close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

4 नवंबर से दिल्ली में ऑड ईवन! जानिए- किसे मिलेगी छूट?

दिल्ली की सत्ता संभालने के करीब एक साल बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऑड ईवन लागू करके एक एक्सपेरिमेंट किया था. तीन साल बाद चुनाव से ठीक पहले एक बार फिर ये फॉर्मूला अपनाया जा रहा है. 4 नवंबर से दिल्ली में एक बार फिर ऑड ईवन लागू होने जा रहा है.

4 नवंबर से दिल्ली में ऑड ईवन! जानिए- किसे मिलेगी छूट?

नई दिल्ली: दिवाली के बाद दिल्ली में एक बार फिर ऑड ईवन की वापसी देखने को मिलेगी. राजधानी को गैस चैंबर में तब्दील होने से बचाने के लिए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने ऑड ईवन को लागू करने का फैसला किया है. पिछली बार जब ऑड ईवन लागू हुआ तब कुछ वर्गों को इससे छूट दी गई थी लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस बार कुछ लोगों को मिली छूट कम की जा सकती है.

दरअसल, ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट ने सीएम केजरीवाल को सिफारिशें दी हैं जिसमें कहा गया है कि निजी सीएनजी कारों के बड़े पैमाने पर दुरुपयोग के मामले देखने को मिलते हैं. इसके चलते प्रदूषण खत्म करने के लिए चलाई जाने वाली इस स्कीम का मकसद ही खत्म हो सकता है.

ऐसे में इन कारों को ऑड-ईवन के तहत छूट नहीं दी जा सकती है. पिछले दोनों मौकों पर सीएनजी कारों को ऑड इवन से छूट दी गई थी. ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट ने अपनी सिफारिशों में कहा है कि ट्रैफिक पुलिसकर्मियों को सीएनजी या गैर-सीएनजी कारों की पहचान करने में दिक्कत आती है. ये देखते हुए कहा जा सकता है कि ऑड-ईवन स्कीम में इस बार प्राइवेट सीएनजी कारों को राहत खत्म हो सकती है.

यही नहीं पीक आवर्स के अलावा बाइक को भी मिली छूट खत्म करने पर विचार चल रहा है.

पिछली स्कीमों में दिल्ली सरकार ने सभी टू-वीलर्स को पूरी तरह से छूट दी थी. इस बार टू-वीलर्स को सुबह 8 से 11 बजे और शाम को 5 से 8 बजे तक के लिए ही छूट दी जा सकती है. शहर के पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम पर बहुत दबाव की स्थिति न हो, इसलिए पीक आवर्स में दोपहिया वाहनों को छूट की सिफारिश की गई है. राजधानी में करीब 70 लाख रजिस्टर्ड टू-वीलर हैं.

ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की सिफारिश में पहले की तरह इस बार भी महिला कार चालकों को स्कीम से बाहर रखा जाएगा.

एक अहम सिफारिश दिल्ली सरकार के दफ्तरों में कामकाज 11 बजे से शुरू करने की भी है ताकि पीक आवर्स में ट्रैफिक जाम को कम किया जा सके.

बीजेपी ने दिल्ली के लिए ऑड ईवन को ज़रूरी नहीं बताया तो केजरीवाल ने बीजेपी पर निशाना साधा था. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हाल ही में कहा कि उनसे (भाजपा) हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि हरियाणा पंजाब से पराली का जो धुंआ आता है उसे बंद करा दें.

आपको बता दें कि सीएम अरविंद केजरीवाल ने सर्दियों के मौसम में बीते कई साल से राजधानी में छा जाने वाले स्मॉग से निपटने के मकसद से सितंबर में इस स्कीम को एक बार फिर से लागू किए जाने का ऐलान किया था. माना जाता है कि सर्दियों के मौसम में हवा धीमी होने, पराली जलाने के धुएं और अन्य कई कारणों से स्मॉग छा जाता है. ऐसे में प्रदूषण से निपटने के विंटर ऐक्शन प्लान के तहत केजरीवाल सरकार ने ऑड-ईवन स्कीम की वापसी का ऐलान किया है.

आपको बता दें कि 4 नवंबर से 15 नवंबर तक राजधानी में ऑड ईवन फॉर्मूला लागू किया जाएगा.

अगर आपकी गाड़ी की नंबर प्लेट का आखिरी नंबर ऑड यानी 1,3,5,7,9 है तो आप महीने की 3, 5, 7, 9, 11,13 और 15 तारीख को ही गाड़ी चला पाएंगे. क्योंकि इन तारीखों में ऑड नंबर की गाड़ियां चलेंगी. और अगर आपकी गाडी का नंबर ईवन यानी 2,4,6,8,0 है तो आप महीने की 4, 6, 8, 10, 12 और 14 तारीख को ही गाड़ी निकाल पाएंगे, क्योंकि इन तारीखों में ईवन नंबर की गाड़ियां चलेंगी.

इससे पहले 1 जनवरी,2016 से दिल्ली में पहली बार 15 दिन के लिए ऑड ईवन लागू किया गया था जबकि 15 अप्रैल 2016 से दोबारा 15 दिन के लिए लागू किया गया था.