PM Modi: स्वास्थ्य क्षेत्र की बजट वेबिनार में बोले प्रधानमंत्री मोदी, जानिए सात बड़ी बातें

PM Modi ने स्वास्थ्य क्षेत्र की वेबिनार में कहा कि हम हर देशवासी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध हैं

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Feb 23, 2021, 05:00 PM IST
  • हर एक भारतीय को मिले स्वास्थ्य सुविधाएं
  • हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर की गुणवत्ता बढ़ाने का हो प्रयास
PM Modi: स्वास्थ्य क्षेत्र की बजट वेबिनार में बोले प्रधानमंत्री मोदी, जानिए सात बड़ी बातें

नई दिल्ली: स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग ने अपने बजट को लेकर मंगलवार को एक वेबिनार का आयोजन किया. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस कार्यक्रम में शिरकत की. 
उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि इस वर्ष के स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए जितना बजट आंवटित किया गया है, वह अभूतपूर्व है. 

PM Modi के संबोधन की सात बड़ी बातें

  • प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि हमें इस बात पर ध्यान देना है कि हम आने वाले समय किसी भी तरह की स्वास्थ्य आपदा के लिए तैयार रहें. इसके लिए हमें Ventilators से लेकर vaccines तक, Scientific research से लेकर surveillance infrastructure तक हर क्षेत्र में खुद को तैयार करना होगा.

  • भारत के स्वास्थ्य क्षेत्र ने कोरोना महामारी का जिस मजबूती से सामना किया है, उसे पूरे विश्व ने बहुत बारीकी से देखा है. आज विश्व भर के लोगों का भारत के स्वास्थ्य क्षेत्र पर भरोसा नए स्तर पर पहुंचा है, इससे स्वास्थ्य क्षेत्र में भारत की प्रतिष्ठा भी बढ़ी है. हम भारत के लोगों को स्वस्थ रखने के लिए सिर्फ बीमारियों का इलाज नहीं कर रहे, बल्कि हम लोगों के कल्याण पर भी ध्यान दे रहे हैं. 

यह भी पढ़िए: Bharuch: Gujarat के भरूच में केमिकल फैक्ट्री में भीषण ब्लास्ट के बाद लगी आग, कई लोग हादसे की चपेट में

  • हम देशवासियों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए चार मोर्चों पर काम कर रहे हैं. पहला बीमारियों का इलाज और लोगों का कल्याण, दूसरा गरीब वर्ग को सस्ता एवं प्रभावी इलाज उपलब्ध कराना, तीसरा अपने हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर की संख्या को बढ़ाना और उसकी गुणवत्ता को और बेहतर करना और चौथा स्वास्थ्य समस्याओं से निपटने के लिए मिशन मोड पर काम करना.  

  • हमने देश में टीबी की रोकथाम के लिए साल 2025 तक का लक्ष्य निर्धारित किया है. टीबी भी एक संक्रामक रोग है और इसकी रोकथाम के लिए भी हमें मास्क पहनने और तुरंत इलाज जैसे प्रभावी कदम उठाने होंगे. 

  • कोरोना काल में भारत सरकार की आयुष्मान भारत योजना के इंफ्रास्ट्रक्चर ने बेहतरीन काम किया. यह नेटवर्क कोरोना काल में Human research और Scientific research को लेकर भी मददगार साबित हुआ. 

  • भारत की दवाओं और वैक्सीन के साथ हमारी पारंपरिक दवाओं जैसे काढ़े ने भी कोरोना के इलाज में अहम भूमिका निभाई. कोरोना काल में हमारी पारंपरिक दवाओं ने विश्व स्तर पर ख्याति प्राप्त की.

  • हम स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में दूर-दराज के इलाकों में पहुंचने का प्रयास करेंगे, चाहें वहां सिर्फ एक ही भारतीय नागरिक रहता हो. हमें इसी दृष्टिकोण के साथ अपने स्वास्थ्य क्षेत्र को बेहतर बनाना है. 

यह भी पढ़िए: क्या है जिलेटिन स्टिक्स? जिसने एक महीने में दो बार कर्नाटक को दहलाया

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़