ऑड-ईवनः पहला हफ्ता पूरा, आज से तीन दिन नियम से छूट

प्रदूषण की मार को देखते हुए दिल्ली सरकार ने ऑड-ईवन योजना को लागू किया था. 4 नवंबर से शुरू हुई यह योजना अब अपना पहला हफ्ता पूरा कर चुकी है. इस दौरान बड़ी संख्या में चालान काटे हैं. ऑड-ईवन के पहले दिन 4 नवंबर को 271 चालान किए गए थे.अब अगले हफ्ते बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को ऑड-ईवन का पालन करना होगा.

ऑड-ईवनः पहला हफ्ता पूरा, आज से तीन दिन नियम से छूट

नई दिल्लीः भारी प्रदूषण के बीच देश की राजधानी में शुरू हुए ऑड-ईवन का पहला हफ्ता पूरा हो गया है. 4 नवंबर से शुरू की गई इस योजना के तहत पहले शुरुआती 6 दिनों में 3 हजार से ज्यादा चालान काटे गए. ऑड-ईवन के दौरान डीटीसी बसों में सफर करनेवालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई, जो कि 42 लाख तक पहुंच गई है. बसों में सफर करने वाली महिला यात्रियों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है. यह 40 फीसदी तक हो गई है, जबकि पहले 30-32 फीसदी ही रहती थी. इस दौरान सबसे ज्यादा चालान ट्रैफिक पुलिस ने किए हैं. 

ऑड-ईवन के नियम का उल्लंघन करने पर 4 हजार रुपये का चालान किया जाता है. सोमवार से शनिवार तक 3000 से ज्यादा चालान किए गए हैं. शनिवार दोपहर 2 बजे तक कुल 3060 चालान किए गए. इसमें ट्रैफिक पुलिस ने 1772 चालान किए हैं. ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट ने 764 और रेवेन्यू डिपार्टमेंट की टीमों ने 524 चालान किए हैं. ऑड-ईवन के पहले दिन 4 नवंबर को 271 चालान किए गए थे. अगले दिन यह संख्या 562 हो गई. छह नवंबर को सबसे ज्यादा 709 चालान किए गए. 7 नवंबर को 694 और 8 नवंबर को 532 चालान किए गए. 9 नवंबर को दोपहर 2 बजे तक 292 चालान किए गए.

अगले तीन दिन ऑड-ईवन नहीं
अब अगले तीन दिन यानी रविवार, सोमवार और मंगलवार को ऑड-ईवन से छूट मिली रहेगी. नियमों के मुताबिक, ऑड-ईवन सोमवार से शनिवार तक लागू होता है. वहीं दिल्ली सरकार ने श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर 11 और 12 नवंबर को ऑड-ईवन से छूट का ऐलान किया है.

ऐसे में अगले तीन दिन तक यह नियम लागू नहीं होंगे. हालांकि इस दौरान निजी बसें चलती रहेंगी. अब अगले हफ्ते बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को ऑड-ईवन का पालन करना होगा. यानी दूसरे हफ्ते में भी सिर्फ 3 दिन ही नियम का पालन करना होगा. 

महिला यात्रियों की संख्या बढ़ी
29 अक्टूबर से दिल्ली सरकार ने बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त सफर की योजना लागू कर दी है. इसके बाद बसों में सफर करने वाली महिलाओं की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. बसों में 30 से 32 फीसदी महिलाएं सफर करती थीं. अब यह संख्या 42 फीसदी तक पहुंच गई है. डीटीसी के साथ-साथ क्लस्टर बसों में भी महिला यात्रियों की संख्या बढ़ रही है. 7 नवंबर को डीटीसी की बसों में 7.88 लाख यानी 42.41 फीसदी महिला यात्रियों ने सफर किया और 8 नवंबर को 1800 से ज्यादा क्लस्टर बसों में महिला यात्रियों की संख्या 39.61 फीसदी रही. 8 नवंबर को डीटीसी की 3638 और 1800 क्लस्टर बसों के साथ 604 प्राइवेट बसें भी चलीं.

प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, बोली-आप काम नहीं कर सकते तो यहां क्यों हैं