• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,26,947 और अबतक कुल केस- 6,04,641: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 3,59,860 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 17,834 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 59.43% से बेहतर होकर 59.51% हुई; पिछले 24 घंटे में 11,881 मरीज ठीक हुए
  • भारत सरकार ने कोविड-19 परीक्षण से जुड़ी बाधाओं को दूर किया और महामारी की रोकथाम के लिए ' टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट ' की रणनीति पर जोर
  • विश्व स्तरीय यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए रेलवे ने यात्री ट्रेन सेवाओं के परिचालन में निजी भागीदारी के लिए RFQ आमंत्रित किया
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना नवंबर 2020 तक प्रभावी रहेगी
  • 80 करोड़ एनएफएसए लाभार्थियों के बीच 200 एलएमटी अनाज वितरित किए जाएंगे
  • 9.78 एलएमटी चना भी लगभग 20 करोड़ परिवारों के बीच वितरित किया जाएगा
  • एमएचआरडी: "स्पोकन ट्यूटोरियल" पर छात्रों के लिए विभिन्न तरह के पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं. ज्यादा जानकारी के लिए क्लिक करें
  • आत्मनिर्भर पैकेज के अंतर्गत 30.06.2020 तक 62,870 करोड़ रुपये की राशि के 70.32 लाख किसान क्रेडिट कार्ड स्वीकृत किए गए हैं

यूपी में शाम आठ बजे से रात 10 बजे तक ही पटाखे जलाने की अनुमति

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदूषण को देखते हुए पटाखे जलाने के लिए समय निर्धारित किया है. इसके तहत लोग शाम को केवल दो घंटे पटाखा जला पाएंगे. यह आदेश सुप्रीम कोर्ट के दिए गए आदेश के पालन के लिए दिया गया है. अफसरों के इसके लिए तैयारी करने को कहा गया है.  

यूपी में शाम आठ बजे से रात 10 बजे तक ही पटाखे जलाने की अनुमति

लखनऊः बढ़ते प्रदूषण और पर्यावरण को हो रहे नुकसान को देखते हुए योगी सरकार ने कड़ा फैसला लिया है. सरकार ने बुधवार को जारी एक एडवाइजरी में स्पष्ट कहा है कि दिवाली पर सिर्फ दो घंटे ही पटाखे जलाने की अनुमति है. इसके लिए समय सीमा भी निर्धारित की गई है. इसके अनुसार लोग शाम आठ बजे से रात 10 बजे तक ही पटाखे चला सकेंगे. 

उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने दिए गए निर्देश में सख्त लहजे में कहा है कि रात 10 बजे के बाद भी अगर पटाखे जलाए गए तो ऐसे लोगों पर कार्रवाई होगी. सरकार ने लोगों से यह भी अपील की है कि वह लाइसेंस वाली दुकानों से ही पटाखे खरीदें. योगी सराकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को ध्यान में रखते हुए बुधवार को यह नोटिफिकेशन जारी किया है, जिसमें दिवाली के दिन पटाखे जलाने का समय दो घंटे निर्धारित किया गया है।

 

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने प्रदूषण की बुरी स्थिति और पर्यावरण पर लगातार पड़ रहे बुरे असर को देखते हुए वर्ष 2018 में दिवाली पर पटाखे जलाए जाने के लिए समय निर्धारित किया था. सुप्रीम कोर्ट ने उसी दौरान शाम आठ से रात 10 बजे तक का समय पटाखे जलाने के लिए निर्धारित किया था. 10 बजे के बाद पटाखे जलाना प्रतिबंधित होगा। प्रदेश सरकार ने कहा है कि अधिकारियों को सुनिश्चित करना होगा सुप्रीम कोर्ट के इन आदेशों का उल्लंघन न हो पाए। कोर्ट ने 2017 में 2016 की तुलना में पटाखे बेचने के लिए केवल 20 प्रतिशत लाइसेंस जारी करने के आदेश दिए थे।

योगी ने जुआरियों पर प्रतिबंध लगाने को कहा था
तीन दिन पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने जुआरियों पर भी प्रतिबंध लगाने के आदेश दिए थे. उन्होंने प्रशासनिक अधिकारों को स्पष्ट आदेश दिए थे कि जुआ खेलने वाले या इनका आयोजन कराने वालों पर रासुका के तहत कार्रवाई की जाए. उन्होंने लखनऊ में अफसरों के साथ बैठक की थी और कहा था कि प्रशासन जहरीली शराब और मिलावटी खाद्य पदार्थों को बेचने वालों पर भी लगाम लगाए और इसके लिए अभी से तैयारी कर ले. इस दौरान भी उन्होंने लाइसेंस धारी पटाखा विक्रेताओं से ही पटाखे खरीदने की अपील की थी. 

जुए पर नियंत्रण से संबंधित खबर आप यहां पढ़ सकते हैं. 

https://zeenews.india.com/hindi/zee-hindustan/utility-news/cm-yogi-warne...