पठानकोट पार्ट-2 की तैयारी में जैश! दिल्ली के मौलाना को हमले की जिम्मेदारी

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद एक बार फिर पठानकोट जैसे हमले को अंजाम देने की फिराक में है, ख़ुफिया सूत्रों के मुताबिक भारतीय सैन्य ठिकानों पर हमले का प्लान है. दिल्ली के मौलाना को सौंपी जिम्मेदारी..

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Oct 20, 2020, 03:30 PM IST
  • पठानकोट पार्ट-2 बड़ी साज़िश, बड़ा खुलासा
  • 5 साल बाद जैश की 'एयर बेस' वाली साज़िश
  • पठानकोट पर बुरी नज़र भारी पड़ेगी आतंकिस्तान
  • दिल्ली में कहां छिपा है साज़िश वाला मौलाना?
  • 'आतंकिस्तान' की हर हरकत पर हिंदुस्तान की नज़र
पठानकोट पार्ट-2 की तैयारी में जैश! दिल्ली के मौलाना को हमले की जिम्मेदारी

नई दिल्ली: जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी एक बार फिर भारत के सैन्य ठिकाने पर हमले की साज़िश रच रहे हैं. सुरक्षा एजेंसियों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक आतंकी एक बार फिर पठानकोट एयरबेस जैसे हमले की साज़िश रच रहे हैं. हालांकि इस बार आतंकियों के निशाने पर राजस्थान के सैन्य ठिकाने हैं..

भारतीय सैन्य ठिकाने पर हमले की साजिश

दरअसल, भारतीय सैन्य ठिकानों पर हमले की बड़ी साज़िश का खुलासा हुआ है. इस खुलासे के अनुसार पठानकोट एयरबेस जैसे हमले की साज़िश को अंजाम देने के लिए जैश के आतंकी तैयारी कर रहे हैं. राजस्थान में वायुसेना के सैन्य ठिकाने पर हमले की साज़िश का प्लान है. सुरक्षा एजेंसियों के हवाले से साजिश की जानकारी हासिल हुई है.

2 जनवरी 2016 को पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकी हमले को 5 साल पूरे होने को हैं. करीब 5 साल बाद पाकिस्तान के पाले हुए आतंकी एक बार फिर वैसी ही साज़िश रच रहे हैं. एक बार फिर भारत के सैनिक ठिकाने पाकिस्तानी आतंकियों के निशाने पर है. भारत की सुरक्षा एजेंसियों के पास इस बात के पक्के सबूत हैं कि जैश-ए-मोहम्मद भारतीय वायुसेना के सैन्य ठिकानों पर हमले की साज़िश रच रहा है.

जैश और ISI की भारत के खिलाफ साजिश

इस काम में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई उसकी मदद कर रही है. यही वजह है कि आईएसआई ने इस हमले को पूरा करने की ज़िम्मेदारी दिल्ली में रहने वाले अपने एक मौलाना को सौंपी है. सुरक्षा एजेंसियों को इस मौलाना के बारे जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक वो अफगानिस्तान में भी जैश-ए-मोहम्मद के लिए ऑपरेशन संभाल चुका है.

इस बार भारतीय वायुसेना के ठिकाने पर हमले की साज़िश रच रहा है. खबर है कि इस बार इन आतंकियों के निशाने पर राजस्थान में कोई सैन्य ठिकाना है. और इस हमला भी इसी महीने के अंत तक करने की प्लानिंग है. ऐसे में सुरक्षा एजेंसियां मौलाना के बारे में और अधिक जानकारी हासिल करने में जुटी हुई हैं.

2016 में हुआ था पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमला

पंजाब के पठानकोट स्थित एयरबेस पर 2016 में आतंकी हमला हुआ था. यह हमला भी आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने ही किया था. जैश के छह आतंकियों ने वारदात को अंजाम दिया था. लगभग 65 घंटे चले इस ऑपरेशन में देश के 7 वीर सपूत शहीद हो गए थे, जबकि करीब 37 अन्य लोग घायल हो गए थे. अब एक बार फिर कुछ वैसी ही साजिश रची जा रही है.

पठानकोट एयरबेस पर हुए इस हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के संबंधों में तनाव शुरू हुआ, जो उरी में भारतीय सेना के कैंप पर हमले और पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमले के बाद चरम पर पहुंच गया. पाकिस्तान की इन नापाक हरकतों पर सबक सिखाने के लिए भारत ने पहले सर्जिकल स्ट्राइक और फिर एयरस्ट्राइक कर जैश के तमाम आतंकी ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया था. बड़ी संख्या में जैश के आतंकी मारे भी गए थे लेकिन उस मार को भूलकर पाकिस्तान उसी जैश ए-मोहम्मद के साथ मिलकर फिर दहशतगर्दी का प्लान बना रहा है.

पठानकोट का पार्ट-2 मुश्किल नहीं नामुमकिन है

पाकिस्तान चाहे जितनी भी साज़िश कर ले, आतंकिस्तान के हर 'मोहरे' का पक्का इंतजाम होगा. ऐसे में पठानकोट का पार्ट-2 मुश्किल नहीं नामुमकिन है.

40 हज़ार से अधिक आतंकियों का ठिकाना है पाकिस्तान

पाकिस्तान मौजूदा वक्त में 40 हज़ार से अधिक आतंकियों का ठिकाना है. हाफिज से लेकर सलाउद्दीन तक सब पाकिस्तान की ज़मीन पर ही पल रहे हैं. इन आतंकियों में 16 को संयुक्त राष्ट्र तक ने अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित कर रखा है. लेकिन पाकिस्तान और उसके चाहने वाले मुल्क ना सिर्फ इन आतंकवादियों पर मौन रहते हैं. बल्कि जैश-ए-मोहम्मद और जमात-उद-दावा जैसे आतंकी संगठनों का खुलेआम समर्थन भी करते हैं.

लेकिन दुनियाभर में आतंकवाद के ख़िलाफ़ अभियान की अगुवाई करने वाला हिंदुस्तान इन आतंकियों के लिए साक्षात मौत है. और इस सच्चाई का एहसास कराने के लिए सर्जिकल और एयर स्ट्राइक की याद ही बहुत है.

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप, जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें-

Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=en_IN

iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़