जम्मू-कश्मीर के लिए क्या है केंद्र का प्लान? 24 जून को PM Modi करेंगे सर्वदलीय बैठक

जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक दलों का कहना है कि इस बैठक के जरिए केंद्र और राज्य के बीच संवाद शुरू होगा और बातचीत से ही आगे का रास्ता तय हो सकता है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jun 19, 2021, 06:28 PM IST
  • महबूबा मुफ्ती को मिला केंद्र की तरफ से बैठक का निमंत्रण
  • जम्मू-कश्मीर में राजनीतिक गतिविधियां हो सकती हैं तेज

ट्रेंडिंग तस्वीरें

जम्मू-कश्मीर के लिए क्या है केंद्र का प्लान? 24 जून को PM Modi करेंगे सर्वदलीय बैठक

नई दिल्ली: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 जून, 2021 को एक सर्वदलीय बैठक का आह्वान किया है. जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक दलों ने प्रधानमंत्री की इस पहल का स्वागत किया है. 

राजनीतिक दलों का कहना है कि इस बैठक के जरिए केंद्र और राज्य के बीच संवाद शुरू होगा और बातचीत से ही आगे का रास्ता तय हो सकता है.

जम्मू-कश्मीर में लंबे अरसे बाद कोई राजनीतिक प्रक्रिया शुरू हो रही है. प्रदेश में धारा 370 लगने के बाद से राष्ट्रपति शासन लागू है.

क्या बैठक में शामिल होंगी महबूबा मुफ्ती

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी ( पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को बैठक में शामिल होने के लिए केंद्र से फोन आया है. लेकिन अभी तक किसी भी अन्य पार्टी को आधिकारिक आमंत्रण नहीं भेजा गया है. पीडीपी ने बैठक पर विचार करने के लिए कल बैठक करने का फैसला किया है.

पीडीपी के मुख्य प्रवक्ता सुहैल बुखारी ने कहा, 'हमें कोई औपचारिक लिखित निमंत्रण नहीं मिला है, लेकिन पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को एक फोन आया है और उन्हें इस बैठक के बारे में सूचित किया गया है. हमने अब रविवार को पार्टी की बैठक बुलाई है, जिसकी अध्यक्षता महबूबा मुफ्ती करेंगी और बैठक में हर बात पर चर्चा होगी. हम इस बैठक में ही फैसला लेंगे कि पार्टी केंद्र द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में शामिल होगी या नहीं.' 

यह भी पढ़िए: केंद्र ने राज्यों को दिए पांच सूत्रीय निर्देश, Unlock करने से पहले सावधानी अपनाएं

अन्य पार्टियों को नहीं मिला है कोई औपचारिक निमंत्रण

भाजपा की राज्य शाखा सहित किसी भी राजनीतिक दल को अभी तक केंद्र से कोई औपचारिक निमंत्रण नहीं मिला है. लेकिन हर राजनीतिक दल प्रधानमंत्री मोई के इस कदम की सराहना की है.

अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेता रफी मीर ने कहा, 'हमें इसके लिए कोई औपचारिक निमंत्रण नहीं मिला है, लेकिन मुझे लगता है कि यह राजनीतिक दलों और जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए यह एक अच्छा अवसर होगा. चूंकि राजनीतिक प्रक्रिया में अड़चनें आती रही हैं और इस अवसर का उपयोग सभी को करना चाहिए. सभी को जाकर बोलना चाहिए.'

जबकि 'पीपुल्स अलायंस फॉर गुप्कर डिक्लेरेशन (PAGD)' कहे जाने वाले कश्मीर के राजनीतिक दलों के अलायंस ने अब तक कोई फैसला नहीं लिया है. लेकिन सभी पक्षों का कहना है कि जो कुछ भी अलायंस तय करेगा वह उनका फैसला होगा.'

पीपुल्स अलायंस फॉर गुप्कर डिक्लेरेशन (PAGD)के सदस्य और अवामी नैशनल पार्टी के नेता मुजफ्फर शाह ने इस मुद्दे पर कहा, 'हम भी सर्वदलीय बैठक के बारे में सुन रहे हैं, इस पर हमारी चर्चा होगी. हम एनसी नेता डॉ फारूक अब्दुल्ला की अध्यक्षता में मिलेंगे, तो इसे लेकर हामरे बीच बातचीत होगी. हम कहते रहे हैं कि हमें बैठकर बात करनी चाहिए. यदि पहल प्रधानमंत्री की ओर से हो रही है, तो मैं इसका स्वागत करता हूं. लेकिन अंतिम फैसला पार्टी अध्यक्ष और पीएजीडी नेतृत्व द्वारा लिया जाएगा.'

इस बीच सरकार ने महबूबा मुफ्ती के चाचा सरताज मदनी को नजरबंदी से रिहा कर दिया है. सरकार के इस कदम को बैठक को लेकर बहुत अहम् माना जा रहा है और यह भी कहा जा रहा है कि केंद्र ने बैठक को ध्यान में रखते हुए ही यह कदम उठाया है. 

केंद्र के इस कदम के बाद यह माना जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर में जल्द ही राजनीतिक गतिविधियां तेजी पकड़ेंगी. 

यह भी पढ़िए: यूपी में चेन स्नैचिंग पर 14 साल सजा की सिफारिश, योगी सरकार लेगी फैसला

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़