बिहार में भाजपा मंत्री के खिलाफ गैर-जमानती वारंट से गर्म हुआ माहौल

बिहार सरकार में भाजपा मंत्री को बड़ा झटका लगा  है. भाजपा के नेता लोक स्वस्थ्य अभियंत्रण विभाग के मंत्री विनोद नारायण झा नपने वाले हैं. मंगलवार को सूबे के मधुबनी कोर्ट में दाखिल मामले में गैर-जमानती वारंट जारी किया गया है. क्यों और किस मामले में यह भी बताते हैं.  

बिहार में भाजपा मंत्री के खिलाफ गैर-जमानती वारंट से गर्म हुआ माहौल

पटना:  बिहार सरकार में भाजपा मंत्री विनोद नारायण झा पर 2005 में विधानसभा चुनाव के दौरान आचार संहिता के उल्लंघन मामले में सुनवाई चल रही है. मामला मधुबनी की कोर्ट में चल रहा है और पंडौल सरसोपाही ओपी में दर्ज किया गया है. इस मामले में उच्च मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी राकेश कुमार तिवारी की अदालत ने स्वस्थ्य अभियंत्रण मंत्री को दोषी पाया और गैर-जमानती  वारंट जारी कर दिया. पीएचईडी मंत्री अब जेल की हवा खा सकते हैं. 

मंत्रीजी  ने न कोई साक्ष्य दिया न ही कोई पैरवी की

विनोद नारायण झा को पिछले दिनों कोर्ट में बयान के बाद कलमबंद किया गया था. कोर्ट ने उन्हें मुकदमे से जुड़े साक्ष्य पेश करने का निर्देश दिया था. सोमवार को सुनवाई के दौरान कुछ लिखित अभिलेख अदालत में पेश किए भी गए. लेकिन मंत्री विनोद नारायण झा ने न ही कोई साक्ष्य ही दिया और न ही कोई पैरवी की. इसके बाद अदालत ने गैर जमानती वारंट यानी जिस पर उन्हें बेल भी नहीं मिल सके, वह जारी कर दिया. 

तो ये है पूरा मामला

बताया गया कि 2005 के विधानसभा चुनाव में मंत्री विनोद नारायण झा भाजपा के प्रत्याशी थे. उसी दौरान चुनाव प्रचार करते हुए रामपुर गांव की धर्मस्थली पर पहुंचे थे. वहां जा कर उन्होंने कार्यक्रम के दौरान चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद उस जगह पर सांस्कृतिक मंच बनाने की  बात कही. हालांकि, इसके लिए उन्होंने कोई अनुमति नहीं ली. इसके बाद चुनावी सभा में मौजूद चौकीदार के बयान पर मंत्री जी पर आचार संहिता के उल्लंघन का मामला चलाया गया. और मंगलवार को उस मामले की सुनवाई हुई. 

प्रियंका गांधी पर विवादित बयान के बाद घिरे थे आलोचनाओं से 

मालूम हो कि विनोद नारायण झा ने पिछले दिनों कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पर भी विवादास्पद टिप्पणी की थी. जिसके बाद उनकी आलोचना  हो रही थी. उन्होंने कहा था कि सुंदर चेहरे से वोट नहीं मिलता. दरअसल, पूरा मामला एक टेलिविजन प्रोग्राम में पूछे गए सवाल के बाद शुरू हुआ. जब उनसे पूछा गया कि क्या वे प्रियंका गांधी की राजनीति में एंट्री को लेकर कुछ कहना चाहते हैं ? इस पर जवाब देते हुए मंत्री जी ने कहा कि प्रियंका गांधी राजनीति में नौसिखिया हैं. राजनीति की कोई जानकारी उन्हें नहीं. उन्हें बहुत कुछ सीखने की जरूरत है. कांग्रेस गफलत में है कि वह प्रियंका गांधी के सुंदर चेहरे पर वोट पा लेगी. इस बयान के बाद मंत्रीजी को कांग्रेस नेता और विपक्ष के नेताओं के अलावा अपनी ही पार्टी के नेताओं ने घेरना शुरू किया. 

विनोद नारायण झा बिहार के मिथिला क्षेत्र के रसूखदार नेताओं में गिने जाते हैं. बिहार भाजपा के लंबे समय से सदस्य भी रहे हैं. ऐसे में इस मामले के बाद पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती है.