बाद अब कड़क गर्मी

नई दिल्ली. बताया जा रहा है कि ये 44 शहरों का शोध है जिसमें 16 साल के अध्ययन का अनुभव झोंका गया है. इस शानदार मिक्स वाले पूर्वानुमान ने मौसम का जो हाल बताया है वह बहुत डरावना है. इन मौसम विशेषज्ञों का मानना है कि जैसी कड़ाके की ठंड  इस बार पड़ी थी, उतनी ही भयंकर गर्मी के आसार अब नज़र आ रहे हैं.

 

पड़ सकता है गर्मी का कहर

नवंबर दिसंबर और जनवरी का आधा हिस्सा कड़कीली सर्दियों की मार के साथ गुजरा है. अब ज्यों ही थोड़ा मौसम ने गरमाना शुरू किया है ऐसा लगने लगा है कि गर्मियां कुछ ज्यादा तेज़ी से आएंगी. 13 फरवरी का तापमान जो रिकार्ड किया गया है वह अन्य दिनों के मुकाबले कुछ ज्यादा ही महसूस हुआ है.  संभावना ये जताई जा रही है कि 2020 की गर्मियां पुराने सभी रिकॉर्ड तोड़ सकती है.

 

शहरों में ज्यादा गर्मी होगी 

विशेषज्ञों की रिसर्च और उनकी ओर से दिए गए लगातार सन्देश बता रहे हैं कि अब भारतीय गांवों की अपेक्षा शहरों में ज्यादा गर्मी बढ़ रही है. देश के गांवों की तुलना में शहर अधिक गर्म होते जा रहे हैं. इसे वैज्ञानिक भाषा में अर्बन हीट आइलैंड कहा जाता है. अर्बन हीट आइलैंड को लेकर यह खुलासा आईआईटी खड़गपुर के शोधकर्ताओं ने किया. इस शोध में उनको 16 साल तक देश के 44 शहरों का अध्ययन करना पड़ा है. आईआईटी का अलर्ट है कि अब आने वाली गर्मी भविष्य के लिए बहुत बड़ा खतरा हो सकती है. ऐसी हालत में हरियाली वाले शहरों में,  जैसे कि पुणे, कोलकाता, गुवाहाटी में गर्मी की मार से थोड़ी राहत रहेगी.

ये भी पढ़ें. देश की अर्थव्यवस्था के लिए अब छोटे शहरों पर ध्यान : पीएम मोदी