• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 1,10,960 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 2,26,770: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 1,09,462 जबकि अबतक 6,348 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • अंतर्राष्ट्रीय टीकाकरण गठबंधन के लिए भारत ने 15 मिलियन डॉलर देने का वचन दिया
  • केंद्र ने 4 जून, 2020 को राज्यों / संघ राज्य क्षेत्रों को जीएसटी मुआवजे के तौर पर 36,400 करोड़ रुपया जारी किया
  • कोविड-19 की रोकथाम हेतु MoHFW ने निवारक उपायों पर एसओपी जारी किया
  • ट्यूलिप– सभी यूएलबीऔर स्मार्ट शहरों में नए स्नातकों को अवसर प्रदान करने के लिए शहरी अध्ययन प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत
  • स्वास्थ्य मंत्री ने दिल्ली को आक्रामक निगरानी, ​​संपर्क का पता लगाने और कड़े नियंत्रण कार्यों के साथ जांच बढ़ाने की आवश्यकता जोर
  • आइए कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई को मजबूत करें और सरकार द्वारा जारी किए गए सभी दिशानिर्देशों का पालन करें
  • मनरेगा के तहत मजदूरी और सामग्री दोनों के ही लंबित बकाये को समाप्त करने के लिए राज्यों को 28,729 करोड़ रुपये जारी किए गए
  • पीएमजीकेपी के तहत (02.06.2020 तक): चालू वित्तीय वर्ष में 48.13 करोड़ मानव कार्य-दिवस के रोजगार का सृजन

11 अप्रैल को पीएम मोदी मुख्यमंत्रियों से करेंगे बात, लॉकडाउन पर हो सकता है फैसला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11 अप्रैल देश के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे. माना जा रहा है कि इस दौरान प्रधानमंत्री मुख्यमंत्रियों से उनके राज्य में लॉकडाउन की स्थिति का जायजा लेंगे, साथ ही लॉकडाउन हटाने संबंधी निर्देश भी दिए जा सकते हैं. 

11 अप्रैल को पीएम मोदी मुख्यमंत्रियों से करेंगे बात, लॉकडाउन पर हो सकता है फैसला

नई दिल्लीः कोरोना वायरस को लेकर भारत चौमुखी जंग लड़ रहा है. हर स्तर पर कठिन और मुस्तैदी से लड़ाई लड़ी जा रही है. पूरे मामले पर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नजर बनाए हुए हैं. इस कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11 अप्रैल देश के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे.

माना जा रहा है कि इस दौरान प्रधानमंत्री मुख्यमंत्रियों से उनके राज्य में लॉकडाउन की स्थिति का जायजा लेंगे, साथ ही लॉकडाउन हटाने संबंधी निर्देश भी दिए जा सकते हैं. कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन लगाया गया था, जिसकी अवधि 14 अप्रैल को समाप्त हो रही है. 

लॉकडाउन को लेकर होगा फैसला
कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब देशवासियों में लॉकडाउन को लेकर चर्चा जोरों पर है. हालांकि केंद्र सरकार की तरफ से लॉकडाउन को बढ़ाने को लेकर अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है, लेकिन ऐसी संभावना जताई जा रही है कि इस पर आखिरी फैसला शनिवार को लिया जा सकता है.

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट पर विचार करने के लिए दूसरी बार राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है. बैठक 11 अप्रैल शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होगी. 

विपक्ष नेताओं और अफसरों से की बात
इससे पहले प्रधानमंत्री ने आज (बुधवार को) विपक्ष के नेताओं और राज्यों के अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिग की थी. इस दौरान प्रधानमंत्री ने संकेत दिए कि संक्रमण को रोकने के लिए देश में लॉकडाउन 14 अप्रैल के बाद भी जारी रह सकता है. बैठक में शामिल रहे बीजद सांसद पिनाकी मिश्रा ने दावा किया है कि प्रधानमंत्री ने स्पष्ट किया है कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन एक बार में नहीं खोला जाएगा. 

सीएम योगी का सख्त एक्शन, नोएडा लखनऊ समेत 15 जिलों के कोरोना हॉटस्पॉट इलाके सील

मेडिकल सहायता की रखी मांग
बैठक में नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी के सामने पांच मांगें रखीं. इसमें कोरोना टेस्ट को मुफ्त में करने, राज्यों को बकाया देने, राहत पैकेज को जीडीपी के एक फीसदी से बढ़ाकर पांच फीसदी करने, राज्य एफआरबीएम राजकोषीय सीमा को तीन से बढ़ाकर पांच फीसदी करने और पीपीई समेत सभी मेडिकल इक्विपमेंट को मुहैया कराने की मांग की गई.

नोएडा सेक्टर-8 की झुग्गी में मिले 200 कोरोना संदिग्ध, सभी को किया क्वारंटाइन

पीएम लगातार कर रहे हैं बातचीत
25 मार्च को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बाद विपक्ष सहित फ्लोर के नेताओं के साथ प्रधानमंत्री की यह पहली बातचीत है. इससे पहले प्रधानमंत्री ने इस मुद्दे पर दो अप्रैल को देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की थी. इसके अलावा वह डाक्टरों, पत्रकारों, विदेशों में भारतीय मिशनों के राजनयिकों सहित विभिन्न पक्षकारों से बातचीत कर चुके हैं.