पंजाब में आग लगाने के लिए पाकिस्तान ने कराई खालिस्तानी आतंकियों की बैठक

पाकिस्तान ने पंजाब को आग में झोंकने के लिए नई साजिश रची है. खुफिया एजेन्सियों ने खबर दी है कि पाकिस्तान में खालिस्तानी आतंकवादियों की बैठक कराई गई है. जिसमें पंजाब में मौजूद आतंकियों को कैसे हथियार भेजा जाए. इसपर चर्चा हुई है.   

पंजाब में आग लगाने के लिए पाकिस्तान ने कराई खालिस्तानी आतंकियों की बैठक

नई दिल्ली: कश्मीर में मुंह की खाने के बाद पाकिस्तान ने पंजाब में आग भड़काने की कोशिश शुरु कर दी है. खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट है कि पाकिस्तान ने अपनी सरजमीं पर खालिस्तानी आतंकवाद को हवा देने की पूरी तैयारी कर ली है. 

एजेन्सियों को किया गया सतर्क
पाकिस्तान में खालिस्तान समर्थित आतंकियों के बीच हुई बड़ी बैठक में भारत में आतंकी गतिविधियों को बढ़ाने का फैसला किया गया. खुफ़िया एजेंसियों को शक है कि पंजाब में आतंकी हमले के लिए पाकिस्तान के जरिये हथियारों की सप्लाई की कोशिशें तेज़ हो सकती हैं. 

ऐसी खबर मिली है कि आतंकी गुट बब्बर खालसा और खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स अपने पाकिस्तानी हैंडलरों के जरिये पंजाब में हथियारों की स्मगलिंग कराने की कोशिश में जुटे हुए हैं. इसके अलावा राजस्थान और हरियाणा में भी खालिस्तान समर्थित गुटों की मूवमेंट देखी गई है. 

ख़ुफ़िया एजेन्सियों से इनपुट हासिल होने के बाद सरकार ने BSF, NIA, RAWऔर IB से खालिस्तान समर्थक आतंकियों से जुडी गतिविधियों पर कड़ी नज़र बनाए रखने का आदेश दिया है. 

पाकिस्तान के आतंकी कैंपों के बारे में जुटाई जा रही है जानकारी
सरकार ने सुरक्षा एजेन्सियों को आदेश दिया है कि पंजाब से सटे पाकिस्तान सीमा के आस पास सक्रिय स्मगलरों और आपराधिक गुटों पर निगरानी बढ़ा दी जाए. जिससे हथियारों की स्मगलिंग की किसी भी कोशिश को नाकाम किया जा सके. 

इसके अलावा ख़ुफ़िया एजेंसियां पाकिस्तान में मौजूद आतंकी कैंपो के बारे में भी जानकारी जुटाने में लगी हुई हैं. जहां पर खालिस्तानी आतंकियों को भारत पर हमले करने की ट्रेनिंग दी जा रही है.

सोशल मीडिया पर दी जा रही है आतंकवाद की ट्रेनिंग
4 दिसंबर को खुफिया सूत्रों के हवाले से खबर मिली थी कि पाकिस्तान भारत में बड़े आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए पंजाब में खालिस्तान समर्थित आतंकियों को ऑनलाइन ट्रेनिंग दे रहा है. खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई प्लान K2 (कश्मीर-खालिस्तान नेक्सस) के तहत भारत में आतंकी हमलों की योजना बनाकर उसे अंजाम देने की फिराक में है.

इस रिपोर्ट से यह भी संकेत मिलते हैं कि पंजाब में खालिस्तान समर्थित तत्व सोशल मीडिया पर एक्टिव हैं और वह पाकिस्तान आधारित आतंकी इकाई से ऑनलाइन ट्रेनिंग ले रहे हैं जिसमें विस्फोटक निर्माण योजना और आतंकी हमले को अंजाम देना भी शामिल हैं. 

ड्रोन से हथियारों की सप्लाई की कोशिश
पाकिस्‍तान पंजाब में माहौल खराब करने के लिए पंजाब में मानव रहित ड्रोन (Drone) के जरिए हथियारों की सप्लाई कर रहा है. आपराधिक गतिविधियों को अंजाम देने के लिए पंजाब के युवाओं का ही इस्तेमाल किया जा रहा है. हाल ही में खालिस्तान समर्थन दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है, जिन्होंने कई अहम खुलासे करके पुलिस और जांच एजेंसियों की नींद उड़ा दी है.   

अमृतसर में काउंटर इंटेलिजेंस डीएसपी बलबीर सिंह ने बताया कि 22 सितंबर को खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के 4 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया था. आतंकवादियों से पूछताछ में पता चला कि 2 पाकिस्तानी ड्रोन अमृतसर जिले में दुर्घटनाग्रस्त हो गए हैं. खोजबीन करने पर ड्रोन के कुछ हिस्सों को बरामद किया गया है. बरामद ड्रोन की वहन क्षमता 5-6 किलोग्राम है.

इन ड्रोन्स के जरिए हथियारों की सप्लाई की जा रही थी.