अयोध्या की आड़ में पाकिस्तान ने रची दिवाली पर देश को दहलाने की साजिश

अयोध्या की आड़ में पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने दिवाली के मौके पर भारत देश को दहलाने का षड्यंत्र तैयार कर रहा है. उत्तर प्रदेश के के गोरखपुर में 5 संदिग्ध आतंकी दिवाली पर कुछ धमाके की बात करते दिखे. इस जानकारी के बाद देशभर में खुफिया सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है.

अयोध्या की आड़ में पाकिस्तान ने रची दिवाली पर देश को दहलाने की साजिश

नई दिल्ली: सैकड़ों साल पुराना वो केस जिसके फैसले का पूरा देश बड़ी ही बेसब्री से इंतजार कर रहा है. वो विवाद जो ना सिर्फ एक जमीन का है, बल्कि धर्म और आस्था से जुड़ा संवेदनशील मसला है. यहां हम राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद के बारे में बता रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी होने के बाद से पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की नापाक साजिश की बू आ रही है.

खुफिया रिपोर्ट्स के हवाले से ये जानकारी मिली है कि अयोध्या के आड़ में पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान हिंदुस्तान पर आतंकी हमले की साजिश रच रह है. खबर ये भी है कि इस हमले को लेकर देश की राजधानी दिल्ली और उत्तर प्रदेश निशाने पर है. और इसके तहत सुरक्षाबलों के कई ट्रेनिंग सेंटर को भी निशाना बनाने का प्लान किया जा रहा है. दिवाली पर देश को दहलाने की आतंकियों की साजिश बेनकाब हो गई है. 

लगतार मिल रहे हैं संकेत

आज ही यूपी ATS समेत सभी जांच एजेंसियां हाई अलर्ट पर हैं. दरअसल, उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में 5 संदिग्ध आतंकियों के देखे जानी की सूचना मिली है. बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले एक शख्स ने इन पांच संदिग्ध आतंकियों की बात सुनी थी, जो एक सफेद कार के पास खड़े होकर बात कर रहे थे. इन पांचों ने ये प्लान बनाया था कि नेपाल के रास्ते से होकर वो दिल्ली में इकट्ठा होने वाले हैं. बताया जा रहा है कि इनके हाव-भाव से ऐसा आभास हो रहा था कि ये किसी बड़े साजिश की चर्चा कर रहे हो. 

बातचीत में आतंकियों ने कही ये बात

बातचीत में आतंकियों ने कहा कि 'इस बार की दिवाली काफी धमाकेदार होगी पूरा हिंदुस्तान देखेगा और याद रखेगा'. इसके साथ ही आतंकियों ने आपसी बातचीत में कहा कि दिल्ली में कश्मीर के कुछ लड़के भी मिलेंगे. खुफिया सूत्रों के मुताबिक इस जानकारी के बाद सभी एजेंसियों को आगाह किया गया है और मुश्तैदी के साथ तैनात रहने का आदेश जारी किया गचा है.

पंजाब के तारन में भी दिखे संदिग्ध

तरनतारन में भी आधी रात को तीन संदिग्ध आतंकियों के देखे जाने की खबर सामने आई है. हाई-अलर्ट के बाद पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चलाया. और सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट जारी कर दिया गया है. आपको याद दिला दें, हाल ही में कई बार पाकिस्तान में ड्रोन से हथियार सप्लाई करने की भी खबर आती रही है.

हरामी नाला से मिल रही हैं पाकिस्तानी नौका

गुजरात के कच्छ इलाके में एक नहीं दो नहीं बल्कि बार-बार पाकिस्तानी नांव मिली है. हाल ही में 5 नौका को सुरक्षाबलों ने जब्त कर आतंकियों के घुसपैठ की आशंका जताई थी. हरामी नाला के पास अगस्त, सितंबर और अक्टूबर तीनों महीने में ऐसी कई नौका को जब्त किया जा चुका है. माना जा रहा है कि समुद्री रास्तों का सहारा लेकर आतंकी घुसपैठ की लगातार कोशिश कर रहे हैं. चारों चरफ से घुसपैठ और आतंकी गतिविधियों को देखते हुए ये कहा जा रहा है कि नापाक इरादों वाले ये संदिग्ध दिवाली के मौके पर किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक में हैं.

स्लीपर सेल हुए सक्रिय

बताया ये भी जा रहा है कि रिपोर्ट्स के अनुसार ये बात सामने आई है कि आतंकवादी नेपाल और बांग्लादेश के रास्ते भारत में घुसपैठ की तैयारी में जुटे हैं. बताया जा रहा है कि इस प्लान को देखते हुए आतंकियों की मदद करने वासे कई स्लीपर सेल भी सक्रिय हो गए हैं. 

पश्चिमी यूपी में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के तार

एक दिन पहले ही ये खबर आई थी कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI तेजी से पांव पसारने की कोशिश में जुटी है. इस मामले में मेरठ से एक संदिग्ध को भी दबोचा गया, जिसके पास से कुछ ऐसे दस्तावेज पाए गए जो इस बात की आशंका जता रहे हैं कि गिरफ्तार हुआ शख्स का पाकिस्तान से संबंध था और वो कई अहम जानकारी इधर-उधर करता था. इस कार्रवाई के बाद इस बात का संदेह जताया जा रहा है कि भारत में ISI की जड़े गहरी हो चुकी हैं. ऐसे में यूपी के गोरखपुर से आतंकी गतिविधियों की सूचना इस बात को और भी ज्यादा पुख्ता करती दिखाई दे रही है.

दरअसल, बुधवार को राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद को लेकर देश की सर्वोच्च अदालत यानी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई का दौर पूरा हो चुका है. मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 जजों की पीठ ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है. इस मामले में 8 नवंबर के बाद किसी भी दिन फैसला सुनाया जा सकता है. माना जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट का जजमेंट 8 नवंबर से 17 नवंबर के बीच आएगा. इसके पीछे ये वजह बताई जा रही है कि 17 नवंबर को CJI रंजन गोगोई का कार्यकाल समाप्त हो जाएगा. ऐसे में फैसला 17 नवंबर के पहले ही सुनाया जाएगा. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ ने मामले में 40 दिन तक सुनवाई की.

खुफिया एजेंसियों को मिली जानकारी के मुताबिक, अयोध्या मामले पर संभावित फैसले की आड़ में और दिवाली को देखते हुए पाकिस्तान भारत में आतंकी हमले की साजिश रच रहा है. जिसे लेकर एजेंसियों ने अलर्ट भी जारी कर दिया है.