असम के कोकराझार में बोले पीएम मोदी, 'मुझ पर डंडों का असर नहीं'

नागरिकता संशोधन कानून लागू होने के बाद पहली बार प्रधानमंत्री मोदी असम में लोगों के बीच पहुंचे हैं. लहां पर उन्होंने राहुल गांधी के लाठीमार बयान पर तंज कसा है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Feb 7, 2020, 02:26 PM IST
    • पीएम मोदी बोले 'मुझ पर डंडों का असर नहीं'
    • असम के कोकराझार में बोले पीएम मोदी
    • राहुल पर कसा तंज
    • शहीदों को याद करने का दिन- मोदी
असम के कोकराझार में बोले पीएम मोदी, 'मुझ पर डंडों का असर नहीं'

दिसपुर: भारत सरकार और बोडो समुदाय के बीच हुए समझौते और CAA लागू होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पहली बार असम पहुंचे. कोकराझार में स्थानीय परंपरा के मुताबिक प्रधानमंत्री का स्वागत किया गया और समझौते के लिए धन्यवाद प्रस्ताव दिया गया. पीएम मोदी ने राहुल गांधी के बयान पर तंज कसते हुए कहा कि मुझे माताओं और बहनों के आशीर्वाद का सुरक्षा कवच मिला हुआ है. मुझ पर कितने भी डंडे पड़ें, पर मुझ पर कोई असर नहीं होगा.

 

राहुल पर कसा तंज

पीएम मोदी ने कहा ' कभी लोग मुझे डंडा मारने की बात करते हैं, लेकिन जिस मोदी को बड़ी मात्रा में माताओं और बहनों का आशीर्वाद का सुरक्षा कवच मिला है, उसे कुछ भी नहीं हो सकता'. पीएम मोदी ने जनसभा में लोगों से असम की शांति के लिये स्टैंडिंग ओवियेशन करवाया और तालियां बजवाईं. 

शहीदों को याद करने का दिन- मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि आज का दिन शहीदों को याद करने का है, जिन्होंने देश के लिए बलिदान का है. बोडो समझौते पर प्रधानमंत्री बोले कि आज का दिन स्थानीय लोगों के जश्न का है, क्योंकि समझौते से स्थाई शांति का रास्ता निकला है.  अब हिंसा के अंधकार को इस धरती पर लौटने नहीं देना है, अब किसी का खून नहीं गिरेगा. हिंसा को लेकर पीएम ने कहा कि दशकों तक यहां गोलियां चलती रहीं, लेकिन अब एक शांति का नया रास्ता खुला है. नॉर्थ ईस्ट में अब शांति का नया अध्याय जुड़ना ऐतिहासिक है.

सरकार ने किया ऐतिहासिक बोडो समझौता

पूर्वोत्तर में पिछले लंबे समय से जारी प्रतिबंधित संगठनों का संघर्ष अब थम गया. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में बोडो संगठनों का केंद्र-असम सरकार के साथ समझौता हुआ है. इसी के साथ इन संगठनों ने हिंसा का रास्ता छोड़ने की बात की और बोडोलैंड की मांग नहीं करने का दावा किया. ये भारत के लिये बड़ी सफलता है. 

ये भी पढ़ें- CAA लागू होने के बाद पहली बार असम जाएंगे पीएम मोदी

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़