देश की अर्थव्यवस्था के लिए अब छोटे शहरों पर ध्यान : पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि ऐसा पहली बार हो रहा है जब किसी सरकार ने आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए छोटे शहरों पर ध्यान केंद्रित किया है. हमारी सरकार देश की कर प्रणाली को ज्यादा नागरिक केंद्रित बना रही है..  

देश की अर्थव्यवस्था के लिए अब छोटे शहरों पर ध्यान : पीएम मोदी

नई दिल्ली. देश के लिये 5 बिलियन की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य लेकर चलने वाली भाजपा सरकार आर्थिक स्थिति की बेहतरी के लिए कृतसंकल्प है. अर्थ-व्यवस्था का एक प्रमुख आधार है टैक्सेशन उसी तरह है जिस तरह देश के निर्माण का एक प्रमुख कारक हैं देश के छोटे शहर. अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छोटे शहरों और टैक्सेशन को जोड़ कर अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में एक बड़ा सुधार करने की दिशा में कदम बढ़ा रहे हैं.

 

अधिक नागरिक केंद्रित अर्थव्यवस्था 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछली सरकारों ने देश की कर प्रणाली में किसी भी तरह के बदलाव से पूरा परहेज किया, लेकिन हमारी सरकार इसमें सुधार करने की दिशा में कदम बढ़ा रही है. हम चाहते हैं कि कर प्रणाली अधिक नागरिक केंद्रित बने ताकि देश का हर नागरिक देश के विकास के लिए अपना योगदान अपने कर की अदायगी के रूप में करे.

नागरिकों से कर अदायगी का अनुरोध 

नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री ही नहीं बल्कि देश के सबसे लोकप्रिय नेता भी हैं. उनके शब्दों का देश के नागरिक अनुसरण करते हैं. प्रधानमंत्री ने देश के नागरिकों से अनुरोध किया कि वे अपने कर के बकाये का भुगतान करें और देश के विकास में अपना योगदान अर्पित करें. 

 

कर चोरी से नुकसान ईमानदारों को होता है 

मीडिया से बात करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दुःख की बात है कि कुछ लोग हमेशा ही कर चोरी का रास्ता तलाश लेते हैं. इस कर चोरी का दुष्परिणाम ईमानदार लोगों को भुगतना पड़ता है. 

छोटे शहर हैं महत्वपूर्ण 

पीएम मोदी ने कहा कि अब हमें छोटे शहरों की तरफ ध्यान देना होगा जो कि अभी तक कभी नहीं हुआ था. पहली बार कोई सरकार आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए छोटे शहरों पर ध्यान केंद्रित कर रही है. उन्होंने कहा इस तरह सारे देश के योगदान को प्राप्त कर केंद्रीय बजट पांच लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को हासिल करने  की दिशा में आगे बढ़ सकेगा. उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा कि देश में केवल सवा दो हज़ार लोगों ने ही अपनी आय एक करोड़ रुपये सालाना घोषित की है.  

ये भी पढ़ें. 3 साल के शाहिद की कमाल की बैटिंग देखकर हैरान हुए स्टीव वॉ